विश्व में 3.77 करोड़ लोग एड्स से पीड़ित

सिविल सर्जन डा. रंजू सिगला के अनुसार तथा सीएचसी चक्क शेरेवाला में कार्यक्रम करवाया गया।

JagranPublish:Wed, 01 Dec 2021 03:42 PM (IST) Updated:Wed, 01 Dec 2021 05:36 PM (IST)
विश्व में 3.77 करोड़ लोग एड्स से पीड़ित
विश्व में 3.77 करोड़ लोग एड्स से पीड़ित

संवाद सूत्र, श्री मुक्तसर साहिब

सिविल सर्जन डा. रंजू सिगला के अनुसार तथा सीएचसी चक्क शेरेवाला के सीनियर मेडिकल अधिकारी डा. सुनील कुमार बांसल की अगुआई में ब्लाक के विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों में विश्व एड्स दिवस पर जागरूकता कैंप लगाए गए।

बीईई मनबीर सिंह ने बताया कि एचआईवी और एड्स के बचाव बारे में जागरूकता फैलाने के मंतव्य के साथ हर साल एक दिसंबर को विश्व एड्स दिवस मनाया जाता है। विश्व एड्स दिवस एचआईवी/एड्स बारे जागरूकता पैदा करने और महामारी के मद्देनजर अंतरराष्ट्रीय एकता का प्रदर्शन करने के लिए दुनिया भर के लोगों को इकट्ठा करता है। इस बार यह दिन असमानता का खात्मा, एड्स का अंत, महामारी का अंत विषय के साथ मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि एचआईवी/एड्स रोग देश में तेजी के साथ फैल रहा है। एचआईवी प्रमुख जनतक स्वास्थ्य मुद्दा बना हुआ है, जो दुनिया भर में लाखों लोगों को प्रभावित करता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के ताजा आंकड़ों के अनुसार साल 2020 में 3.77 करोड़ लोग एड्स के साथ पीड़ित थे। मेडिकल अधिकारी इंचार्ज डा. वरुण वर्मा और डा. जतिदर पाल सिंह ने कहा कि एचआईवी/ एड्स संक्रमित व्यक्ति के साथ असुरक्षित यौन संबंध, संक्रमित गर्भवती मां से होने वाले बच्चे को, संक्रमित व्यक्ति का खून चढ़ाने से और संक्रमित सीरिज या सुई के द्वारा फैलता है। एड्स की रोकथाम के लिए जरूरी है कि सुरक्षित यौन संबंध स्थापित किए जाएं और संक्रमित गर्भवती महिला का गर्भावस्था से ही उचित उपचार किया जाए। जरूरत पड़ने और एचआईवी जांच कराने के बाद ही खून चढ़ाया जाए। सिरिज और सुई की इस्तेमाल एक ही बार किया जाए। इन सावधानियों के बारे में जन जागरूकता लाने के लिए लोगों का एड्स की रोकथाम की मुहिम में शामिल होना बहुत जरूरी है, तब ही हम इसकी रोकथाम कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि एचआइवी वायरस हमारे शरीर के रोग प्रतिरोधक तंत्र को नष्ट करता है, एड्स बारे सावधानी और जानकारी होना ही इससे बचाव का एकमात्र उपाय है। एड्स रोग प्रति जागरूकता के साथ ही इस रोग के व्याप्त डर को दूर किया जा सकता है ताकि एड्स रोग के साथ भी नार्मल जिदगी बिताई जा सके।

इस मौके पर परमजीत सिंह, हैल्थ वर्कर मनजीत सिंह, गुरमेज सिंह, हरपाल सिंह, गगनदीप सिंह व सुनीता आदि भी मौजूद थे।