कोविड नियमों का पालन न करने वालों से सख्ती से निपटें

कोविड नियमों का पालन न करने वालों से सख्ती से निपटें

नवांशहर डिवीजनल कमिश्नर रूपनगर राहुल तिवारी ने वीरवार को जिले में चल रही विभिन्न स्कीमों और विकास कामों की समीक्षा की। डीसी डा. शेना अग्रवाल की मौजूदगी में अधिकारियों के साथ बैठक में उन्होंने विभिन्न विभागों के कामों की प्रगति का जायजा लेने सहित जरूरी दिशा-निर्देश भी दिए।

JagranThu, 25 Feb 2021 10:41 PM (IST)

जागरण संवाददाता, नवांशहर

डिवीजनल कमिश्नर रूपनगर राहुल तिवारी ने वीरवार को जिले में चल रही विभिन्न स्कीमों और विकास कामों की समीक्षा की। डीसी डा. शेना अग्रवाल की मौजूदगी में अधिकारियों के साथ बैठक में उन्होंने विभिन्न विभागों के कामों की प्रगति का जायजा लेने सहित जरूरी दिशा-निर्देश भी दिए।

उन्होंने जिले में तेजी से बढ़ रहे कोविड मामलों को गंभीरता के साथ लेते हुए हिदायत दी है कि इस बारे में दिशा-निर्देशों का पालन न करने वालों से सख्ती से पेश आएं और ज्यादा से ज्यादा चालान काटें। कोविड के फैलाव को रोकना सबसे बड़ी चुनौती है। इससे निपटने के लिए लोगों का जागरूक होना बेहद जरूरी है।

उन्होंने हिदायत दी है कि अस्पतालों में दाखिल कोविड मरीजों संबंधी एक नोडल अधिकारी की तैनाती की जाए। सभी सेहत कर्मियों और फ्रंट लाइन वर्करों के चल रहे कोविड टीकाकरण के काम को सही ढंग से पूरा किया जाए।

माल विभाग के कामकाज की समीक्षा करते हुए उन्होंने हिदायत दी कि जमाबंदियों के काम में टैक्स एंट्रियां खत्म करना यकीनी बनाया जाए। इसी तरह उन्होंने सभी कोर्ट मामलों का निपटारा डेढ़ महीने के अंदर करने के निर्देश दिए।

रोजगार विभाग के कामों का मूल्यांकन करते हुए उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार की तरफ से अप्रैल से 50 हजार होनहार लड़के-लड़कियों को संस्थाओं द्वारा सरकारी नौकरियां और प्रतियोगिता परीक्षाओं की मुफ्त तैयारी का लक्ष्य निश्चित किया गया है। उन्होंने कहा कि जिले के ऐसे होनहार नौजवानों की पहचान की जाए, जो ऐसी कोचिग लेने के इच्छुक हैं। उन्होंने बताया कि अप्रैल में लग रहे मेगा रोजगार मेले में जिले के अधिक से अधिक बेरोजगार नौजवानों को रोजगार के मौके मुहैया करवाना यकीनी बनाया जाए।

उन्होंने कहा कि सरबत सेहत बीमा योजना के अंतर्गत बनाए जा रहे ई-कार्डो के काम में तेजी लाकर इस योजना के शत प्रतिशत लाभार्थियों को कवर करना यकीनी बनाया जाए। उन्होंने हिदायत दी कि पराली और नाड़ को जलाने के रुझान को रोकने के लिए विशेष प्रयास किए जाएं।

इस दौरान उन्होंने माल, सेहत, शिक्षा, रोजगार जेनरेशन, सामाजिक सुरक्षा, ग्रामीण विकास एवं पंचायत, स्थानीय सरकारें, फूड और सिविल सप्लाई, कर और आबकारी, कृषि और अन्य विभागों के कामों की प्रगति का भी मूल्यांकन करते हुए अधिकारियों को मेहनत और लगन के साथ काम करने की हिदायत दी।

इस दौरान एडीसी (जनरल) और एडीसी (विकास) ने विभिन्न विभागों के साथ संबंधित तैयार की गई पीपीटी द्वारा जिले में चल रहे विकास कामों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

इस दौरान डीसी डा. शेना अग्रवाल ने डिवीजनल कमिश्नर का धन्यवाद किया। साथ ही विश्वास दिलाया कि उनकी तरफ से जारी दिशा-निर्देशों को लागू करना यकीनी बनाया जाएगा।

इस मौके पर एडीसी (ज) अदित्य उप्पल, एडीसी (विकास) अमरदीप सिंह बैंस, एसडीएम बंगा विराज तिड़के, एसडीएम नवांशहर जगदीश सिंह जौहल, एसडीएम बलाचौर दीपक रुहेला, जिला माल अफसर विपन भंडारी, डीडीपीओ दविदर कुमार, सिविल सर्जन डा. गुरदीप सिंह कपूर सहित समूह तहसीलदार, कार्यसाधक अधिकरी, बीडीपीओ और विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.