सफाई सेवकों ने फूंका सरकार का पुतला, सरकार के अत्याचार का फोड़ा घड़ा

13 मई से लगातार अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चल रहे सफाई सेवकों की हड़ताल 34वें दिन भी जारी रही।

JagranTue, 15 Jun 2021 06:28 PM (IST)
सफाई सेवकों ने फूंका सरकार का पुतला, सरकार के अत्याचार का फोड़ा घड़ा

जागरण टीम, संगरूर

13 मई से लगातार अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चल रहे सफाई सेवकों की हड़ताल 34वें दिन भी जारी रही। संगरूर नगर कौंसिल के दफ्तर में सफाई सेवकों ने धरना लगाकर सरकार के खिलाफ रोष जाहिर किया। साथ ही एलान किया कि 22 जून को पटियाला में मोती महल का घेराव किया जाएगा।

जिला प्रधान भारत बेदी ने कहा कि सरकार उनकी मांगों को अनदेखा कर रही है, जिसे किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। महीना भर हड़ताल जारी रहने के बाद भी सरकार उनकी मांगों को गंभीरता से नहीं ले रही है। सरकार के इस रवैये खिलाफ हड़ताल जारी रखी जाएगी। जब तक उरकी मांगें पूरी नहीं की जाएगी, तब तक संघर्ष जारी रखा जाएगा। उधर, भवानीगढ़ में अपनी मांगों को लेकर लगातार हड़ताल पर चल रहे सफाई कर्मचारियों के समर्थन में मंगलवार को बसपा के नेताओं द्वारा शिरकत की गई। सफाई कर्मचारियों द्वारा शहर में अर्थी फूंक रोष प्रदर्शन किया गया। इस दौरान नए बस स्टैंड, पुरानी ट्रक यूनियन, शहीद भगत सिंह चौक व मेन बाजार से होते हुए बलियाल रोड भवानीगढ नेश्नल हाइवे पर जाकर पंजाब सरकार व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर सिंह की अर्थी फूंकी गई। सरकार के अत्याचार का मटका तोड़ते हुए कर्मचारियों ने कहा कि यदि सरकार ने उनकी मांगे न मानीं तो आने वाले विधान सभा चुनाव में इसका परिणाम भुगतना होगा। इस मौके रण सिंह महिला हंसराज शहरी प्रधान बहुजन समाज पार्टी, पृथि सिंह, जोगिदर सिंह, लाभ सिंह, जगमेल सिंह, काका सिंह, वीरपाल कौर, गुरमेल सिंह, शमशेर सिंह, गुरदीप सिंह, गीता रानी, चरनजीत कौर आदि उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.