पीयू के टीचिग स्टाफ ने वेतन न मिलने के विरोध में क्लासों का किया बायकाट

पीयू के टीचिग स्टाफ ने वेतन न मिलने के विरोध में क्लासों का किया बायकाट

पंजाबी यूनिवर्सिटी द्वारा अपने स्टाफ को दिसंबर महीने की वेतन जारी न करने के विरोध में टीचिग स्टाफ ने बुधवार को क्लासों का पूर्ण तौर पर बायकाट कर दिया

Publish Date:Wed, 27 Jan 2021 11:20 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता:पटियाला

पंजाबी यूनिवर्सिटी द्वारा अपने स्टाफ को दिसंबर महीने की वेतन जारी न करने के विरोध में टीचिग स्टाफ ने बुधवार को क्लासों का पूर्ण तौर पर बायकाट कर दिया। टीचिग स्टाफ का कहना है कि जब तक उन्हें वेतन जारी नहीं की जाएगी, तक वह क्लासों का बायकाट रखेंगे। इस दौरान पंजाबी यूनिवर्सिटी टीचर्स एसोसेएशन के सदस्यों ने सुबह ही पीयू कैंपस में स्थित विभागों का दौरान करना शुरू कर दिया। इस दौरान जो भी टीचर्स या फिर कोई रिसर्च स्कालर स्टूडेंट्स की क्लास लेता देखा गया, को क्लास बंद करवा संघर्ष में शामिल होने के लिए कहा गया। एसोसिएशन का फैसला है कि वीरवार वाले दिन कोई भी प्रोफेसर क्लास नहीं लेगा। ---वेतन तो मिला नहीं, तो काम कैसे करें

एसोसिएशन प्रधान डा.निशान सिंह दयोल ने कहा कि जनवरी महीना खत्म होने को आ गया है तो यूनिवर्सिटी ने अब तक दिसंबर महीने की वेतन तक जारी नहीं की। रजिस्ट्रार से बात की तो उनका कहना है कि फिलहाल वेतन संबंधी कोई जानकारी नहीं है। यूनिवर्सिटी की ऐसी हालत पिछले समय में कभी नहीं देखी। उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटी का वित्तीय संकट काफी गंभीर हो चुका है। अब उस समय तक एसोसिएशन का संघर्ष जारी रहेगा, जब तक यूनिवर्सिटी अपने स्टाफ को सैलरी जारी नहीं करती।

वन विभाग कर्मियों का धरना जारी

पटियाला: वन विभाग के कर्मियों का धरना हरचरण सिंह, हरजिदर सिंह खनौरी, दक्षिण अध्यक्ष बलवीर सिंह मंडोली और जिला अध्यक्ष वीरपाल बामना की देखरेख में धरना जारी है। मांगों को लागू करने के लिए संगठन के नेताओं को मिनी सचिवालय कार्यालय में मांगों के बारे में बातचीत के लिए बुलाया था, लेकिन मीटिग न होनेसे उन्होंने आफिस के बाहर प्रदर्शन किया। इस दौरान अमरजीत सिंह बुग्गा, जगतार सिंह नाभा, कश्मीर सिंह, सतनाम सोकलपुर, गुरबचन सिंह, सुजीत सिंह, बलविदर सिंह मुंगो, सुरिदर पंजोला, बलवीर सिंह जबलपुर, दुर्गा वती, सत्या देवी, रेखा रानी, हरजीत कौर, सरबजीत कौर, सुनीता राही, बलजीत कौर उपस्थित थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.