पीएयू लुधियाना की तीनों यूनियनों ने रोष मार्च निकाला, वीसी व रजिस्ट्रार के जारी किए पत्र फूंके

पंजाब कृषि विश्वविद्यालय की तीन यूनियनाें ने रोष मार्च निकाला। (जेएनएन)
Publish Date:Tue, 20 Oct 2020 12:00 PM (IST) Author: Vipin Kumar

लुधियाना, जेएनएन। पंजाब कृषि विश्वविद्यालय की तीन यूनियनाें ने मंगलवार को मांगों को लेकर से वीसी व रजिस्ट्रार द्वारा जारी किए गए पत्राें को फूंका। सुबह साढ़े दस बजे के करीब पीएयू इंप्लाइज यूनियन, पीएयू टीचर्स एसोसिएशन व पीएयू फोर्थ क्लास वर्कस यूनियन से जुड़े पांच सौ से अधिक कर्मचारी थापर हाल के बाहर एकत्रित हुए और मुलाजिम विरोधी नीतियों को लेकर वीसी और रजिस्ट्रार के खिलाफ नारेबाजी की। इससे सुबह नौ बजे से यूनियन आफिस से रोष मार्च निकाला।

धरने के दौरान पीएयू इंप्लाइज यूनियन के प्रधान बलदेव सिंह वालिया, पीएयू टीचर एसोसिएशन के प्रधान डा. हरमीत सिंह किंगरा व पीएयू फोर्थ क्लास वर्कर यूनियन के प्रधान कमल सिंह ने कहा कि यूनिवर्सिटी के वीसी व रजिस्ट्रार द्वारा पंजाब सरकार की हिदायतों को न मानते हुए मुलाजिमों की मांगों व तरक्की रोकी जा रही है।

इसके विरोध में अब तीनों संगठन मिलकर तब तक संघर्ष करेंगे, जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं हो जाती। उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ी तो भूख हड़ताल औऱ यूनिवर्सिटी के बाहर आकर विरोध प्रदर्शन करेंगे। यूनियन नेताओं ने कहा कि इस बार आरपार की लड़ाई के लिए हम तैयार है। उनकी मांग है कि नाै जुलाई 2102 तक भर्ती हुए मुलाजिमों व पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला के आधार पर पुरानी पेंशन स्कीम लागू की जाए। टेक्नीकल स्टाफ की तरक्की के लिए अनुभव के समय को घटाया जाए। जेई व एसडीओ की तररक्की की पोस्टें तुरंत भरी जाएं।

स्टोर कीपरों की खाली पोस्टों को भरा जाए। डीपीएल व कांट्रेक्ट पर काम कर रहे मुलाजिमों को पक्का किया जाए। इसके अलावा जूनियर व सीनियर अनामली के पेंडिंग पड़े केसों का निपटारा किया जाए।इस मौके पर मनमोहन सिंह, लाल बहादुर यादव, गुरप्रीत सिंह ढिल्लो, डॉ केएस संघा, दलजीत  सिंह व कमल कुमार अादि माैजूद थे। 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.