बाइक सवार चार लुटेरों ने प्रवासी मजदूर की गर्दन पर लूटे 240 रुपये, गिरफ्तार

बाइक सवार चार लुटेरों ने प्रवासी मजदूर की गर्दन पर लूटे 240 रुपये, गिरफ्तार

जिले में बाइक सवार लुटेरे लूट की घटनाओं को लगातार अंजाम दे रहे हैं जिससे लोगों में खौफ है।

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 09:59 PM (IST) Author: Jagran

फोटो नंबर-26

जागरण संवाददाता,नवांशहर: जिले में बाइक सवार लुटेरे लूट की घटनाओं को लगातार अंजाम दे रहे हैं, जिससे लोगों में खौफ है। लुटेरे बेखौफ होकर वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। पुलिस ने तीन माह में हुई वारदातों में बेशक चार केस में लुटेरों को पकड़ा है, पर अभी भी 14 लूट की वारदातों में पुलिस लुटेरों तक नही पहुंच पाई है। सितंबर से लेकर अभी तक लूट की 18 घटनाएं हो चुकी हैं। नवंबर माह में ही लूट की सात घटनाएं हो चुकी हैं, पर पुलिस के हाथ इनमें खाली हैं। नए मामले में रविवार देर रात बाइक सवार चार लुटेरे एक प्रवासी मजदूर की गर्दन पर तलवार रखकर 240 रुपये लूटकर फरार हो गए जिन्हें राम को ही पुलिस ने पकड़ लिया। पुलिस को दी शिकायत में एमडी रवि उल ने बताया कि वह गांव स्कोहपुर में स्थित मैथां प्लांट में काम करता है। काम खत्म होने के बाद वह किसी जरूरी काम से बाजार गया था व रात को प्लांट को वापस जा रहा था। जब वह प्लांट से थोड़ी ही दूरी पर था, तो दो मोटरसाइकिल पर सवार चार युवकों ने उसे रोक लिया। एक ने तलवार को उसके गर्दन पर रख दिया व उससे सारा सामान देने के लिए कहा। उसके पास केवल 240 रुपये थे जोकि लुटेरों ने लूट लिए। फिर दूसरे लुटेरों ने भी उसकी तलाशी ली, पर उसके पास कुछ नही निकला। इसके बाद लुटेरे वहां से भाग गए। एक लुटेरे के मोटरसाईकिल पर मौम एंड डैड गिफ्ट लिखा हुआ था। इसके बाद कार्रवाई करते हुए चारों को गिरफ्तार कर लिया है। उल्लेखनीय है कि 19 नवंबर को एक ही दिन में लुटेरों ने लूट की दो घटनाओं को अंजाम दिया था। पहले केस मे गांव सरहाल काजियां के रहने वाले सुरजीत ने बताया कि वो मोटरसाइकिल पर पत्नी रंजना कुमारी के साथ फगवाड़ा की ओर जा रहे थे। जब वह गांव बहुआ के पास पहुंचे तो पीछे से बुलेट पर आ रहे दो युवकों ने उसकी पत्नी के पर्स को छीनने की कोशिश की। जिसमें रंजना कुमारी सड़क पर गिर गई और गंभीर रूप से घायल हो गई। दूसरे केस में पुलिस को दी शिकायत में गांव नीलेवाड़े के रहने वाले कमलजीत सिंह ने बताया कि वो गांव में ही अड्डे पर फीड की दुकान करता है। उस दिन सुबह 11 बजे वह किसी काम से अपने घर जाने के लिए दुकान के बाहर खड़ा , तो एक मोटरसाइकिल सवार ने उसे लिफ्ट दी। जब वो घर के पास पहुंचा तो उसने मोटरसाइकिल चालक को उसे वहां पर उतारने के लिए कहा, पर उसने ब्रेक न होने का बहाना कर उसने मोटरसाइकिल को तेज कर दिया। इसके बाद उसने मोटरसाइकिल से छलांग लगा दी। जब वह सड़क पर गिर गया तो लुटेरा उसका 15 हजार रुपये की कीमत का मोबाइल फोन लेकर भाग गया। 17 नवंबर को दो युवकों को भी बनाया था निशाना गांव ढाहां के रहने वाले सतपाल ने पुलिस को दिए अपने बयान में बताया था कि वह राहों में एक फैक्ट्री काम करता है। 17 नवंबर की रात को वह फैक्ट्री से अपने घर जा रहा था, तो नवांशहर के बंगा मार्ग पर रेलवे फाटकों से मोटरसाइकिल सवार तीन युवकों ने उसका पीछा करना शुरू कर दिया। जब वो सीआइए स्टाफ के दफ्तर के पास पहुंचा तो मोटरसाइकिल युवकों ने दातर से उसपर हमला कर दिया, पर हेलमेट पहनने व मोटे कपड़े पहनने के कारण उसे ज्यादा चोट नही आई। इसी बीच लुटेरे उसके मोटरसाइकिल की चाबियां व पर्स छीन कर ले गए। पर्स में पांच हजार रुपये व अन्य कागजात थे। वहीं दूसरी घटना में बंगा में एक जूस वाले से मोटरसाइकिल सवार लुटेरे उसका नया फोन छीन कर फरार हो गए थे। जूस बेचने वाले कैलाश ने बताया कि उसे एक सप्ताह पहले ही 15 हजार रुपये की कीमत का नया फोन लिया था। पुलिस के इन दोनों मामलों में हाथ खाली हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.