पांच डिग्री तापमान में नौकरी के लिए रात भर खुले में बैठे बेरोजगार

पांच डिग्री तापमान में नौकरी के लिए रात भर खुले में बैठे बेरोजगार

टीईटी पास बेरोजगार बीएड अध्यापक यूनियन आल पंजाब यूनियन ने किया प्रदर्शन।

Publish Date:Fri, 01 Jan 2021 06:16 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सहयोगी, संगरूर

टीईटी पास बेरोजगार बीएड अध्यापक यूनियन, आल पंजाब 873 डीपीआइ अध्यापक यूनियन, 646 पीटीआई अध्यापक यूनियन पंजाब, बेरोजगार आर्ट एंड क्राफ्ट यूनियन पंजाब व बेरोजगार मल्टीपरपज हेल्थ वर्कर यूनियन द्वारा गठित बेरोजगार सांझा मोर्चा ने शिक्षा मंत्री विजयइंद्र सिगला के आवास का दूसरे दिन भी घेराव जारी रखा गया। यूनियन के सदस्यों ने सरकार व शिक्षा मंत्री के खिलाफ नारेबाजी कर अपना रोष जताया। कड़कती ठंड के बीच ही बेरोजगार अध्यापकों ने दिन रात पक्का मोर्चा आरंभ कर दिया है। शिक्षामंत्री को कोठी के गेट समक्ष अध्यापकों ने अपने तंबू लगा लिए हैं।

बेरोजगार सांझा मोर्चा में शामिल 873 डीपीई के प्रांतीय प्रधान जगसीर सिंह ने कहा कि बेरोजगार डीपीई अध्यापकों की 873 पद में 1000 पदों की बढ़ोतरी की जाए। अध्यापक यूनियन के प्रांतीय प्रधान सुखविदर सिंह ढिलवा ने कहा कि पंजाब सरकार मास्टर केडर का पंजाबी (62), हिदी (52) व अंग्रेजी का पेपर पिछले दिन ले चुकी है। काडर के 3282 पद तहत सामाजिक शिक्षा की 54, पंजाबी की 62 व हिदी के महज 52 पद ही निकाले गए हैं। जबकि इन विषयों के करीब 30 से 35 हजार उम्मीदवार टीईटी पास हैं। इन पदों में बढ़ोतरी करने, बाकी विषयों के पदों को विज्ञापन जारी करने व आयु सीमा 37 वर्ष से 42 वर्ष करने की पंजाब सरकार से मांग की गई। बेरोजगार अध्यापकों ने मांग की कि पंजाब सरकार शिक्षा प्रोवाइडरों को बिना शर्त रेगुलर करे व नए पदों में शिक्षा प्रोवाइडरों को विशेष छूट देकर उच्च योग्यता प्राप्त उम्मीदवारों को नजर अंदाज न करें।

बेरोजगार पीटीई अध्यापक यूनियन के प्रांतीय प्रधान कृष्ण नाभा ने कहा कि पीटीआई 646 अध्यापकों के लिए नोटीफिकेशन के अनुसार निरोल मेरिट के आधार पर भर्ती किया जाए। यूनियन के प्रधान हरजिदर सिंह झुनीर ने कहा कि आयु सीमा में छूट देकर 5000 आर्ट एंड क्राफ्ट के अध्यापकों की भर्ती की जाए। आर्ट एंड क्राफ्ट विषय को जरूरी विषय के तौर पर पढ़ाया जाए। हैल्थ वर्करों की चल रही भर्ती प्रक्रिया को पूरा किया जाए व रिक्त पदों का विज्ञापन जारी किया जाए। मौके पर सभी प्रदर्शनकारियों ने किसानी संघर्ष का समर्थन किया। इस मौके अमन सेखा, गुरप्रीत सिंह सरां, किरनजीत कौर, संदीप कौर, अशोक कुमार, गुरप्रीत खन्ना, सहित बलवीर चंद लोंगोवाल, सुरजीत सिंह भट्ठल, स्वर्णजीत सिंह, गुरविदर सिंह, जीवनजोत कौर, संदीप कौर सहित अन्य उपस्थित थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.