top menutop menutop menu

खाली बाल्टियां ले सड़कों पर उतरे लोग, अकालियों ने किया ईओ दफ्तर का घेराव

खाली बाल्टियां ले सड़कों पर उतरे लोग, अकालियों ने किया ईओ दफ्तर का घेराव
Publish Date:Tue, 11 Aug 2020 10:02 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, रूपनगर : शहर में अगस्त माह में गर्मी के बीच नहर के पुल पर पाइप का हिस्सा बदलने की प्रक्रिया शहरवासियों को रास नहीं आ रही। बिगड़ी पेयजल व्यवस्था के विरोध न सिर्फ पब्लिक सड़कों पर उतरने लगी है बल्कि अकाली दल के नेताओं ने भी मंगलवार को नगर कौंसिल में ईओ दफ्तर के आगे दरी बिछाकर रोष प्रदर्शन किया। उधर, कल्याण थिएटर के निकट आबादी के लोगों ने खाली बाल्टियां और बर्तन लेकर रोष प्रदर्शन किया और आधा घंटा धरना दिया।

धरना दे रहे समाजसेवी गुरविदर सिह जग्गी, जीवन शर्मा, अवतार सिंह, प्रकाश यादव, रजिदर कौर, हरबंसजीत कौर , मनजीत कौर, प्रमोद धाम, संजीव सैनी, सड़क पर पेयजल की किल्लत के विरोध में ट्रैफिक जाम करके रोष जताया। उन्होंने कहा कि नगर कौंसिल अगर उन्हें पानी नहीं दे सकती तो बिल क्यों भेजे जा रहे हैं। गुरविदर सिंह जग्गी ने कहा कि नगर कौंसिल में जब इस बारे में संपर्क किया जाता है तो अधिकारी एक दूसरे के नाम लेकर बात करने को कह देते हैं। जिम्मेदारी किसी की नहीं है। शहर त्राहि त्राहि कर रहा है।

बाक्स अकालियों ने घेरा कौंसिल दफ्तर

नगर कौंसिल में ईओ दफ्तर के बाहर अकाली दल के पूर्व पार्षदों व नेताओं ने रोष जताते हुए कहा कि दो दिन पानी बंद करने का वादा करके पांच दिन से शहर में पीने के पानी की व्यवस्था सुचारू नहीं हो पाई है। शहर के लोग कहां जाएं। पीने के पानी की किल्लत को दूर करने के लिए टैंकर भेजने का नगर कौंसिल प्रबंधन दावा कर रहा है लेकिन 56 हजार से ज्यादा आबादी वाले शहर में क्या पूरे शहर को टैंकर कवर करवाएंगे। इस मौके पर अकाली दल के पूर्व नगर कौंसिल प्रधान परमजीत सिंह माक्कड़ की अगुवाई में पूर्व पार्षद गुरमुख सैनी, हरजीत कौर, कुलवंत सिंह सैनी, वेद प्रकाश चौधरी, आरपी सिंह शैली, बलजिदर सिंह मिट्ठू, मनजिदर सिंह धनोआ, संतोख वालिया आदि ने हाथों में तख्तियां पकड़ी हुई थीं, जिन पर लिखा था पानी की सप्लाई चालू करो, लोकां नाल धक्का बंद करो, पंजाब सरकार मुरदाबाद। प्रदर्शनकारी ईओ के दफ्तर में आने के बाद भी धरने पर करीब एक घंटा डटे रहे।

बाक्स

ये है माजरा

नगर कौंसिल के कार्यसाधक अधिकारी भजन चंद ने शहरवासियों को सूचित किया था कि सरहिद नहर पर भाखड़ा नहर से आती मेन पाइप लाइन का हिस्सा बदलने के लिए सीवरेज एवं वाटर सप्लाई विभाग ने दो दिन सात व आठ अगस्त को सप्लाई बंद रखी जाएगी। इसलिए दो दिन शहरवासी पानी की पूर्व व्यवस्था करके रखें। लेकिन पानी की मेन पाइप लाइन का हिस्सा नौ अगस्त रात को जोड़ा जा सका। उसके बाद दस अगस्त को सुबह पानी की सप्लाई चालू हो पाई। एक दिन सप्लाई व्यवस्था सुचारू होने में लगा और अगले ही दिन 11 अगस्त की सुबह भाखड़ा नहर के साइफन ने हवा ले ली और सप्लाई बंद हो गई। सीवरेज एवं वाटर सप्लाई विभाग के एक्सईएन राहुल कौशल, एसडीओ अरविद मेहता, नगर कौंसिल के एएमई कुलदीप अग्रवाल और एसओ एडी शर्मा सुबह मौके पर गए और साइफन और वर्टिकल शाफ्ट का मुआयना किया। साइफन को चालू करने के बाद दोपहर बाद से सप्लाई सुचारू हो पाई है। लेकिन अहम बात ये है कि सरहिद नहर के पुल पर डाली गई पाइप लाइन पहली पाइप लाइन से चौड़ी है और उसमें हवा भरने से जोड़ लीक हो रहे हैं। अब विभाग ने एयर वाल लगने का फैसला किया है।

बाक्स

माक्कड़ तो स्थिति से वाकिफ हैं, सहयोग दें, धरने नहीं: भजन चंद

नगर कौंसिल के कार्यसाधक अधिकारी भजन चंद ने कहा कि पाइप लाइन सीवरेज विभाग बदल रहा है। कौंसिल ने तो केवल फंड दिए हैं। ऐसे में कौंसिल को सीधे रूप में जिम्मेदार ठहराना सही नहीं है। जो अकाली दल के पूर्व नगर कौंसिल प्रधान परमजीत सिंह माक्कड़ धरना दे रहे हैं वो पूरी स्थिति से वाकिफ हैं। उन्हें तो इसमें सहयोग देना चाहिए। न कि विरोध करना चाहिए।

बाक्स

वर्टिकल शाफ्ट जोड़ी, आज एक इंच बढ़ा पानी: एसडीओ मेहता

इधर, सीवरेज एवं वाटर सप्लाई विभाग के दावे के मुताबिक वर्टिकल शाफ्ट को मेन सप्लाई लाइन से नई पाइप का हिस्सा डालने के बाद जोड़ दिया गया है। पानी की सप्लाई एक इंच बढी है। बाकी बुधवार सुबह तक स्पष्ट हो जाएगा कि साइफन वर्टिकल शाफ्ट से कितना पानी बढ़ा है।

बाक्स

आठ माह में भी पूरा नहीं हुआ काम : माक्कड़

नगर कौंसिल रूपनगर के पूर्व प्रधान परमजीत सिंह माक्कड़ ने कहा कि 23.51 लाख रुपये की लागत से नई पाइप लाइन डालने का प्रस्ताव हमारी कौंसिल ने 2019 में डाला था। लेकिन कांग्रेस सरकार ने आठ माह ये प्रस्ताव रोके रखा। अगस्त 2019 में अकाली दल के धरनों के बाद प्रस्ताव पारित करके आगे भेजा। नगर कौंसिल ने जनवरी में सीवरेज व वाटर सप्लाई विभाग को दस लाख रुपये पेशगी भी दी। लेकिन आठ माह बीतने के बावूजद पाइपें पूरी तरह काम शुरू नहीं कर पाई।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.