थाना प्रभारी के सिर पर बरछा लगने पर किया था लाठीचार्ज

थाना प्रभारी के सिर पर बरछा लगने पर किया था लाठीचार्ज

मोगा अवैध खनन विवाद में ताबड़तोड़ फायरिग करने के मामले में 21 दिन तक एक भी आरोपित को गिरफ्तार न करने व एक घायल व्यक्ति की मौत होने पर नाराज लोगों ने जब सोमवार रात को कस्बा धर्मकोट में थाने के बाहर चिता सजा ली तो विवाद गहरा गया। इस दौरान पुलिस ने थाने के बाहर की लाइटें बंद करके चिता पर कपड़ा डाल दिया।

Publish Date:Tue, 24 Nov 2020 06:21 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सहयोगी, मोगा

अवैध खनन विवाद में ताबड़तोड़ फायरिग करने के मामले में 21 दिन तक एक भी आरोपित को गिरफ्तार न करने व एक घायल व्यक्ति की मौत होने पर नाराज लोगों ने जब सोमवार रात को कस्बा धर्मकोट में थाने के बाहर चिता सजा ली, तो विवाद गहरा गया। इस दौरान पुलिस ने थाने के बाहर की लाइटें बंद करके चिता पर कपड़ा डाल दिया। प्रदर्शनकारियों ने इसका विरोध किया, तो पुलिस व प्रदर्शनकारियों में धक्का-मुक्की हुई। इसी दौरान एक करछा थाना प्रभारी धर्मकोट के सिर में लगने से वह लहूलुहान हो गए। यह देखकर बाद में पुलिस ने लाठियां भांजते हुए वहां से सभी प्रदर्शनकारियों को भगा दिया। उधर, सूचना मिलते ही डीएसपी धर्मकोट सुबेग सिंह मौके पर पहुंच गए थे। इस मामले में पुलिस ने 15 ज्ञात एवं 20 अज्ञात प्रदर्शनकारियों के खिलाफ जानलेवा हमला करने के आरोप में केस दर्ज किया है।

इस मामले के जांच अधिकारी एसआई मुखविदंर सिंह ने बताया कि थाना धर्मकोट के प्रभारी एसआइ गुरजिदर पाल सिंह को घायल हालत में सोमवार रात को ही सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

----------

यह है मामला

धर्मकोट के गांव रेड़वां में एक पक्ष के लोग अवैध रूप से रेत का खनन कर रहे थे। दूसरे पक्ष के लोगों को पता चला तो उन्होंने खनन कर रहे लोगों पर ताबड़तोड़ फायरिग कर दी थी। फायरिग में गोली लगने से तीन लोग घायल हुए थे। इनमें जगसीर सिंह पेट में गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गया था। उसकी इलाज के दौरान दो दिन पहले मौत हो गई थी। पुलिस ने इस मामले में निक्का सिंह पुत्र काला सिंह, गब्बर सिंह पुत्र काला सिंह, काला सिंह पुत्र नामलूम निवासी चुगा बस्ती धर्मकोट व कुलविदर सिंह पुत्र करनैल सिंह निवासी गांव रेड़वां समेत आठ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था, लेकिन गिरफ्तार किसी को नहीं किया था।

उधर, सोमवार रात को मामला तूल पकड़ने के बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर पहले लाठियां भांजीं और फिर 15 ज्ञात लोगों सहित 20 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

इस बारे में पुलिस ने सुखजीत सिंह पुत्र सरवन सिंह निवासी खोसा जालंधर देहाती, तरसेम सिंह पुत्र दलबीर सिंह निवासी भरत मटोला गुरदासपुर, जशनदीप सिंह पुत्र अवतार सिंह वासी सिघेवाला मुक्तसर, हरभजन सिंह पुत्र दीदार सिंह वासी कमला मिडडू जिला फिरोजपुर, गुरमीत सिंह पुत्र बलदेव सिंह निवासी लले जिला फिरोजपुर, संदीप सिंह पुत्र दीवान सिंह निवासी रेड़वां, बलजिदर सिंह पुत्र सुबेग सिंह निवासी रेड़वां, गुरमेल सिंह पुत्र जरनैल सिंह व बब्बू निवासी दाता आदि समेत 20 अज्ञात के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज करके उनकी तलाश शुरू कर दी है।

उधर, इस बारे में मृतक की मां का कहना है कि 21 दिन हो गए वह थाने का चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन पुलिस कोई सुनवाई नहीं कर रही है। उन्होंने कांग्रेस विधायक सुखजीत सिंह लोहगढ़ एवं एक अन्य नेता का नाम लेते हुए आरोप लगाया कि इन लोगों ने उनके बेटे की हत्या करने वाले से पैसे खा लिए हैं, यही आरोपितों को पकड़ने नहीं दे रहे हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.