बंगा बस अड्डे पर न जाकर सड़क से सवारियां उठा रहे बस ड्राइवर, ट्रैफिक जाम लग रहा

बंगा में सड़क पर बस अड्ड़ा बन गया है जिस कारण ट्रैफिक तो प्रभावित हो रहा है। साथ ही बस कभी आगे तो कभी पीछे रुकने से सवारियों में भगदड़ मच जाती है और लोगों को चोट भी लग जाती है। इस मुख्य मार्ग पर ज्यादा ट्रैफिक होने से कई बार वाहन भी हादसा ग्रस्त हो जाते है।

JagranSun, 01 Aug 2021 10:25 PM (IST)
बंगा बस अड्डे पर न जाकर सड़क से सवारियां उठा रहे बस ड्राइवर, ट्रैफिक जाम लग रहा

चमन लाल, बंगा : बंगा में सड़क पर बस अड्ड़ा बन गया है, जिस कारण ट्रैफिक तो प्रभावित हो रहा है। साथ ही बस कभी आगे तो कभी पीछे रुकने से सवारियों में भगदड़ मच जाती है और लोगों को चोट भी लग जाती है। इस मुख्य मार्ग पर ज्यादा ट्रैफिक होने से कई बार वाहन भी हादसा ग्रस्त हो जाते है। बस अड्ड़ा में प्रवेश के लिए रास्ता थोड़ा तंग होने के कारण ड्राइवर बस को अंदर नहीं ले जाते। सड़क पर ही सवारी उतार और चढ़ाकर चले जाते है। नगर कौंसिल की बस स्टैंड से हर साल लाखों की आमदन होती है, इसके बावजूद लोगों को कोई सुविधा नहीं दी जाती। बारिश और धूप में सवारियों को सड़क पर खड़ी होकर बस का इंत•ार करना पड़ता है। पीने के लिए पानी का कोई प्रबंध नहीं है। नगर कौंसिल द्वारा बनाए गए बस अड्डा नीचा होने के कारण बरसात के दिनों में गंदा पानी भर जाता है और लोगों को आने-जाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। लोगों की मांग है कि बस अडड़े को ऊंचा करके बनाया जाए। बस अड्डे से ही सवारियों को उतारा और चढ़ाया जाए। बस स्टैंड में गंदा पानी भरने से होती है परेशानी

समाज सेवक बाबा दविदर कौड़ा का कहना है कि बस अड्डे में गंदा पानी भरने से लोगों को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस समस्या को दूर किया जाए और बस स्टैंड को ऊंचा करके बनाया जाए। बसों को बस अड्डे के अंदर से होकर जाना जरूरी किया जाए।

लोगों की सुविधा के लिए कुछ नहीं किया जा रहा

राजा साहिब टैक्सी यूनियन बंगा के पूर्व प्रधान भूपिदर सिंह का कहना है कि बस अड्डे से नगर कौंसिल को हजारों रुपये की रोजाना आमदनी होती है, लेकिन लोगों की सुविधा के लिए कुछ नहीं किया है। टैक्सी यूनियन से 90 हजार रुपये सालाना और दूसरी यूनियन से भी इतना ही किराया बसूल किया जाता है। परन्तु बारिश के दिनों में यह बस अड्डा गंदे पानी का छप्पड़ा बन जाता है। उन्होंने मांग की कि इसमें सुधार किया जाए।

लोगों को गंदे पानी से होकर निकलना पड़ता है

गांव हप्पोवाल के किसान नेता निर्मल सिंह कंदोला का कहना है कि नगर कौंसिल को बीस से पच्चीस लाख रुपये की सालाना आमदन होती है। इसके बावजूद लोगों के लिए कोई सुविधा नहीं है। बस अड्डे में जमा गंदा पानी कई दिन तक नहीं सूखता है। लोगों को पानी के बीच में से होकर जाने को मजबूर होना पड़ रहा है। अनजान लोगों के व्हीकल पानी के बीच ही बंद ही जाते है और लोगों का नुकसान हो जाता है। नगर कौंसिल प्रधान बनते ही समस्या से निजात मिलेगी : ईओ

नगर कौंसिल के कार्यकारी अधिकारी (ईओ) राजीव ओबराय ने कहाकि नई कौंसिल के चुनाव हो गए हैं। प्रधान बनते ही इस मुश्किल का हल पहल के आधार पर किया जाएगा। लोगों को आ रही परेशानी से जल्द निजात दिलाई जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.