22 दिन में डेंगू का दोहरा शतक, 203 सितंबर में ही मिले

अब तक पठानकोट शहर के 168 सुजानपुर के 1 घरोटा के 34 नरोट जैमलसिंह के पांच बधानी के 19 अन्य जिले का एक व अन्य राज्य के तीन केस आए हैं। 2021 में अब तक 231 मामले सामने आ चुके हैं इनमें से 203 केस सितंबर में ही मिले हैं।

JagranThu, 23 Sep 2021 03:30 AM (IST)
22 दिन में डेंगू का दोहरा शतक, 203 सितंबर में ही मिले

जागरण संवाददाता, पठानकोट : जिले में डेंगू के बढ़ते ग्राफ में कमी नहीं आ रही है। जहां मंगलवार को 28 नए मामलों की पुष्टि हुई थी वहीं बुधवार को 21 नए मरीज पाजिटिव पाए गए हैं। यानी दो दिनों में कुल 49 मरीज मिले हैं जो कि किसी खतरे से कम नहीं है। बुधवार की रिपोर्ट के अनुसार तीन मरीज घरोटा के हैं बाकी पठानकोट शहर के हैं व एक व्यक्ति दूसरे जिले के है।

आंकड़ों पर गौर करें तो अब तक पठानकोट शहर के 168, सुजानपुर के 1, घरोटा के 34, नरोट जैमलसिंह के पांच, बधानी के 19, अन्य जिले का एक व अन्य राज्य के तीन केस आए हैं। 2021 में अब तक 231 मामले सामने आ चुके हैं, इनमें से 203 केस सितंबर में ही मिले हैं। जांच में मरीजों की प्लेटलेट्स कमी पाई जा रही है। इसके चलते सिविल अस्पताल में डेंगू मरीजों के लिए बेड कम पड़ने लगे। अस्पताल प्रशासन ने इसे ध्यान में रखते हुए डेंगू वार्ड में पहले से मौजूद आठ बेड के कमरे के साथ अब छह बेड का एक और सम्मिलित कर दिया है। अगर डेंगू के ज्यादा मरीज निकल कर आते हैं तो वह उनके पास दो कमरे और तैयार किए गए हैं, इसे रिजर्व में रखा है। कुल 231 केस, इनमें से 168 शहरी इलाकों से

आश्चर्य वाली बात यह है कि इसमें से 168 केस शहर के हैं। इससे कई लोग शहर की सफाई व्यवस्था पर सवाल उठा रहे हैं। शहरवासियों का कहना है कि प्रशासन की लापरवाही के कारण लोग डेंगू पाजिटिव आ रहे हैं। बरसात से पहले नालियों की सफाई हो जानी चाहिए थी, लेकिन समय पर सफाई नही करवाई गई। बरसात से ऐन पहले सफाई शुरू करवाई गई। इस कारण अभी तक नालियों की सफाई नहीं हो पाई। गंदा व बरसाती पानी कई दिनों में नालियों में जमा रहता है। इससे मच्छर पनप रहा रहा है। अक्टूबर में बढ़ सकते हैं मामले, सतर्क रहें: डा. साक्षी

जनवरी से 21 सितंबर तक तक 552 लोगों की सैंपलिग हुई है, जिसमें से 231 मरीज डेंगू पाजिटिव पाए गए हैं। इनमें से चार केस अन्य शहरों के हैं। 21 सितंबर को जिले में 28 डेंगू पॉजिटिव मरीज पाए गए जिसमें से एक मरीज गुरदासपुर से था और 27 मरीज पठानकोट के थे। डा. साक्षी ने बताया कि डेंगू की इस बीमारी को कम करने के लिए अपने घर के आस-पास सफाई रखें। हफ्ते में एक बार अपने घर में वाटर कूलर या कोई भी पानी कंटेनर को खाली जरूर करें। डेंगू मच्छर दिन में काटता है इससे बचने के लिए पूरी बाजू वाले कपड़े डालें। उन्होंने बताया कि यह सितंबर और अक्टूबर में केस बढ़ने का डर है। इसलिए यह सावधानियां बरतें इस तरह हम अपने शरीर को डेंगू से बचा सकते हैं।

रोज 25 से 30 लोगों को हो रहा टेस्ट

अधिकारियों ने बताया कि वह रोजाना डेंगू के 25 से 30 लोगों के टेस्ट करते हैं। एक स्वस्थ व्यक्ति के लिए एक लाख 20 हजार से एक लाख 40 हजार तक प्लेटलेट्स होने चाहिए। इससे कम अगर हो जाए तो उसको डेंगू पाजिटिव बताया जाता है। जुकाम, बुखार और टाइफाइड के 30 फीसद मरीज बढ़े

दूसरी ओर मौसम के बदलने के कारण जुकाम, बुखार और टाइफाइड के मरीज भी आ रहे हैं। पहले हर रोज 220 से 250 के बीच टेस्ट होते थे। अब रोजाना 250 से 300 मरीजों के टेस्ट करते हैं। इनकी संख्या मे पहले से 30 फीसद बढ़ोतरी हुई है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.