किशोर को बातों में उलझाकर 45 हजार ले उड़े नौसरबाज

किशोर को बातों में उलझाकर 45 हजार ले उड़े नौसरबाज

सलेम टाबरी पंजाब नेशनल बैंक में किशोर को झांसे में लेकर दो नौसरबाज उससे 45 हजार रुपये लूटकर फरार हो गए।

Publish Date:Fri, 04 Dec 2020 01:15 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, लुधियाना : सलेम टाबरी पंजाब नेशनल बैंक में किशोर को झांसे में लेकर दो नौसरबाज उससे 45 हजार रुपये लूटकर फरार हो गए। थाना सलेम टाबरी पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। इंस्पेक्टर गोपाल कृष्ण ने बताया कि सलेम टाबरी के सरूप नगर निवासी प्रदीप कुमार ने शिकायत दर्ज करवाई है। उसने बताया कि बुधवार दोपहर बाद तीन बजे उसका 17 वर्षीय बेटा शरद कुमार बैंक में पैसे जमा कराने के लिए गया था। वहां लाइन में उसके पीछे खड़े व्यक्ति ने फार्म भरने की बात कह कर उसे बातों में उलझा लिया। उसने बताया कि वो अमृतसर से आया है। उसे बैंक में दो लाख रुपये जमा कराने हैं। बाहर ले जाकर उसने शरद को एक पैकेट पकड़ाते हुए कहा कि फार्म भरने से पहले वो रुपये गिन भी ले। उसने शरद को बातों में लेकर कहा कि जब तक वो उनके रुपये गिनेगा, तब तक उसका साथी उसके पैसे जमा करा देता है। उसने दवाब बना कर उसके 45 हजार शरद से लेकर अपने साथी को दे दिए। जिसे लेकर वो बैंक के अंदर चला गया। उसके हाथ में पैकेट थमा कर एक मिनट में आने को बोलकर दूसरा नौसरबाज भी गायब हो गया। शरद ने बैंक के अंदर जाकर चेक किया तो उसके पैसे लेकर अंदर गया व्यक्ति भी वहां नहीं था। उसने पैकेट खोल कर देखा तो उसमें कागज का बंडल निकला। उसके बाद उसने अपने पिता को फोन करके घटना की जानकारी दी। गोपाल कृष्ण ने कहा कि बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरों में से नौसरबाजों की फुटेज मिली है, जिसे कब्जे में लेकर छानबीन की जा रही है।

बच्चों की सुरक्षा को लेकर किया जागरूक

इधर, दर्शन अकादमी लुधियाना में बुरे टच से बच्चे अपने आप को कैसे बचाएं विषय पर वेबिनार का आयोजन किया गया। यह वेबिनार नर्सरी से तीसरी कक्षा तक के बच्चों के लिए रहा। एसपीएस अस्पताल की बाल रोग विशेषज्ञ डा महक बंसल ने सेशन में हिस्सा लिया। इस वेबिनार में बच्चों के अभिभावक भी शामिल हुए। डा. महक ने कहा कि छोटे बच्चे अक्सर बुरे टच का शिकार हो जाते हैं। इसके लिए एक पीपीटी दिखाकर अभिभावकों को बच्चों की सुरक्षा को लेकर जागरूक किया। प्रधानाचार्या राजदीप कौर औलख ने भी छात्रों और अभिभावकों के साथ बातचीत की और उन्हें सावधान रहने के लिए प्रोत्साहित किया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.