किसानों के समर्थन में सड़कों पर उतरी आप

किसानों के समर्थन में सड़कों पर उतरी आप
Publish Date:Thu, 24 Sep 2020 10:38 PM (IST) Author: Jagran

जागरण टीम, संगरूर :

केंद्र में कृषि विधेयक पास होते ही किसानों-मजदूरों के साथ ही राजनीतिक पार्टियां भी विरोध जताते हुए सड़कों पर उतर आई हैं। वीरवार को आम आदमी पार्टी ने जिले भर से सात विधानसभा हलकों में केंद्र सरकार के खिलाफ रोष जाहिर करते हुए विभिन्न जगहों पर धरना प्रदर्शन किया। संगरूर में आम आदमी पार्टी हलका संगरूर की समूह टीम व वर्करों ने किसानों के संघर्ष का समर्थन करते हुए शहीद भगत सिंह चौंक में केंद्र खिलाफ धरना लगाकर नारेबाजी की। प्रदर्शन में विशेष तौर पर विरोधी पक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमां ने शिरकत की। इस अवसर पर पार्टी के हलका नेता नरिदर कौर भराज ने कहा कि यह कृषि विधेयक किसान, मजदूर, आढ़ती, शैलर मालिक सभी के लिए खतरनाक साबित होंगे, क्योंकि यह विधेयक पंजाब को पूजीपतियों के हाथ में सौंपने की योजनाबंदी है।

उधर, सुनाम में विधायक अमन अरोड़ा ने केन्द्र सरकार के किसान, व्यापारी व मजदूर विरोधी कानूनों के खिलाफ स्थानीय नई अनाज मंडी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला एक ट्रैक्टर के पीछे बांधकर बाजारों में से मार्च करते हुए श्मशानघाट के समक्ष लाया गया। पहले भी आम आदमी पार्टी हर स्तर पर इन विधेयकों के खिलाफ विरोध प्रकट करती रही है व अब भी डटकर इसका सख्त विरोध करेगी। अमरगढ़ में खेती विधेयकों के खिलाफ आप नेता नवजोत सिंह, सतवीर सिंह व जसवंत सिंह गज्जणमाजरा के नेतृत्व में प्रधानमंत्री का पुतला फूंककर नारेबाजी की गई। साथ ही शुक्रवार को पंजाब बंद में किसान, आढ़ती, दुकानदार, नौजवान व प्रत्येक वर्ग भाइचारे के लोग बड़ी संख्या में शिरकत करने का आह्वान किया।

उधर, दिड़बा में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने विरोधी पक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा के नेतृत्व में प्रधानमंत्री मोदी, मुख्यमंत्री अमरिदर सिंह, शिअद प्रधान सुखबीर बादल व हरसिमरत कौर बादल के पुतले फूंककर नारेबाजी की गई। पार्टी वर्करों द्वारा शहर से चक्कर लगाते हुए मुख्य चौक में केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। चीमां ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा पास किए कृषि विधेयक किसी के हित में नहीं हैं। विधेयकों के लागू होने से किसान कंगाल हो जाएगा। इस मौके पर जसवीर कौर शेरगिल, परमजीत सिंह, सरपंच हरप्रीत पीतू, तपिदर सोही, नाजम सिंह, हरविदर सिंह, गुरजिदर सिंह, काला कैंपर, अवतार पूनीया, गुरजीत सिंह आदि उपस्थित थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.