बीसी समाज से हो रहा सौतेला व्यवहार : रमेश जस्सल

पंजाब सरकार बीसी समाज के लोगों के हक छीन कर उनके साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। बीसी समाज के लोगों को कानून के हिसाब से उनका हक नहीं मिल पा रहा है।

JagranWed, 04 Aug 2021 10:13 PM (IST)
बीसी समाज से हो रहा सौतेला व्यवहार : रमेश जस्सल

संवाद सहयोगी, राहों :

पंजाब सरकार बीसी समाज के लोगों के हक छीन कर उनके साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। बीसी समाज के लोगों को कानून के हिसाब से उनका हक नहीं मिल पा रहा है। बीसी समाज के प्रधान रमेश जस्सल ने मोहल्ला कुरालां में हुई बैठक में उक्त विचारों को जाहिर किया। उन्होंने कहा कि आज भी बीसी समाज के लोगों को उनके हक नहीं मिल रहे। पंजाब में बीसी समाज के लोगों की आबादी 52 प्रतिशत होने के बावजूद वे गरीबी रेखा से नीचे अपना जीवन व्यतीत कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार ने मंडल कमीशन की रिपोर्ट को लागू न करके समाज के लोगों के साथ धोखा किया है। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब आंबेडकर ने बीसी समाज के लोगों को उनके हक दिलाने के लिए बहुत संघर्ष किया था। उन्होंने कहा कि आज हमें संघर्ष करने की जरूरत है। बाबा साहेब के दिखाए गए मार्ग पर चलने के लिए लोगों को प्रेरित करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि बीसी समाज के लोगों को एकजुट होकर इस मिशन में भाग लेकर संघर्ष करना होगा। तभी पंजाब में मंडल कमीशन की रिपोर्ट को लागू करवाने के लिए सरकार पर दबाव बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि चुनावों के दौरान कैप्टन अमरिदर सिंह ने बीसी समाज की सभी मांगें पूरी करने तथा मंडल कमीशन की रिपोर्ट को लागू करने का ऐलान किया था। लेकिन सत्ता की कुर्सी मिलते ही बीसी समाज से किए गए वादों को सरकार भूल चुकी है। जिसका खामियाजा कांग्रेस सरकार को आने वाले चुनावों में भुगतना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पंजाब के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल की ओर से 2022 के विधानसभा चुनावों का मेनिफेस्टो तैयार किया गया है। उसमें भी बीसी समाज के लोगों का जिक्र तक नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि बंगा के विधायक डा. सुखविदर सुखी के नेतृत्व में पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री को भी एक मांगपत्र सौंपा जाएगा। तथा पंजाब के चुनावी मेनिफेस्टो में मंडल कमीशन की रिपोर्ट लागू करने की बात की जाए। तभी बीसी समाज के लोग सरकारों पर विश्वास करेंगे। उन्होंने कहा कि आज भी बीसी समाज के पढ़े-लिखे बच्चे नौकरियां न होने की वजह से दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं। इस अवसर पर बीसी समाज की ओर से एक कमेटी का गठन भी किया गया। जिसमें मीना को बीसी महिला विग का शहरी प्रधान, गढ़शंकर शहरी प्रधान हर्ष, मास्टर गुरमीत सिंह को जिला जनरल सचिव, सुखविदर कौर को शहरी प्रधान राहों, बीसी संघर्ष कमेटी की प्रधान रानी रतनाना को नियुक्त किया गया। इस अवसर पर नवनियुक्त प्रधानों ने कहा कि जो जिम्मेवारी समाज की ओर से उन्हें दी गई है वह उसे पूरी ईमानदारी के साथ निभाएंगे। इस अवसर पर बलविदर कौर वंदना, सीता जस्सल, शमा जस्सल, हरवंत कौर, मनीष कौर, पवन कुमार, गुरमीत सिंह, तिलक राज, नरेंद्र कुमार जांगड़ा, चमन लाल जस्सल, कमल जस्सल, विजेंद्र कुमार जस्सल, मधुराणी, सुरजीत कौर, जोगिदर कौर, बलविदर कौर, निर्मल कौर, सानिया, संजीव जस्सल, आदि उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.