कैंप में लोगों को बताए परिवार नियोजन के उपाय

विश्व आबादी पखवाड़े के मौके पर सिविल सर्जन डा. रंजू सिगला के निर्देशों और सीएचसी चक्क शेरेवाला के एसएमओ डा. वरुण वर्मा की अगुआई में जागरूकता गतिविधियां की जा रही हैं।

JagranFri, 23 Jul 2021 03:30 PM (IST)
कैंप में लोगों को बताए परिवार नियोजन के उपाय

संवाद सूत्र, श्री मुक्तसर साहिब :

विश्व आबादी पखवाड़े के मौके पर सिविल सर्जन डा. रंजू सिगला के निर्देशों और सीएचसी चक्क शेरेवाला के एसएमओ डा. वरुण वर्मा की अगुआई में जागरूकता गतिविधियां की जा रही हैं। गांव फत्तनवाला में आयोजित एक बैठक के दौरान बीईई मनबीर सिंह ने कहा कि देश की आबादी का ते•ाी के साथ बढ़ना चिता का विषय है। उन्होंने कहा कि जैसे - जैसे हमारे देश की आबादी बढ़ती जाएगी उसी तरह हमें कुदरती साधनों, पानी, अनाज और रोजाना प्रयोग में आने वाली वस्तुओं की कमी का सामना करना पड़ेगा। बढ़ रही आबादी पर काबू पाने के लिए लड़के और लड़की की सही उम्र में शादी, पहला बच्चा देरी के साथ, बच्चों में कम से -कम तीन साल का अंतर रखें और छोटे परिवार को प्राथमिकता दें तो ही हम आबादी को कंट्रोल कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि विभाग की तरफ से अब यह पखवाड़ा 31 जुलाई तक चलाया जाएगा।

एएनएम कुलदीप कौर और एएनएम अमनदीप कौर ने कहा कि लोगों को बढ़ रही आबादी के बुरे प्रभावों बारे जागरूक करने के साथ-साथ परिवार भलाई के अस्थाई और स्थाई साधन अपनाने के बारे में भी जागरूक किया गया। उन्होंने कहा कि विवाह के बाद पति -पत्नी की तरफ से परिवार की योजनाबंदी कर लेनी चाहिए।

उन्होंने उपस्थित लोगों को परिवार भलाई के अलग -अलग तरीकों बारे जैसे छाया गोली, अंतरा टीका और 10 वर्षीय कापर -टी, स्थाई साधन जैसे नलबंदी और चीरा रहित नसबंदी करवाने के लिए प्रेरित किया। सीएचओ गुरमीत कौर ने बताया कि विभाग की तरफ से दस्त से होने वाली बच्चों की मौत दर को शून्य पर लेकर आने के लिए सघन दस्त नियंत्रण पखवाड़ा 19 जुलाई से दो अगस्त तक चलाया जा रहा है। जिसके अंतर्गत आशा वर्करों की तरफ से जीरो से पांच साल के बच्चों को घर-घर जा कर ओआरएस के पैकेट बांटे जा रहे हैं और लोगों को इस बारे में जागरूक किया जा रहा है। इस मौके पर गांव की आशा वर्कर और महिलाएं उपस्थित थी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.