फर्जी दस्तावेज से चोरी की लग्जरी गाड़ियां बिकवाता था स्माटी का साथी तुषार, चढ़ा लुधियाना पुलिस के हत्थे

आरोपित तुषार को लुधियाना की पांच नंबर चौकी पुलिस ने रिमांड पर लिया है। (सांकेतिक फोटो)

थाना इंचार्ज कुलदीप सिंह ने बताया कि तुषार खन्ना उर्फ दीपक खन्ना दिल्ली का रहने वाला है। वह पंजाब व अन्य राज्यों से चोरी होने वाली गाड़ियों को ठिकाने लगाने व फर्जी दस्तावेज तैयार करने का काम करता था।

Publish Date:Tue, 24 Nov 2020 06:25 PM (IST) Author: Pankaj Dwivedi

पटियाला, जेएनएन। सवा छह करोड़ की लग्जरी गाडिय़ां चोरी करने के मामले में वांटेड हरप्रीत सिंह स्माटी के बाद अब आरोपित तुषार भी पुलिस की गिरफ्त में आ गया है। खन्ना के रहने वाले तुषार को लुधियाना की पांच नंबर चौकी पुलिस ने रिमांड पर लिया है। थाना इंचार्ज कुलदीप सिंह ने बताया कि तुषार खन्ना उर्फ दीपक खन्ना दिल्ली का रहने वाला है। वह पंजाब व अन्य राज्यों से चोरी होने वाली गाड़ियों को ठिकाने लगाने व फर्जी दस्तावेज तैयार करने का काम करता था। पिछले पांच साल से हरप्रीत स्माटी व दीपक खन्ना लगातार सक्रिय हैं।

दोनों को पटियाला पुलिस ने नामजद किया था। कुछ दिन अंडरग्राउंड रहने के बाद फिर एक्टिव हो गए थे। इन लोगों ने लुधियाना से छह से अधिक लग्जरी गाड़ियां चोरी की हैं। अकेले तुषार पर ही 34 केस दर्ज हैं। उधर, दोनों की गिरफ्तारी के बाद पटियाला पुलिस फरार आरोपितों जीगुला, रामपाल, राणा, आसिफ, सुहेल निवासी मेरठ (यूपी), राजू निवासी दिल्ली, रवि कार लिफ्टर, रामजीत, गुरप्रीत सिंह, राज छाबड़ा निवासी डेराबस्सी, रंजीत सिंह निवासी दिल्ली, जमील निवासी बेंगलूरू (कर्नाटक), वसीम निवासी झारखंड, हनीश ठाकुर निवासी डेराबस्सी के बारे में पूछताछ की तैयारी में है। स्माटी गैंग से दस फार्च्यूनर, पांच इनोवा, नौ वरना कार, एंडेवर, एर्टिगा, छह स्विफट डिजायर, पांच स्विफट, छह आइ-टवेंटी, इटियोस सहित करीब 53 गाड़िया पांच साल पहले रिकवर हुई थी।

पंजाब से चोरी गाड़ियां दूसरे राज्यों में बेचते थे

पंजाब से चोरी होने वाली लग्जरी गाड़ियों को ठिकाने लगाने व बाहरी राज्यों की गाडिय़ों को पंजाब में दाखिल करने का सिलसिला अभी भी चल रहा है। लुधियाना के सीआइए स्टाफ इंचार्ज अवतार सिंह ने बताया कि पूछताछ में साफ हुआ है कि आरोपित चोरी की वारदातों को पटियाला में अंजाम नहीं दे रहे थे, बल्कि कुछ लोग इनके संपर्क में जरूर थे। स्माटी गिरोह अन्य जिलों से कारें चुराने के बाद दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात में बेच देता था।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.