मेरे पिड दीयां राहां दे पांधी पुस्तक का लोकार्पण किया

। नछत्तर सिंह धालीवाल भवन में मास्टर गुरजीत सिंह बराड़ की ओर से लिखी पुस्तक मेरे पिड दीयां राहां दे पांधी का लोकार्पण किया गया।

JagranMon, 29 Nov 2021 04:03 PM (IST)
'मेरे पिड दीयां राहां दे पांधी' पुस्तक का लोकार्पण किया

संवाद सहयोगी,मोगा

नछत्तर सिंह धालीवाल भवन में मास्टर गुरजीत सिंह बराड़ की ओर से लिखी पुस्तक 'मेरे पिड दीयां राहां दे पांधी' का लोकार्पण किया गया। इस समागम में बतौर मुख्यतिथि लेफ्टिनेंट कर्नल दलबीर सिंह सिद्धू व उनका परिवार पहुंचा।

सबसे पहले स्वागत के तहत गांव जय सिंह वाला पर बनाई दस्तावेजी फिल्म दिखाई गई। डा. सुरजीत सिंह दौधर ने पुस्तक को बखूबी से पेश किया। जय सिंह वाला की दोहती पूर्व प्रिसिपल कंवलबीर कौर ने पुस्तक लिखने की बधाई देते अपने गांव की पहली अध्यापिका माता धन्न कौर के बारे में विचार पेश किए और शिक्षा के प्रसार में उनके योगदान की सराहना की। एक्साइज विभाग नई दिल्ली की ज्वाइंट कमिश्नर स्मृति ने विचार पेश करते किताब द्वारा गांव की जिदगी से जोड़ने के लिए धन्यवाद किया। इस मौके पर डा. एमएस रंधावा की बेटी निर्मला नागरा, डा. अमृता सिद्धू दिल्ली विशेष तौर पर उपस्थित हुई।

प्रधानगी मंडल में लेफ्टिनेट कर्नल दलपीर सिंह, डा. बलदेव सिंह सड़कनामा, डा. सुरजीत सिंह दौधर, कर्नल अजीत सिंह, राजवंत कौर ने मेहमानों का धन्यवाद किया। अमीतोज धालीवाल ने साहित्य गीत पेश किया। लेक्चरर सुखमन्द्र सिंह व लेक्चरर चरणजीत सलीना ने बहुत प्यारे गीत पेश किए। प्रिसिपल सुरजीत सिंह काऊके, अशोक चुटानी व जागीर सिंह खोखर ने अपनी रचनाएं पेश कीं। चड़िक स्कूल के विद्यार्थी सनप्रीत सिंह व दिलप्रीत सिंह ने भी गीत पेश किए। इस मौके पर लेफ्टिनेट कर्नल दलबीर सिंह ने कहा कि मास्टर गुरजीत सिंह ने जय सिंह वाला को आधार बनाकरइतिहास से जोड़ने का प्रयास किया है, जो आने वाली पीढि़यों का मार्गदर्शन करेगी।

बलदेव सड़कनामा ने कहा कि गांव के बारे में खोज करके लिखी पुस्तक ने लेखकों को नई दिशा प्रदान की है। मास्टर गुरजीत सिंह बराड़ ने किताब लिखने में पेश आई समस्याओं के बारे में बताते सहयोगी सज्जनों का धन्यवाद किया। इस मौके पर जय सिंह वाला, जैमल वाला, चोटियां थोयबा, चंद नवां, चंद पुराना की पंचायतों के सदस्यों ने शिरकत की। मंच का संचालन लेक्चरर कुलवंत सिंह ने किया। इस मौके पर लेखक के एल गर्ग, डा. सुरजीत बराड़, परमजीत सिंह चूहड़चक्क, पूर्व लोक संपर्क अफसर ज्ञान सिंह, नंबरदार गुरसेवक सिंह, जगतार सिंह बावा, सरपंच बलजीत सिंह जय सिंह वाला, पूर्व सरपंच जगदीश सिंह चोटियां थोयबा, सरपंच वीर सिंह खोसा कोटला, चमकौर सिंह , हरबंस सिंह अखाड़ा, अवतार सिंह, भूपेन्द्र सिंह आदि उपस्थित थे। इस समागम में स्कूलों के अध्यापकों ने हिस्सा लेकर समागम को चार चांद लगाए।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.