Tokyo Olympics 2020: मुक्केबाज सिमरनजीत काैर की सफलता के लिए दुआओं का दाैर, मां ने गुरुद्वारे में की अरदास

Tokyo Olympics 2020 बचपन से ही मुक्केबाज सिमरनजीत कौर में जिंदगी में कुछ करने का जज्बा था। मां का कहना है कि हमारी बेटी भी ओलिंपिक में पदक जीतेगी। मुक्केबाज सिमरनजीत कौर का छोटा भाई मुक्केबाज अर्शदीप सिंह भी अपनी बहन के नक्शेकदम पर चल रहा है।

Vipin KumarSun, 25 Jul 2021 12:50 PM (IST)
मुक्केबाज सिमरनजीत कौर से बढ़ी उम्मीदें। (फाइल फाेटाे)

जगराओं, (लुधियाना) [बिंदु उप्पल]। Tokyo Olympics 2020: मुक्केबाज सिमरनजीत कौर से देश काे उम्मीदें बढ़ गई हैं। टोक्यो में ओलिंपिक-2020 में हिस्सा लेने गई मुक्केबाज सिमरनजीत कौर के लिए दुआओं का दाैर शुरू हाे गया है। मां का कहना है कि बेटी ओलिंपिक में पदक जीतेगी। दैनिक जागरण ने ओलिंपिक-2020 में सिमरनजीत कौर के गांव के सदस्यों से बातचीत की तो सभी ने शुभकामनाएं दी।

सिमरनजीत कौर की मां राजपाल कौर। (जागरण)

मां राजपाल कौर ने कहा कि सिमरनजीत कौर का मैच 30 जुलाई को सुबह साढ़े नौ बजे है और उसकी सफलता के लिए पूर्णमासी पर गुरुद्वारा नानकसर कलेरां वाले जगराओं में जाकर अरदास करके आई हूं। क्योंकि ज्यों-ज्यों मैच के दिन नजदीक आ रहे है त्यों-त्यों दिल की धड़कने तेज हो रही है और हर समय अरदास करती रहती हूं कि वाहेगुरु मेरी बेटी काे मेहनत का फल दे।

बेटी में जिंदगी में कुछ करने का जजबा

सरकारी कन्या हाई स्कूल हठूर की सांइस टीचर रविंदरजीत कौर ने गांव चक्र की मुक्केबाज सिमरनजीत कौर को बचपन से बाॅक्सिंग खेलते देख रही है। उन्होंने ओलिंपिक में सिमरनजीत कौर का खेले जाने की सराहना करते कहा कि बचपन से ही इस बेटी में जिंदगी में कुछ करने का जजबा था। उसको शुभकामनाएं देते हुए कहा कि सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे अकसर जिंदगी में मेहनत कर कामयाब होते है जोकि सिमरनजीत कौर करके दिखा रही है।

अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर जरूर सफल होंगी सिमरनजीत

पंजाब पुलिस में जांलधर में कांस्टेबल तैनात शविंदर कौर ने बताया कि करीब चार वर्ष मुक्केबाज सिमरनजीत कौर के साथ मिलकर गांव चक्र की अकादमी में इकट्ठे प्रेक्टिस की है और मुझे उसकी ताकत का पता है कि वह ओलिंपिक में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर सफलता जरूर प्राप्त करेगी। उन्होंने मुक्केबाज सिमरनजीत कौर को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि सिमरनजीत अपने लक्ष्य पर पहुंचेगी।

बहन के नक्शेकदम पर चलना लक्षय

मुक्केबाज सिमरनजीत कौर का छोटा भाई मुक्केबाज अर्शदीप सिंह भी अपनी बहन के नक्शेकदम पर चल रहा है। उसने नेशनल स्तर पर 2019 में सिल्वर पदक जीता हुआ है और अब मोहाली की पंजाब इंस्टीट्यूट आफ स्पोटर्स में प्रशिक्षण ले रहा है। मुक्केबाज अर्शदीप सिंह ने कहा कि जब भी सिमरनजीत कौर घर आती है तब उसको मुक्केबाजी की बारीकियां सिखाती है। ताकि मैं भी उसकी तरह मुक्केबाजी में कामयाब हो जाऊं। मेरी वाहेगुरु से अरदास है कि मेरी बहन जीत कर भारत का नाम रोशन करें।

पिता के सपने काे पूरा कर रही दीदी

मुक्केबाज सिमरनजीत कौर का छोटा भाई कमलप्रीत सिंह जोकि कबड्डी का खिलाड़ी है वो अपनी बहन की यहां तक की सफलता पर खुश है। उसने कहा कि मुझे बहुत खुशी है कि मेरी बड़ी बहन ओलंपिक तक पहुंच गई और पिता के सपने को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.