टर्मिनेशनों के विरोध में अध्यापकों ने मंडी बोर्ड चेयरमैन लाल के घर में घुस की नारेबाजी

जागरण संवाददाता, पटियाला

वेतन कटौती का विरोध कर रहे 5 अध्यापक नेताओं को टर्मिनेट करने के बाद करीब 35 अध्यापक जत्थेबंदियों ने एक मंच पर एकत्रित होकर अध्यापक संघर्ष कमेटी का गठन किया है। इसके तहत मंगलवार को पटियाला जिले के अध्यापकों की ओर से टर्मिनेशनों के खिलाफ संघर्ष कमेटी के नेतृत्व में नेहरू पार्क से रोष मार्च शुरू करके 21 नंबर फाटक स्थित पंजाब मंडी के चेयरमैन लाल ¨सह के आवास का घेराव कर पंजाब सरकार का पुतला जलाया। इस दौरान अध्यापक जोश में पुलिस कर्मचारियों से धक्का मुक्की करते हुए चेयरमैन के आवास में दाखिल हो गए। जहां करीब 15 मिनट तक नारेबाजी की। इसके बाद आवास के बाहर आकर पंजाब सरकार का पुतला जलाया। वहीं इस दौरान अध्यापक नेताओं ने 27 जनवरी को शिक्षा मंत्री के घेराव का एलान करने के साथ बड़ी संख्या में अध्यापकों शामिल होने की अपील की।

इस मौके पर अध्यापक संघर्ष कमेटी के जिला नेताओं अमनदीप देवीगढ, रणजीत मान, भरत कुमार, अनूप शर्मा, बलकार ¨सह पूनिया, जोगा ¨सह, कर्मजीत कौर पातड़ा, मनोज घई, सुमित कुमार, लछमण ¨सह नवीपुर, कुलदीप पटियालवी, बेअंत ¨सह, प्रवीण शर्मा ने कहा कि मांगों को लेकर पंजाब सरकार के खिलाफ संघर्ष किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जहां कांग्रेस सरकार अपने 2 सालों के कार्यकाल में सरकारी स्कूलों में पढ़ते बच्चों को वर्दियां देने से भाग रही है। अध्यापक नेता हरदीप टोडरपुर ने कहा कि शिक्षा मंत्री ने कहा है कि बच्चों को मिलने वाली वर्दी के मामूली 400 रुपये भी अध्यापकों और स्कूल मैनेजमेंट कमेटीयों की तरफ से खा लिए जाते हैं। उन्होंने कहा कि अध्यापक संघर्ष कमेटी सरकारी स्कूलों के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने की प्राथमिक जिम्मेवारी को पूरा करवाने समेत दूसरी मांगों मसलों का पंजाब सरकार की तरफ से जल्द हल न निकालने की सूरत में आने वाले लोक सभा चुनाव दौरान सरकार का हर प्लेटफार्म पर विरोध करेगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.