घरेलू बगीची में करें जहर रहित सब्जियों की खेती : डीसी

घरेलू बगीची में करें जहर रहित सब्जियों की खेती : डीसी

नवांशहर किसानों को अपने घरों में ही घरेलू बगीची में जहर रहित सब्जियों की खेती करनी चाहिए। इससे जहां वह अपनी आमदन में विस्तार कर सकते हैं वहीं शुद्ध और ताजी सब्जी उगा कर अपनी सेहत तंदुरुस्त रख सकते हैं। यह बात डीसी डा. शेना अग्रवाल ने बागबानी विभाग की तरफ से जिले में घरेलू बगीची स्कीम के अंतर्गत बांटे जाने वाली गर्मी ऋतु के सब्जी बीजों की किटों को जारी करने के मौके पर कही।

JagranWed, 24 Feb 2021 10:50 PM (IST)

जागरण संवाददाता, नवांशहर

किसानों को अपने घरों में ही घरेलू बगीची में जहर रहित सब्जियों की खेती करनी चाहिए। इससे जहां वह अपनी आमदन में विस्तार कर सकते हैं, वहीं शुद्ध और ताजी सब्जी उगा कर अपनी सेहत तंदुरुस्त रख सकते हैं। यह बात डीसी डा. शेना अग्रवाल ने बागबानी विभाग की तरफ से जिले में घरेलू बगीची स्कीम के अंतर्गत बांटे जाने वाली गर्मी ऋतु के सब्जी बीजों की किटों को जारी करने के मौके पर कही।

उन्होंने कहा कि संतुलित खुराक में सब्जियों का खास महत्व है। विभाग की तरफ से फरवरी-मार्च के दौरान 1600 सब्जी बीज किटें बांटी जा रही हैं। इनमें 10 किस्म के सब्जी बीज हैं, जिनमें घीया कददू, चपन कददू, हलवा कददू, घीया, तोरई, टींडा, करेला, भिडी, तैर व खीरा शामिल हैं। उन्होंने कहा कि यह मौसम इन सब्जियों की बिजाई के लिए बिल्कुल उपयुक्त है।

इस मौके पर सहायक डायरेक्टर बागबानी जगदीश सिंह काहमा ने बताया कि विभाग की तरफ से इस किट की कीमत 80 रुपये रखी गई है। उन्होंने बताया कि बागबानी विभाग के मुख्य दफ्तर या ब्लाक दफ्तरों में इन किटों को प्राप्त किया जा सकता हैं। इस मौके पर मुख्य कृषि अधिकारी डा. राज कुमार और अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

------------

वरदान साबित हो रही है ग्रामीण कौशल योजना : डीसी

जागरण संवाददाता, नवांशहर

पंजाब हुनर विकास मिशन के अंतर्गत दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना के मद्देनजर सेंटर खोला गया है। जहां जिले के जरूरतमंद ग्रामीण नौजवानों को विभिन्न ट्रेडों में प्रशिक्षण देकर रोजगार के मौके प्रदान किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में इस सेंटर में फिटर मैकेनिकल ट्रेड का पाठ्यक्रम मुकम्मल करने वाले 22 शिक्षार्थियों की प्लेसमेंट विभिन्न इकाइयों में हुई है।

नौकरी ज्वाइन करने से पहले बुधवार को डीसी डा. शेना अग्रवाल और एडीसी अमरदीप सिंह बैंस ने इन शिक्षार्थियों के साथ वार्तालाप और उनके सुनहरी भविष्य की कामना करते हुए उन्हें झंडी दिखाकर रवाना किया। इस मौके पर डीसी ने कहा कि दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना गांवों के नौजवानों के लिए वरदान साबित हो रही है। उन्होंने बताया कि घर-घर रोजगार और कारोबार मिशन के अंतर्गत जिला प्रशासन की तरफ से जिले के अधिक से अधिक नौजवानों को रोजगार और स्वरो•ागार मुहैया करवाने के प्रयास किए जा रहे हैं। इस मौके पर कैंपस डायरेक्टर डीएस रंधावा और पंजाब हुनर विकास मिशन का जिला स्तरीय स्टाफ भी उपस्थित था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.