किरपाल सागर अकादमी में गुरु नानक देव जी का प्रकाश पर्व

किरपाल सागर अकादमी में गुरु नानक देव जी का प्रकाश पर्व

किरपाल सागर अकादमी में जगतगुरु श्री गुरु नानक देव जी का प्रकाश पर्व श्रद्धा भावना से मनाया गया।

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 09:52 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सहयोगी, राहों: किरपाल सागर अकादमी में जगतगुरु श्री गुरु नानक देव जी का प्रकाश पर्व श्रद्धा भावना से मनाया गया। मुख्य अध्यापक गुरजीत सिंह ने बताया कि किरपाल सागर सरोवर के गुरुद्वारा साहिब से पांच प्यारों की अगुआई में श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की पालकी को बड़े श्रद्धा भाव से किरपाल सागर अकादमी के आंगन में लाया गया। रास्ते में फूलों की वर्षा की गई। भाई कुलदीप सिंह ने सुखमणी साहिब के पाठ किए। इस दौरान विद्यार्थियों ने शबद गायन किया। इस अवसर पर अकादमी के चेयरमैन डा. कर्मजीत सिंह ने गुरु नानक देव जी के सिद्धांत पर विचार पेश किए। इस अवसर पर मुख्य अध्यापक गुरजीत सिंह ने किरत करो नाम जपो बंड छको के सिद्धांत को आज के युग में इसकी महानता और महत्व के जोड़कर पेश किया। उन्होंने कहा कि 19 रागों में गाई गुरु नानक की वाणी विश्व चेतना, विश्व एकता और आपसी भाईचारे का संदेश देती है। इस अवसर पर किरपाल सागर अकादमी के नवनिर्मित प्रशासनिक विभाग का उद्घाटन चेयरमैन डा. कर्मजीत सिंह, वाइस चेयरपर्सन परमजीत कौर, मुख्य अध्यापक गुरजीत सिंह एवं अन्य मैनेजमेंट अधिकारियों ने किया । प्रोग्राम के दौरान स्टेज सेक्रेटरी की सेवा यूनिटी आफ मैन के सेक्रेटरी जसवीर सिंह चावला ने निभाई। इस अवसर पर लंगर भी बरताया गया। गुरु नानक देव जी के बताए सिद्धांतों पर चलें: मूम जेएनएन, नवांशहर: केसी ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशन में श्री गुरु नानक देव जी के 551वें प्रकाश उत्सव के उपलक्ष्य में श्री सुखमणि साहिब जी का पाठ करवाया गया। नई आबादी के श्री गुरुद्वारा बाबा दीप सिंह के पाठी प्रभजोत सिंह ने सुखमणि साहिब जी का पाठ करवाया तथा संगत को बताया कि गुरु नानक देव जी ने प्रभु की भक्ति में लीन रहकर समाज का उत्थान किया था। प्रिसिपल आरके मूम ने संगत को बताया कि हर इंसान के भवसागर से पार जाने का मार्ग प्रभु का सिमरन है। कैंपस डायरेक्टर डा. प्रवीन कुमार जंजुआ ने बताया कि हमें गुरु जी के किरत करो, सिमरन करो, बंड छको के सिद्धांत को जरूर अपनाना चाहिए। इस मौके पर एएंडपी के डायरेक्टर विकास कुमार, प्रिसिपल बलजीत कौर, प्रिसिपल राजिदर मूम, का. प्रिसिपल डा. शबनम, प्रोफेसर अंकुश निझावन, जवंद सिंह, सुखदीप सिंह, वरिदर सिंह, मंदीप कौर, नेहा, जतिदर व पीआरओ विपन कुमार आदि हाजिर रहे। मिटी धुंध जग चानण होया के जाप से भक्तिमय हुआ वातावरण संवाद सहयोगी, काठगढ़: श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाशोत्सव को लेकर गुरुद्वारा बाबा जगतराम जीओवाल बछुआं के मुख्य सेवादार बाबा जगतार सिंह की देखरेख में विशाल नगर कीर्तन का आयोजन किया गया। गुरु महाराज का प्रकाश सुंदर पालकी में सजाकर नगर कीर्तन गांव पनयाली से शुरू किया गया। नानक नाम लेवा संगतों का बड़ी संख्या में काफिला आगे-आगे पांच प्यारे पीछे-पीछे संगत मीठी-मीठी धुन सतगुरु नानक प्रगटिया मिटी धुंध जग चानण होया से वातावरण आनंदमय हो उठा। नगर कीर्तन गांव पनयाली, सोबुआल, जगतेवाल, काठगढ़, चाहलां, किशनपुर भरथला, बछुआं से होता हुआ गुरुद्वारा जीओवाल बछुआं पहुंचा। रास्ते में चाय, पकौड़े, लड़्डू, ब्रैड, मिठाइयां व फल आदि के जगह-जगह पर स्टाल लगाकर क्षेत्रवासियों ने सेवा निभाई। मार्केट काठगढ़ में साईं काले शह टिब्बी पीरां दी के सेवादार ने अपनी टीम के साथ पांच प्यारों को सिरोपा भेंट किया। गुरु महाराज के प्रकाश को रुमाला भेंट करके सजदा किया और सारी संगत को शीतल जल वितरित किया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.