दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

तजुर्बे को मिली तरजीह,नए चेहरों भी जताया विश्वास

तजुर्बे को मिली तरजीह,नए चेहरों भी जताया विश्वास

नगर कौंसिल चुनाव में मतदाताओं ने अपने प्रतिनिधि चुनने के लिए मिला-जुला रुझान पेश किया।

JagranFri, 19 Feb 2021 08:36 AM (IST)

जेएनएन, पटियाला : नगर कौंसिल चुनाव में मतदाताओं ने अपने प्रतिनिधि चुनने के लिए मिला-जुला रुझान पेश किया। राजपुरा, समाना, नाभा और पातड़ां में हुए इस चुनाव में जहां बड़ी संख्या में 40 साल तक की आयु वाले युवाओं को मौका मिला वहीं 40 से ज्यादा आयु वालों को भी विकास का जिम्मा सौंपा। समाना यहां सबसे आगे रहा। यहां कुल 21 विजेता उम्मीदवारों में से 15 विजेता उम्मीदवार 40 साल से भी कम आयु वाले रहे। उधर, राजपुरा, नाभा और पातड़ां में इस बारे मिला जुला रुझान सामने आया। नाभा के कुल 23 कौंसलरों में से 40 साल की आयु वाले छह पार्षद हैं जबकि बाकी 40 से 60 साल वाले हैं। राजपुरा के कुल 31 नए पार्षदों में से 40 साल वाले नौ विजेता उम्मीदवार हैं जबकि बाकी 22 की आयु 40 साल से ज्यादा वाले हैं।

राजपुरा नगर कौंसिल चुनाव में जहां यूथ के नौ उम्मीदवारों ने जीत प्राप्त की वहीं 65 वर्ष से ज्यादा पांच उम्मीदवारों ने चुनाव जीतकर नौजवानों को चित किया। नगर कौंसिल चुनाव में 25 से 40 वर्ष तक के विजेता शुभप्रीत कौर, हरप्रीत सिंह दुआ, मनीश मुंजाल, राजेश कुमार, एडवोकेट रविदर सिंह, बलजिदर कौर, जगनंदन गुप्ता, दलबीर सिंह व मनदीप राणा हैं जबकि 40 से 60 वर्ष तक के नरिदर शास्त्री, दीप्ति छाबड़ा, अमर सिंह पासी, सुरेखा रानी, शांति सपरा, गुरध्यान सिंह जोगा, रीटा रानी, राज रानी, गुरदास कौर, अंजु पुरी, अमनदीप नागी, रेनू बाला, रूबी टनी, बलविदर सिंह, अलका डेहरा, रचना शर्मा है। साथ ही 65 वर्ष से ज्यादा आयु वालों में लीलावंती, सुरजीत कौर, जतिदर कौर वड़ैच, सुशील शाही, जय किशन अग्रवाल ने जीत पाई। इन चुनावों में जहां कांग्रेस के सुशील शाही ने लगातार पांचवी बार जीत प्राप्त की वहीं भाजपा के शांति सपरा ने लगातार चार बार जीत प्राप्त की। इतना ही नहीं, नरिदर शास्त्री भी चार बार नगर कौंसिल का चुनाव जीत चुके हैं।

समाना नगर कौंसिल के चुनाव में ज्यादातर लोगों ने युवा तथा मिडल ऐज के लोगों पर अपना विश्वास जताया। इनमें से ज्यादातर युवा चेहरे ऐसे हैं जिन्होंने पहली बार चुनाव मैदान में उतरकर जीत हासिल की है। इनमें से प्रमुख युवा चेहरा वार्ड नंबर 8 से गुनी वड़ैच हैं, जिन्होंने पूर्व प्रधान कपूर चंद बंसल को हराया। इसी तरह वार्ड नंबर पांच में पहली बार चुनाव में उत्तरी महिला उम्मीदवार प्रीति रानी ने पिछले 20 साल से रहे उम्मीदवार श्याम लाल की पत्नी कांता रानी को हराया है। इसी तरह समाना की कई वार्डों में पहली बार चुनाव मैदान में उतरे युवा चेहरों ने पुराने चले आ रहे एमसी को भारी मतों से हराया। नाभा नगर कौंसिल के कुल 23 वार्डों में तजुर्बे को तरजीह मिली। इनमें चालीस साल तक वाले जहां छह उम्मीदवार ही विजयी रहे वहीं चालीस साल से ज्यादा आयु वाले बाकी 17 नए पार्षद हैं। उधर, पातड़ां में कुल 17 नए बने पार्षदों में से छह नए पार्षद 40 साल से कम आयु वाले हैं। पहली बार जीतने वालों की संख्या काफी

नाभा के कुल 23 में से 12 जहां पहली बार पार्षद बने हैं, वहीं, राजपुरा में कुल 31 पार्षदों में से 21 पार्षद पहली बार जनता का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। समाना में पहली बार पार्षद बनने वालों की संख्या 15 रही है जबकि पातड़ां में यह आंकड़ा नौ का है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.