लुधियाना में UCPMA का चुनाव तीन सितंबर को, चुनाव अधिकारी के नाम पर हंगामा

लुधियाना में यूनाइटेड साइकिल एंड पाट्र्स मैन्यूफेक्चरर एसोसिएशन (यूसीपीएमए) के चुनाव को लेकर सियासत गरमा गई है। बैठक में चुनाव अधिकारी के नाम पर मतभेद इतना बढ़ कि बहसबाजी के बाद नारेबाजी तक की नौबत आ गई। चुनाव को लेकर इंडस्ट्री दो गुटों में बंट गई है।

Vinay KumarThu, 29 Jul 2021 07:23 AM (IST)
लुधियाना में यूसीपीएमए की बैठक में बवाल, पूर्व प्रधान व कई वरिष्ठ सदस्यों ने बैठक में जाने से रोका।

लुधियाना [मुनीश शर्मा]। लुधियाना में यूनाइटेड साइकिल एंड पाट्र्स मैन्यूफेक्चरर एसोसिएशन (यूसीपीएमए) के चुनाव को लेकर सियासत गरमा गई है। चुनाव की तारीख बुधवार को घोषित कर दी गई। तीन सिंतबर को एसोसिएशन के चुनाव होंगे। इसके लिए प्रक्रिया 21 अगस्त से शुरू हा जाएगी। वहीं, बैठक में चुनाव अधिकारी के नाम पर मतभेद इतना बढ़ कि बहसबाजी के बाद नारेबाजी तक की नौबत आ गई। चुनाव को लेकर इंडस्ट्री दो गुटों में बंट गई है। आने वाले दिनों में कई तरह के आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो जाएगा। मैनेजिंग कमेटी की बैठक में हर बार बबाल हो देखते हुए इस बार मौजूदा प्रधान डीएस चावला ने सिर्फ कमेटी के 70 सदस्यों के ही बैठक में शामिल होने की अपील की थी। प्रशासन ने बैठक के लिए तहसीलदार स्तर के अधिकारी को पुलिस बल के साथ तैनात किया था। इस दौरान कई पूर्व अध्यक्ष और साइकिल इंडस्ट्री के वरिष्ठ सदस्यों को बैठक में शामिल नहीं होने दिया गया। इसके खिलाफ उद्यमियों ने नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। हालांकि यह पहली बार नहीं था कि चुनाव से पहले होने वाली बैठक में बवाल न हुआ हो।

दोनों गुटों ने अपने-अपने चुनाव अधिकारी किए घोषित

चुनाव अधिकारी को लेकर उद्यमी दो गुटों में बंट गए हैं। मैनेजिंग कमेटी के सामने डीएस चावला ने चुनाव अधिकारी के लिए एडवोकेट परोपकार सिंह घुम्मन, एडवोकेट मनतरण सिंह सहित प्रधान डीएस चावला और महासचिव मनजिंदर सिंह सचदेवा का नाम रखा गया। वहीं, महासचिव मनजिंदर सिंह सचदेवा ने गुरमीत सिंह कुलार को प्रिजाइडिंग अधिकारी बनाने की बात कही गई। इसमें उपकार सिंह आहुजा और हरमिंदर सिंह के नाम पर भी चर्चा हुई। दोनों गुटों ने अपने-अपने चुनाव अधिकारी घोषित किए हैं।

मैनेजिंग कमेटी की सहमति से घुम्मन को बनाया है चुनाव अधिकारी

प्रधान डीएस चावला का कहना है कि परोपकार सिंह घुम्मन को चुनाव अधिकारी बनाया गया है। उन्हें बैठक में बबाल की आशंका था इसलिए जिला प्रशासन को इसमें शामिल किया गया था। कुछ लोग माहौल खराब करना चाहते हैं लेकिन चुनाव पारदर्शी तरीके से ही करवाए जाएंगे।

हमें महासचिव ने फोन कर बुलाया था

विश्वकर्मा इंडस्ट्री के एमडी एवं पूर्व प्रधान चरणजीत सिंह विश्वकर्मा का कहना है कि उन्हें महासचिव मनजिंदर सचदेवा ने फोन कर बुलाया था। हमें पत्र भी भेजे गए थे। वहां पर पहले से पुलिस बल तैनात था। कई वरिष्ठ सदस्यों को अंदर नहीं जाने दिया गया। पहले कभी एसोसिएशन में ऐसा माहौल नहीं देखा।

प्रशासन बुलाए वार्षिक बैठक

एसोसिएशन के महासचिव मनजिंदर सिंह सचदेवा का कहना है कि वह जिला प्रशासन से मांग करेंगे कि 18 अगस्त को एसोसिशन की वार्षिक बैठक बुलाई जाए। जबकि डीएस चावला ने कहा कि वह सभी सदस्यों की सूची के साथ जिला प्रशासन को अनुमति के लिए कह चुके हैं। कोविड प्रोटोकाल को देखते हुए प्रशासन इसकी अनुमति देता है तो उन्हें कोई एतराज नहीं है।

चुनाव प्रक्रिया ....

- बकाया जमा करवाने की तारीख : 21 अगस्त

- मतदाता सूची लगाने की तारीख : 24 अगस्त

- मतदाता सूची पर एतराज : 25 अगस्त

- अंतिम मतदाता सूची : 26 अगस्त

- नामांकन : 27 से 30 अगस्त

- नामांकन वापसी : 31 अगस्त

- मतदान : तीन सितंबर

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.