गिरफ्तार पार्षद बोले, साजिश के तहत फंसाया गया, शिकायतकर्ता बोला-महिला को कीटनाशक भी सिद्धू ने ही लाकर दिया था

महिला को आत्महत्या के लिए विवश करने के आरोप में गिरफ्तार किए गए शिअद पार्षद रा¨जदर सिद्धू को थाना थर्मल पुलिस ने अदालत में पेश किया, जहां से उसे 15 दिन की न्यायिक हिरासत में सेंट्रल जेल भेज दिया।

JagranTue, 29 May 2018 06:22 PM (IST)
गिरफ्तार पार्षद बोले, साजिश के तहत फंसाया गया, शिकायतकर्ता बोला-महिला को कीटनाशक भी सिद्धू ने ही लाकर दिया था

जागरण संवाददाता, ब¨ठडा : महिला को आत्महत्या के लिए विवश करने के आरोप में गिरफ्तार किए गए शिअद पार्षद रा¨जदर सिद्धू को थाना थर्मल पुलिस ने अदालत में पेश किया, जहां से उसे 15 दिन की न्यायिक हिरासत में सेंट्रल जेल भेज दिया।

अदालत परिसर में पार्षद ने खुद को बेकसूर बताते हुए गुरुद्वारा ¨सह सभा के प्रधान व मौजूदा पार्षद सिधू ने कहा कि पुलिस ने साजिश के तहत उसके खिलाफ उक्त केस दर्ज किया है। जबकि शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसे शक है कि महिला को आत्महत्या करने के लिए कीटनाशक भी पार्षद ने ही लाकर दिया था।

एसएचओ शिव चंद ने बताया कि उक्त केस वार्ड नंबर 29 के पार्षद तरलोच ¨सह की शिकायत पर दर्ज किया गया। पुलिस को दिए बयान में उसने बताया कि उसके पड़ोस में रहने वाले उनके रिश्तेदार की 22 वर्षीय बेटी की शादी गांव जोधपुरा रोमाना निवासी फौजी के साथ हुई थी। उसका पति बीएसएफ में है, और इन दिनों उसकी पो¨स्टग असम के त्रिपुरा में है। लिहाजा पति की गैरमौजूदगी में वह अपने माता-पिता के घर में रह रही थी। इस 26 फरवरी को वह घर से दवा लेने के लिए गई और फिर वापस नहीं लौटी। अगले दिन उन्हें पता चला कि सिविल अस्पताल के शवगृह में उसका शव पड़ा हुआ है। उसके पिता ने पुलिस को दिए बयान में यह कहा था कि वह गर्भवती थी, मगर उसके पेट में पल रहे बच्चे का ठीक से विकास नहीं हो पाया था। इसलिए वो परेशान रहा करती थी। जिसके चलते तब पुलिस ने धारा 174 के तहत कार्रवाई की। वहीं पिछले कुछ दिनों से एक ऑडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था। जिसमें आरोपित रा¨जदर सिद्धू उस युवती के साथ अश्लील भाषा में बातें करता सुनाई दे रहा है। इसमें वह शिकायतकर्ता पार्षद तरलोच ¨सह के खिलाफ भी बोलता सुनाई दे रहा है। तरलोच ¨सह ने कहा कि वो दोनों की आवाज को अच्छे से पहचानता है। सिद्धू ने जो भाषा इस्तेमाल की है, उसे सुन कर बदनाम होने के डर से श्यामली ने अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली।

हमले के मामले में पेश होने आया था, धर लिया

आरोपित पार्षद सिद्धू अपने खिलाफ पहले से दर्ज घर में घुस कर मारपीट के आरोप में दर्ज केस को लेकर सोमवार रात थाना थर्मल में गिरफ्तारी देने के लिए गए थे। मगर आत्महत्या को उकसाने वाले मामले में जांच पूरी कर चुकी पुलिस ने मौका देखते ही उसे धर दबोचा। उक्त मामले में गुरु गो¨बद ¨सह नगर निवासी महावीर ¨सह ने 22 मई को प्रेस क्लब में कांफ्रेंस करके पुलिस पर उसे गिरफ्तार न करने के आरोप भी लगाए थे। उसका आरोप था कि अकाली पार्षद ने बेटे व एक दर्जन साथियों समेत 11 मई को घर में घुस उसके बेटे अनमोल ¨सह पर हमला किया था। मगर केस दर्ज करने के बाद भी पुलिस दोनों को गिरफ्तार नहीं कर रही। उस मामले में पलिस पार्षद के बेटे को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।

तीमारदारी में जुटी रही पुलिस, आरोपित पार्षद को कोल्ड ¨ड्रक की व्यवस्था

आम तौर पर अदालत में लाए जाने वाले अपराधियों के प्रति कड़े तेवर रखने वाली पुलिस ने शिअद पार्षद के मामले में बेहद नर्म रवैया अपनाए रखा। आरोपित पार्षद बिना किसी हथकड़ी अपने समर्थकों व चाहने वालों के साथ अदालत में पहुंचा। अदालत के बाहर वे¨टग हाल में पार्षद व उसके साथियों के लिए कोल्ड ¨ड्रक की व्यवस्था की गई। उसके बाद भी पुलिस अधिकारी अदालत के अंदर कागजी कार्रवाई करते रहे, जबकि पार्षद बाहर अपने साथियों के साथ बातचीत में मशगूल नजर आया।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.