खाली पदों पर जल्द नई भर्ती करे बीबीएमबी

खाली पदों पर जल्द नई भर्ती करे बीबीएमबी
Publish Date:Fri, 30 Oct 2020 05:27 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, नंगल: भाखड़ा ब्यास प्रबंध बोर्ड इरीगेशन विंग के मान्यता प्राप्त कर्मचारी संगठन नंगल भाखड़ा मजदूर संघ इंटक व साझा मोर्चा ने विभिन्न मागों को लेकर भाखड़ा बाध के चीफ इंजीनियर कमलजीत सिंह से बैठक की। इंटक के प्रधान सतनाम सिंह लादी, कनवीनर नरेश रेड, कार्यकारी प्रधान विनोद राणा तथा जिला इंटक के प्रधान इकबाल सिंह मिनहास, नवीन चंद्र शर्मा ने बीबीएमबी से जल्द बोर्ड में अपने कोटे के खाली पड़े पदों को स्थानीय रोजगार दफ्तर या विभागीय कमेटी के माध्यम से भरने की मांग की। इसके अलावा कर्मचारियों की पदोन्नति के लिए पदोन्नति पालिसी को आसान बनाकर पदोन्नतियों का लाभ देना, बीबीएमबी अस्पताल की चिकित्सा व्यवस्था में सुधार लाकर इमरजेंसी सेवा को बेहतर बनाना तथा डाक्टरों की कमी को पूरा करने के साथ-साथ दवाइयों की पर्याप्त मात्रा उपलब्ध करवाने की भी माग की गई। इसके अलावा नंगल में विवाह शादियों के लिए आडिटोरियम बनाना, खाली पड़े मकानों को विभाग से रिटायर हुए कर्मचारियों को लीज पर देने , कांट्रैक्ट पर काम कर रहे सभी कर्मचारियों को डेलीवेज की तरह लगातार काम देने की भी बीबीएमबी से मांग की गई। वहीं खत्म किए गए विभिन्न पदों को दोबारा सृजित करना, ड्राइवरों की पदोन्नति, खस्ता हालत वाहनों की हालत सुधारना, तरस के आधार पर नौकरी से वंचित मृतक कर्मचारियों के परिजनों को भी नौकरी देने सहित डिप्लोमा होल्डर कर्मचारियों को जेई की पदोन्नति देने के साथ-साथ रिजर्वेशन पालिसी को लागू करवाने की माग उठाई गई है। इंटक अध्यक्ष ने बताया कि फील्ड शिफ्ट में काम कर रहे कर्मचारियों को ओवरटाइम सही समय पर देना आदि मागों के प्रति प्रबंधन ने सकारात्मक कार्रवाई का भरोसा दिलाया है। बैठक में बीबीएमबी के अधिकारी हुसन लाल कंबोज, एसके बेदी, सीपी सिंह, अरविंद शर्मा, केके कचोरिया, चौधरी गुरबख्श सिंह, पीएमओ डा. शालिनी चौधरी, साझा मोर्चा के हरपाल सिंह राणा, मनोज भल्ला, कुलदीप सिंह, रहमत अली, मनोज वर्मा व अशोक अंगरीश आदि भी मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.