top menutop menutop menu

यूवी सेफ यंत्र हर जगह को करेगा वायरस मुक्त

यूवी सेफ यंत्र हर जगह को करेगा वायरस मुक्त
Publish Date:Thu, 13 Aug 2020 07:58 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सहयोगी, रूपनगर :

आइआइटी रोपड़ के शोधकर्ताओं ने एक विलक्षण यूवीजीआइ आधारित चेंबर कीटाणुनाशक यंत्र यूवी सेफ ईजाद किया है, जिसे अलट्रा वायलेट कीटाणुनाशक किरणों से हर प्रकार के वायरसों और बैक्टीरिया को मारने में सक्षम पाया गया है। इसकी खासियत है कि यंत्र हानिकारक रेडिएशन नहीं छोड़ेगा और सुरक्षित है। इस यंत्र को एफआइसीसीआइ रिसर्च एंड एनालिसिस सेंटर (एनएबीएल) मान्यता प्राप्त प्रयोगशाला, नई दिल्ली) द्वारा टेस्ट भी किया गया है।

आइआइटी के निदेशक प्रोफेसर सरित कुमार दास ने बताया कि कोविड-19 वायरस अकसर छूने वाली वस्तुओं या दूषित वातावरण के माध्यम से फैलता है। दफ्तरों और अन्य स्थलों पर रसायनों का किया जाने वाला स्प्रे हर किसी के स्वास्थ्य के लिए खतरनाक है क्योंकि उसका प्रभाव लंबे समय तक रहता है। यूवी सेफ यंत्र (कीटाणुनाशक) एक रसायनिक मुक्त विधि है जिसमें कोई जहरीले प्रभाव नहीं होते। मोमैंटम इंडिया प्राईवेट लिमिटेड के संस्थापक एवं सीईओ रोहन ओबराय ने कहा कि आइआइटी रूपनगर के साथ हाथ मिलाकर एक असली भारतीय उत्पाद को विकसित किया है। जिसका डिजाइन, इंजीनियरिग और निर्माण भारत में किया गया है।

बाक्स

इन शोधकर्ताओं ने बनाया यंत्र

मोमैंटम इंडिया प्राइवेट लिमटिड के सहयोग से आइआइटी के शोधकर्ताओं द्वारा यूवीजीआई आधारित चेंबर कीटाणुनाशक यंत्र आइआइटी मैटलर्जीकल और मैटीरियल इंजीनियरिग विभाग के सहायक प्रोफेसर डॉ. खुशबू राखा सहित सीनियर वैज्ञानिक अधिकारी डॉ. नरेश राखा द्वारा डॉ. शाहरार रजा (डिजाइन सलाहकार) की तकनीकी सहायता के साथ यंत्र को ईजाद किया गया है। इस टीम ने प्रोफेसर हरप्रीत सिंह (डीन, आइसीएसआर) और प्रोफेसर सरित कुमार दास (डायरेक्टर, आइआइटी रूपनगर) के कुशल नेतृत्व में काम किया है।

बाक्स

स्वदेशी है और रिमोट कंट्रोल है यंत्र

प्रो. दास के अनुसार यह यंत्र पूरी तरह स्वदेशी व रिमोट कंट्रोल हैं। इसके प्रमुख हिस्से एवं मुड़ने योग्य ढांचे के कारण यह यंत्र जीरो-शैडो तकनीक के अंतर्गत हरेक दिशा को कीटाणु रहित करता है। खास तौर पर डिजाइन किए विग्ज सबसे अधिक बार छुए जाने वाली वस्तुओं जैसे दरवाजे, टेबल टॉप, कफबोर्ड, दीवार के कोनों, फर्नीचर व उनके अतिरिक्त अलग-अलग हिस्सों को विशेष तौर पर केंद्रित किरणों के द्वारा कीटाणु मुक्त करते हैं। इस पर ट्राइपजाइड अकारनुमा आधार में टूल्ज कंट्रोल पैनल मौजूद होता है। इस विलक्षण और कुशल डिजाइन को पेटैंट भी करवा लिया गया है। एक्सपोजर का समय गणित के माडल के आधार पर संस्थान में विकसित किए साफ्टवेयर का प्रयोग कर निर्धारित किया जा सकता है। यह उपकरण 99.99 प्रतिशित तक के कीटाणु रहित के स्तर को प्राप्त कर सकता है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.