पुलिस ने लगाया सेमिनार, नशे के बुरे प्रभावों से अवगत कराया

एसएसपी डी सुडरविली की हिदायतों के तहत जिले में नशा विरोधी सप्ताह मनाया जा रहा है। इसके तहत पुलिस की अलग-अलग टीमों द्वारा लोगों को नशे के बुरे प्रभावों के बारे में जागरूक किया जा रहा है। इसी के तहत डीएसपी हरविदरसिंह चीमा डीएसपीएच हेमंत शर्मा द्वारा गांव हरिके कलां में सेमिनार लगाया गया।

JagranSat, 19 Jun 2021 12:11 AM (IST)
पुलिस ने लगाया सेमिनार, नशे के बुरे प्रभावों से अवगत कराया

संवाद सहयोगी, श्री मुक्तसर साहिब : एसएसपी डी सुडरविली की हिदायतों के तहत जिले में नशा विरोधी सप्ताह मनाया जा रहा है। इसके तहत पुलिस की अलग-अलग टीमों द्वारा लोगों को नशे के बुरे प्रभावों के बारे में जागरूक किया जा रहा है। इसी के तहत डीएसपी हरविदरसिंह चीमा, डीएसपीएच हेमंत शर्मा द्वारा गांव हरिके कलां में सेमिनार लगाया गया। मुख्य थाना अधिकारी बरीवाला एसआइ रमन कुमार, गांव निवासी तथा समूह पंचायत उपस्थित थे। एएसआइ नायब सिंह नूरी की तरफ से नशे के बुरे प्रभावों के बारे में गीत पेश किया। स्टेज संचालन एएसआइ गुरजंट सिंह जटाना ने किया। डीएसपी ने कहा कि नशा करना मौत को बुलाना है। हमें अपनी जिदगी में कभी भी नशे का सेवन नहीं करना चाहिए। नशा करके व्हीकल चलाना बहुत ही नुक्सानदायक है, जिससे की हमें तो नुकसान पहुंचता ही है सामने वाले को भी इसका नुकसान होता है। डीएसपी एच ने कहा कि अगर आपके आसपास कोई नशा करता है तो उससे नफरत न करें, प्यार से उसे नशा न करने तथा नशे से होने वाले नुकसान के बारे में जानकारी दें। ताकि वह अपनी जिदगी को बचा सकें । इससे वह नशे से दूर होगा। उन्होंने लोगों से कहाकि नशा बेचने वालों की जानकारी पुलिस को दें ताकि उनको काबू करके नशे की चेन को तोड़ सकें। ये हमारी युवा पीढ़ी को बचाने के लिए जरूरी है। इसलिए सहयोग करें। इस मौके पर सोशल अवेयरनेस टीम के इंचार्ज एएसआइ हरमंदर सिंह, एएसआइ कासम अली, सिपाही समनदीप कुमार तथा समूह पंचायत तथा नगर निवासी उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.