इलाज करवाने पहुंचा मरीज, डाक्टर को आईलवयू का करने लगा मैसेज, केस दर्ज

राजिदरा अस्पताल में तैनात एक डाक्टर के पास इलाज करवाने पहुंचा मरीज फोन पर लव यू के मैसेज भेजने लगा।

JagranPublish:Sun, 01 Aug 2021 05:30 AM (IST) Updated:Sun, 01 Aug 2021 05:30 AM (IST)
इलाज करवाने पहुंचा मरीज, डाक्टर को आईलवयू का करने लगा मैसेज, केस दर्ज
इलाज करवाने पहुंचा मरीज, डाक्टर को आईलवयू का करने लगा मैसेज, केस दर्ज

जागरण संवाददाता, पटियाला

राजिदरा अस्पताल में तैनात एक डाक्टर के पास इलाज करवाने पहुंचा मरीज फोन पर लव यू के मैसेज भेजने लगा। आरोपित की इन हरकतों से परेशान होकर डाक्टर के परिवार वालों ने युवक को चेतावनी दी, लेकिन सुधरने के बजाय जान से मारने की धमकियां देने लगा। इससे परेशान होकर महिला डाक्टर ने थाना सिविल लाइन पुलिस को शिकायत कर दी। पुलिस ने आरोपी युवक सोनू निवासी गांव तलवाड़ा मंडी गोबिदगढ़, जिला फतेहगढ़ साहिब के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। थाना इंचार्ज ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि आरोपित को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी शुरू कर दी है

यह है पूरा मामला

घटना के अनुसार आरोपी युवक महिला डाक्टर के पास इलाज के लिए आया था। महिला डाक्टर मेडिसन की है। इलाज के दौरान मरीज ने ज्यादा दिक्कत होने पर फोन पर एक दो बार परामर्श लिया था। मोबाइल नंबर पहुंचने के बाद आरोपित मोबाइल पर लव यू के मैसेज भेजने लगा और देर रात तक कई बार फोन की। पहले तो महिला डाक्टर ने अपने स्तर पर आरोपित युवक को समझाने की कोशिश की लेकिन नहीं माना। बावजूद इसके आरोपित सुधरने के बजाय डाक्टर को रात को फोन करके धमकियां देनी शुरू कर दी और कहने लगा उससे दोस्ती कर ले क्योंकि वह प्यार में पागल हो चुका है। इधर, मीडिया कर्मी से मारपीट के आरोप में डाक्टर व उसके

सिटी पुलिस ने मीडिया कर्मी से मारपीट के आरोप में डाक्टर के अलावा उसके पिता के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। पुलिस के पास दर्ज करवाई रिपोर्ट में शिकायतकर्ता गुरविद्रपाल सिंह ने बताया कि जुलाई महीने में अजीत प्रसाद जैन अस्पताल में दाखिल अपने भाई हरविद्रपाल सिंह का हालचाल पूछने गया, इतने में देखा कि एसएमओ कार्यालय में डा. सिकदर सिंह एसएमओ और डाक्टर खोसा से बहस कर रहे थे। बहस करते देख गुरविद्रपाल सिंह ने वीडियो बनानी शुरू कर दी, लेकिन एसएमओ के कहने पर वीडियो बनानी बंद कर दी, इसके बाद शिकायतकर्ता अपने भाई के पास आ गया। गुरपिद्रपाल सिंह का कहना है रात को घर वापिस जाने के लिए अस्पताल से बाहर निकल रहा था कि डा. सिकंदर सिंह ने घेरकर मारपीट की और कार में रखा चाकू निकाल कर ले आया। पंरतु डाक्टर सिकदर को अस्पताल के स्टाफ ने पकड़ लिया, लेकिन इसी बीच चाकू डाक्टर को लगने से खून निकलने लगा, इतने में डा. सिकदर सिंह का पिता भी वहां पर पहुंचकर कर मीडिया कर्मी से हाथापाई करने लगे।