तीनों स्ट्रीम में जिला टापर बनने पर किचलू स्कूल में जश्न का माहौल

। सीबीएसई के एक दिन पहले घोषित 12वीं कक्षा के परीक्षा परिणामों में डा.सैफुद्दीन किचलू मेमोरियल पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल के तीनों स्ट्रीम मेडिकल नान मेडिकल व कामर्स में जिला टापर बनने पर स्कूल में शनिवार को उत्सव जैसा माहौल रहा।

JagranSat, 31 Jul 2021 10:06 PM (IST)
तीनों स्ट्रीम में जिला टापर बनने पर किचलू स्कूल में जश्न का माहौल

जागरण संवाददाता.मोगा

सीबीएसई के एक दिन पहले घोषित 12वीं कक्षा के परीक्षा परिणामों में डा.सैफुद्दीन किचलू मेमोरियल पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल के तीनों स्ट्रीम मेडिकल, नान मेडिकल व कामर्स में जिला टापर बनने पर स्कूल में शनिवार को उत्सव जैसा माहौल रहा।

शानदार परीक्षा परिणाम देकर इतिहास रचने वाले विद्यार्थियों को स्कूल की प्रिसिपल हेमप्रभा सूद, डीन मलकीत सिंह ने स्कूल कैंपस में उन्हें स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। साथ ही बच्चों को भरोसा दिया कि भले ही वे प्लस-2 पास आउट करके स्कूल से विदा हो रहे हैं, लेकिन स्कूल का उनके साथ जीवन पर्यंत संबंध रहेगा, जब भी किसी भी बच्चे को किसी भी प्रकार की जरूरत महसूस होगी वह उनके साथ खड़ा रहेगा।

कामर्स ग्रुप में इन विद्यार्थियों को किया गया सम्मानित

रवनीत कौर 98.6 प्रतिशत, जिला टापर, पलक 98.2 प्रतिशत, स्कूल में दूसरा जिले में तीसरा स्थान हरिदर सिघल गिल 98 प्रतिशत अंक चौथा स्थान, मन्नतपाल 97.8 प्रतिशत अंक पांचवा स्थान, सहजलीन सिंह 97.6 प्रतिशत अंक छठा स्थान।

मेडिकल ग्रुप

पवनदीप कौर ने 97.6 प्रतिशत अंक, जिला टाप, जसमीत कौर बराड़ व नवरोज दीप कौर 97-97 प्रतिशत जिले में दूसरा स्थान, किरणजोत कौर 96.8 प्रतिशत अंक जिले में तीसरा स्थान।

नान मेडिकल

नान मेडिकल में जसप्रीत गुप्ता 97.2 प्रतिशत अंक जिला टाप, रूपमप्रीत कौर 96.4 प्रतिशत, जिले में दूसरा स्थान, 95.8 प्रतिशत अंक लेकर आनंद महाजन तीसरा स्थान। स्कूल में इस सफलता पर शनिवार को बच्चे ही नहीं बल्कि स्कूल स्टाफ भी एक दूसरे को बधाई देता दिखा। स्कूल के चेयरमैन सुनील गर्ग एडवोकेट ने कहा कि इस बार कोरोना के चलते परीक्षा न होने के कारण लोगों को ये भ्रम था कि बच्चे बिना परीक्षा देकर अच्छे नंबर पा जाएंगे, सच्चाई ये है कि इस बार की परीक्षा हर विद्यार्थी के लिए ज्यादा मुश्किल भरी थी। क्योंकि हर बार बोर्ड परीक्षा का मूल्यांकन उसके फाइनल परीक्षा के आधार पर होता है, जबकि इस बार जो परीक्षा परिणाम घोषित हुआ है, उसके लिए बोर्ड ने बच्चे के पिछले तीन साल की परफोर्मेंस, इस साल के दोनों प्री बोर्ड1, 2 की परफोर्मेंस के साथ ही स्कूल की तीन साल की परफोर्मेंस का औसत निकालकर बच्चों का परिणाम घोषित किया है। इससे साफ है कि जिन बच्चों ने पिछले दो साल में अपनी परफारमेंस में अच्छा सुधार किया है, ऐसे बच्चे दसवीं के परिणाम को भी कंसीडर किए जाने कारण अंतिम साल में अच्छा प्रदर्शन करते हुए भी पीछे रह गए, अगर परीक्षा हो जाती, तो स्कूल के बच्चों के परिणाम इससे भी कहीं ज्यादा बेहतर होते। इसके बावजूद जो परिणाम आया है वह बेमिसाल है, स्कूल स्टाफ की मेहनत व समपर्ण का फल है, उन्होंने सभी बच्चों को इस शानदार सफलता पर शुभकामनाएं दीं। एक नहीं, तीन साल के आधार पर आया रिजल्ट

कामर्स की जिला टापर रवनीत कौर, मेडिकल की पवनदीप कौर व मेडिकल के जसप्रीत गुप्ता वे तीनों नाम हैं, जिन्होंने दसवीं से अब तक बेहतर प्रदर्शन करते रहे, मन्नतपाल के 10वीं में अंक अच्छे नहीं थे, लेकिन स्कूल बदलने पर 11वीं व 12वीं में टाप किया, लेकिन दसवीं के अंक शामिल होने से वे इस बार पांचवे स्थान पर खिसक गईं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.