लुधियाना के जगराओं में मनाया नौजवान दिवस, तिहाड़ जेल से जमानत पर आए किसान नेता प्रदीप का किया सम्मान

किसान संघर्ष के नेता प्रदीप सिंह का सम्मान करते हुए किसान संगठनों के सदस्य।

लुधियाना के जगराओं में संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर स्थानीय रेल पार्क में चल रहे प्रदर्शन के 149वें दिन मेंं सैकड़ों किसान मजदूर नौजवान शामिल हुए। इस दौरान अब तक इस किसान संघर्ष में शहीद हुए किसानों को 2 मिनट का मौन धारण करके श्रद्धांजलि भेंट की गई।

Vinay kumarSat, 27 Feb 2021 12:24 PM (IST)

जगराओं, जेएनएन। लुधियाना के जगराओं में संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर स्थानीय रेल पार्क में चल रहे प्रदर्शन के 149वें दिन मेंं सैकड़ों किसान मजदूर नौजवान शामिल हुए। इस मौके पिछले दिनों किसान आंदोलन में गिरफ्तार किए गए और तिहाड़ जेल से जमानत पर रिहा होकर आए गांव बंगसीपुरा के नौजवान प्रदीप सिंह का मोर्चे पर पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया गया। इस मौके किसान नेता राम शरण सिंह रसूलपुर, जगत सिंह लीला, निर्मल सिंह भुमाल, परिवार सिंह गालिब और परमजीत सिंह की अगुवाई में पहुंचे बड़े का काफिलों का जोरदार नारों के बीच स्वागत किया गया। इस दौरान अब तक इस किसान संघर्ष में शहीद हुए किसानों को 2 मिनट का मौन धारण करके श्रद्धांजलि भेंट की गई। इस मौके पर दलजीत कौर हठूर ने गुरु रविदास जी का शब्द गायन किया।

युवा नेता सर्वजीत कौर अखाड़ा, गुरप्रीत सिंह सिधवां, रणजीत सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि इस संघर्ष में अनुशासन, अमन शांति और धैर्य की शक्ति ही काले कानून को रद्द करवाने के लिए एकमात्र रास्ता है । उन्होंने युवा वर्ग को आह्वान देते हुए कहा कि किसान में मजदूर संघर्ष की जीत देश की जवानी के जोश और होश के साथ बंधी हुई है। किसान यूनियन और जनतक संगठनों द्वारा तिहाड़ जेल से वापस लौटे प्रदीप सिंह बंगसीपुरा और किसान संघर्ष के साथ पहले दिन से ही से जुड़े उसके पिता मोहन सिंह बंगसीपुरा को शहीद भगत सिंह की तस्वीर भेंट करके सम्मानित किया गया।

इस मौके हलवारा के सुरजीत सिंह धालीवाल कनेडीयन द्वारा किसान संघर्ष के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करने पर उनका भी सम्मान किया गया। इस अवसर पर इप्टा की नाटक टीम लाइफ ऑन स्टेज के कलाकारों द्वारा प्रसिद्ध नाटक 'डरना' पेश करके किसान संघर्ष को मंच पर जीवित कर दिखाया। आज की भूख हड़ताल में गांव अखाड़ा से किसान मजदूर शामिल हुए। जिनमें पंचायत सदस्य बिक्कर सिंह, निर्मल सिंह, जसवीर सिंह, कर्मजीत सिंह सोही, हरनेक सिंह, रणजीत सिंह, बलजीत सिंह और हरजीत सिंह शामिल हुए। इस मौके राम शरण सिंह रसूलपुर, निर्मल सिंह भुमाल, हरबंस सिंह अखाड़ा ने संबोधित करते हुए कहा कि किसान मजदूर संघर्ष केंद्र सरकार की हर चाल को फेल करके बेखौफ आगे बढ़ रहा है।

प्रसिद्ध नाटककार सुरेंद्र शर्मा ने अपने गंभीर और भावुक भाषण में नौजवान वर्ग को भगत सिंह बनने का आह्वान करते हुए पुस्तकों के साथ जुड़ने के लिए प्रेरित किया। लोकनेता कमलजीत खन्ना ने रेल पारक जगराओं में संघर्ष मोर्चा पर गुरु रविदास महाराज के प्रकट दिवस पर और शहीद चंद्रशेखर आजाद के शहीद दिवस पर उन्हें याद किया।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.