सिविल अस्पताल में विश्व मलेरिया दिवस पर कार्यक्रम आयोजित

सिविल अस्पताल में विश्व मलेरिया दिवस पर कार्यक्रम आयोजित

सिविल अस्पताल पठानकोट में शुक्रवार को विश्व मलेरिया दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें सीएमओ डा. हरविदर सिंह ने खास तौर पर शिरकत की।

JagranFri, 23 Apr 2021 05:16 PM (IST)

संवाद सहयोगी, पठानकोट : सिविल अस्पताल पठानकोट में शुक्रवार को विश्व मलेरिया दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें सीएमओ डा. हरविदर सिंह ने खास तौर पर शिरकत की। सिविल सर्जन डा. हरविदर सिंह और सहायक सिविल सर्जन डा. अदिति सलारिया ने कहा कि कोरोना मामलों को लेकर मलेरिया को नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए।

मलेरिया बुखार मादा एनाफिलेक्सिस मच्छरों के काटने से फैलता है। ये मच्छर साफ खड़े पानी में प्रजनन करते हैं और रात व सुबह काटते हैं। उन्होंने कहा यदि कोई भी

व्यक्ति अपने घर एवं आसपास के एरिया में खड़े पानी को देखें तो उसे मिट्टी डाल कर तत्काल बंद करवाएं। हर रोज अपने घर में कूलर, फ्रिज, बर्तनों, पक्षियों के पानी के कंटेनर, पानी के ड्रम इत्यादि को साफ करके देखा जाना चाहिए।

गंबूजिया मछली को स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से तालाबों में डालें। ऐसे कपड़े पहनें जो शरीर को पूरी तरह से ढकें ताकि आपको मच्छर न काटें। सोते समय मच्छरदानी, मच्छर भगाने वाली क्रीम इत्यादि का प्रयोग करें। उन्होंने बताया कि मलेरिया के मुख्य लक्षणों में बुखार और ठंड लगने के साथ बुखार, तेज बुखार और सिरदर्द, थकान और कमजोरी के बाद बुखार आना तथा पसीना आना है। इसलिए, बुखार होने पर तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य संस्थान या सरकारी अस्पताल से संपर्क करें। राज्य के सभी सरकारी अस्पतालों में मलेरिया परीक्षण और उपचार मुफ्त है।

इस अवसर पर जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. दरबार राज, जिला एपिडेमोलाजिस्ट डा. साक्षी, अविनाश शर्मा, अनोखे लाल, राज अमृत सिंह रंजीत सिंह, बोध राज इत्यादि उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.