लुधियाना के कंगनवाल ब्लाइंड मर्डर की गुत्थी सुलझी, नशे में हुए झगड़े के बाद दोस्तों ने की थी हत्या

हत्या की वारदात की जानकारी देती पुलिस। (जागरण)

26 फरवरी की रात 10 बजे वह तीनों उस प्लाट में बैठकर नशा कर रहे थे। शैंटी पर नशा हावी हो गया था। वह उनके साथ गाली-गलौज करने लगा। शैंटी कद काठी में दोनों से तगड़ा था। उसने दोनों के थपड़ भी मारे।

Vipin KumarTue, 02 Mar 2021 01:39 PM (IST)

लुधियाना, जेएनएन। कंगनवाल इलाका स्थित फैक्ट्री के प्लाट में दबे मिले युवक के शव मामले को पुलिस ने हल कर लेने का दावा किया है। अंधे कत्ल की गुत्थी को सुलझाते हुए पुलिस ने दो हत्यारोपितों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए दोनों अभियुक्त मरने वाले युवक के दोस्त थे। पुलिस का दावा है कि दोनों ने उसकी इसलिए हत्या कर दी, क्योंकि रात के अंधेरे में शराब और चिट्टे का नशा करने के बाद तीनों के बीच झगड़ा हो गया था। तैश में आए दोनों आरोपितों ने मरने वाले शैंटी पांडेय का चाकू निकाल कर उसकी हत्या कर दी। हत्या को सुनिश्चित करने के लिए दोनों ने मेडिकल वाली गर्म पट्टी से उसका गला भी घोंट दिया। बाद में शव को छिपाने के लिए उस पर मिट्टी डाल दी और फरार हो गए।

जेसीपी देहाती सचिन गुप्ता ने बताया कि आरोपितों की पहचान शिमला पुरी के बरोटा रोड स्थित गुरु गोबिंद सिंह नगर निवासी पवन ठाकुर तथा डाबा के ढिल्लों नगर की गली नंबर 3 निवासी रोशन कुमार के रूप में हुई। रोशन मूल रूप से बिहार के पटना स्थित थाना गौरीचक्क के गांव लखना तथा पवन नैनीताल का रहने वाला है। 26 फरवरी की रात जब मृतक शैंटी पांडेय अपने घर नहीं पहुंचा तो उसके परिवार ने थाना शिमला पुरी में उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई। दूसरी और थाना साहनेवाल पुलिस ने 28 फरवरी को कंगनवाल इलाके से एक अज्ञात युवक का शव बरामद किया। पुलिस ने उस शव संबंधी जानकारी पुलिस की एप गुमशुदा पर अपलोड कर दी। जिसे देख कर थाना शिमला पुरी पुलिस ने शैंटी के परिजनों को थाना साहनेवाल भेज दिया। वहां उन लोगों ने मृतक शव की पहचान शैंटी पांडेय के रूप में कर ली।

आरोपित शैंटी के गहरे दोस्त

शव की पहचान के बाद पुलिस को हत्यारों तक पहुंचना था। पुलिस ने जब शैंटी के परिवार से पूछताछ की तो पता चला कि दोनों आरोपित शैंटी के गहरे दोस्त हैं। 26 फरवरी की शाम वो दोनों ही उसे घर से बुला कर अपने साथ ले गए थे। इतना पता चलते ही पुलिस के शक की सूई दोनो की तरफ घूम गई। दोनों के घराें में दबिश देेने पर वो फरार मिले। जिसके बाद पुलिस की टीमें बना कर उनकी तलाश में लगाई गईं। मंगलवार सुबह दोनों को जीटी रोड स्थित रिलायंस पेट्रोल पंप के पास से उस समय काबू कर लिया गया। जब वो दोनों वहां से फरार होने के लिए किसी सवारी की तलाश में पहुंचे थे। पूछताछ में दोनों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

पत्थर से चेहरा कुचला

आरोपितों ने बताया कि 26 फरवरी की रात 10 बजे वह तीनों उस प्लाट में बैठकर नशा कर रहे थे। शैंटी पर नशा हावी हो गया था। वह उनके साथ गाली-गलौज करने लगा। शैंटी कद काठी में दोनों से तगड़ा था। उसने दोनों के थपड़ भी मारे। तैश में आकर उसने अपने कपड़ों में छिपाकर रखा चाकू निकाला। मगर पीछे खड़े पवन ने वो चाकू छीन कर उसके माथे पर वार कर दिया। जिससे वो बेहोश होकर जमीन पर गिर गया। उसके घायल होनेे पर दोनों को यह डर सताने लगा कि होश में आने पर वो उन्हें नहीं छोड़ेगा। डर के मारे दोनों ने पट्टी से गला दबा कर उसकी हत्या कर दी। पत्थर से उसका चेहरा कुचल कर उस पर मिट्टी डाल कर कवर कर दिया। मगर उसका हाथ बाहर ही रह गया। रात का अंधेरा होेने के कारण उसका हाथ दोनों को नजर भी नहीं आया। उसी हाथ को देख कर 28 फरवरी के दिन बच्चों ने शोर मचाया और पुलिस को सूचना दी थी। एसएचओ बलविंदर सिंह ने कहा कि दोनों से कड़ी पूछताछ की जा रही है। उन्हें बुधवार अदालत में पेश किया जाएगा।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.