स्ट्रीट लाइटों की बत्ती गुल, रात को सड़कों पर अंधेरा

स्ट्रीट लाइटों की बत्ती गुल, रात को सड़कों पर अंधेरा

नवांशहर शहर में स्ट्रीट लाइटें न जलने से शहर की सड़कों पर रात को अंधेरा पसरे रहता है। ए क्लास नगर कौंसिल होने और जिला हेडक्वार्टर होने के बावजूद भी शहर के लोग इसके कारण परेशानी झेल रहे हैं। इस बारे में लोगों द्वारा कई बार प्रशासन से गुहार भी लगाई जा चुकी है फिर भी कोई कदम नहीं उठाया गया है। यही कारण है कि शहर की लगभग आधे से ज्यादा स्ट्रीट लाइटें बंद हैं और लोग रात को अंधेरे में ही आने-जाने को विवश है।

Publish Date:Fri, 15 Jan 2021 03:22 PM (IST) Author: Jagran

मुकंद हरि जुल्का, नवांशहर

शहर में स्ट्रीट लाइटें न जलने से शहर की सड़कों पर रात को अंधेरा पसरे रहता है। ए क्लास नगर कौंसिल होने और जिला हेडक्वार्टर होने के बावजूद भी शहर के लोग इसके कारण परेशानी झेल रहे हैं। इस बारे में लोगों द्वारा कई बार प्रशासन से गुहार भी लगाई जा चुकी है, फिर भी कोई कदम नहीं उठाया गया है। यही कारण है कि शहर की लगभग आधे से ज्यादा स्ट्रीट लाइटें बंद हैं और लोग रात को अंधेरे में ही आने-जाने को विवश है।

आजकल सर्दियों में रात को धुंध छाने और स्ट्रीट लाइटें न जली होने के कारण असामाजिक तत्वों के सक्रिय रहने का भी लोगों को डर रहता है। वहीं शहर में आवारा कुत्तों व बेसहारा गोधन भी रात में खतरा बने रहते हैं। यही कारण है कि लोग शाम होते ही घरों में रहने को विवश हैं और अंधेरे के कारण विशेषकर महिलाओं, बच्चों व बुजुर्गो का बाहर निकलना मुश्किल है।

उधर, जो बच्चे शाम के समय टयूशन आदि पर जाते हैं, वे भी सड़कों पर स्ट्रीट लाइटें न जलने के कारण परेशान होते हैं। इस दौरान जब तक सड़क किनारे दुकानों के बाहर की लाइटें जलती हैं, तब तक तो कुछ राहत रहती है। मगर, इसके बाद अंधेरा पसर जाने के कारण सड़क से गुजरने में कठिनाई होती है।

बता दें कि शहर में कोठी रोड, तारा आइस फैक्ट्री रोड, गीता भवन रोड, आर्य समाज रोड, रेलवे रोड और अन्य कई सड़कों पर लगी स्ट्रीट लाइटें काफी समय से बंद पड़ी हैं। कुछ स्ट्रीट लाइटे जलने के बावजूद ठीक ढंग से रोशनी नहीं दे पाती। इसके अलावा मुख्य रोड बंगा, चंडीगढ़, राहों और गढ़शंकर रोड पर स्ट्रीट लाइटें बंद हैं।

शहर के सबसे व्यस्त बाजार कोठी रोड के जलेबी चौक पर तथा तारा आइस फैक्ट्री रोड पर अधिकतर स्ट्रीट लाइटें बंद पड़ी हैं और जो जल रही हैं, वे भी पुरानी होने के कारण सही से रोशनी नहीं दे पा रही हैं। इस बारे में दुकानदार योगेश खन्ना, हरी कमल, चेतन शर्मा, हरबंस लाल, मनोहर लाल, दीपक कुमार, सतपाल, मुकेश कुमार व विजय कुमार का कहना है कि उक्त रोड की लगभग एक साल से कई लाइटें बंद हैं और तारें भी टूटी पड़ी है। इस बारे में कोई भी नगर कौंसिल व प्रशासन का कर्मचारी या फिर पार्षद का ध्यान नहीं है। वहीं चौकीदार मोहिदर पाल कहना है कि उसने स्वयं कई बार नगर कौंसिल कार्यालय में यह समस्या बताई है, लेकिन कौंसिल के पास सामान ही नहीं है।

--------------

सामान आने पर ठीक होंगी लाइटें : ईओ

नगर कौंसिल के कार्यकारी अधिकारी (ईओ) राम प्रकाश का कहना है कि स्ट्रीट लाइटों को ठीक करवाने के लिए सामान मंगवाया जा रहा है। सामान आने के बाद इन्हें जल्द ठीक करवा दिया जाएगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.