त्योहारों में नहीं होने देंगे धार्मिक चित्रों की बेअदबी, सेवा संस्था ने कसी कमर

धार्मिक चित्रों की बेअदबी को लेकर हुई बैठक के दौरान उपस्थित संस्था के सदस्य।
Publish Date:Thu, 22 Oct 2020 12:29 PM (IST) Author: Vipin Kumar

खन्ना, जेएनएन। 'सेवा' संस्था की एक बैठक आगामी त्यौहारों के दौरान होने वाले धार्मिक चित्रों की बेअदबी को लेकर हुई। जिसमें श्री गुरबाणी स्टडी सर्कल के कार्यकर्ताओं ने विशेष रूप से शिरकत की। बैठक में सभी ने त्योहारों के दौरान होने वाली धार्मिक चित्रों व चिन्हों की बेअदबी पर रोष जताया और प्रशासन की ओर से कोई कार्रवाई न होने से कार्यशैली पर प्रश्न चिन्ह लगाया। इस दौरान जनता से भी ऐसे सामान व सजावट न खरीदने की अपील की जिसमें बाद में धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचती हो।

इस दौरान आगामी त्योहारों में देवी-देवताओं व गुरुओं के चित्रों वाले पटाखे, कपूर की टिक्कियों, सिंधुर के पैकेट, पैकिंग का सामान, कैलेंडर आदि के बेचने पर पाबंदी की मांग की गई। वहीं जनता को भी अपील की गई कि ऐसे सामान को खरीदने से खुद ही मना करें ताकि सामान बनाने वाली कंपनियों तक यह संदेश जा सके। लोगों से अपील करते हुए सेवा के सदस्यों ने कहा कि इस तरह के चित्र लगा कर बेचने से ग्राहक की सहानुभूति हासिल की जाती है । इसके बाद यह कूड़ेदान या पैरों के नीचे आने पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचती है। जिसपर प्रशासन को संज्ञान लेते हुए अभी निर्देश जारी करने चाहिए यदि कोई नहीं मानता और ऐसे सामान बेचता है तो उसपर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए पर्चा दाखिल हो ।

इस मौके पर सेवा के अध्यक्ष अनुज छाहड़िया, स्टडी सर्कल के संयोजक भाई हरभजन सिंह रागी, सरपरस्त एडवोकेट स्वर्ण सिंह संधू, अमरदीप सिंह पुरेवाल, रविन्द्र रवि, गोल्डी तिवाड़ी, शेखर बग्गन, मेवा सिंह, गुरमीत सिंह, लखवीर सिंह, अमरिंदर सिंह, दर्शन सिंह, रशिम विजन, सुरिंदर कंसल, राजन छिब्बर, नरिंदर सिंह, गुरबिंदर सिंह, अमर सिंह, लक्की धीमान, आशु लटावा आदि उपस्थित रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.