शिक्षकों ने नहीं लेने दिया बच्चों का पोस्ट टेस्ट, कई स्कूलों से खाली हाथ लौटी टीमें

जेएनएन, लुधियाना। शिक्षा विभाग की ओर से पढ़ो पंजाब पढ़ाओ पंजाब प्रोग्राम के तहत प्राइमरी स्कूल के विद्याथियों का पोस्ट टेस्ट करवाया गया। पर जिले में अध्यापकों ने इस टेस्ट का बायकाट कर दिया। कई स्कूलों में यह टेस्ट हुआ और कई में नहीं हुआ। अध्यापकों ने स्कूलों में पहुंची टीमों को टेस्ट लेने नहीं दिया। सबसे पहले सुबह नौ बजे के करीब पढ़ो पंजाब पढ़ाओ पंजाब की एक टीम जब पोस्ट टेस्ट करवाने के लिए सरकारी प्राइमरी स्कूल मानकवाल में पहुंची, तो वहां के अध्यापकों ने अपने स्कूल के विद्यार्थियों का टेस्ट लेने से मना कर दिया। टीम ने पहले डीईओ और फिर पुलिस को सूचना दी।

अध्यापक संघर्ष कमेटी को पता चला तो लुधियाना वन के 51 स्कूलों के अध्यापक भी स्कूल में ही पहुंच गए। अध्यापकों ने पंजाब सरकार और शिक्षा सचिव कृष्ण कुमार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए धरना लगा दिया। विरोध की खबर मिलने पर सुबह साढ़े दस बजे डीईओ सेकेंडरी स्वर्णजीत कौर मौके पर पहुंची। उन्होंने अध्यापकों को समझाने की कोशिश की, लेकिन वे नहीं माने। अध्यापकों ने डीईओ से साफ कहा कि वे यह टेस्ट नहीं होने देंगे। विरोध को बढ़ता देखकर पुलिस को बुलाया। इसके बाद एक दर्जन से अधिक पुलिस मुलाजिम मौके पर पहुंचे। फिर अध्यापक स्कूल के अंदर ही धरना लगाकर बैठ गए।

प्रदर्शन कर रहे कमेटी के सदस्य सुखपाल सिंह, मनजीत सिंह, सुखदेव सिंह, अवतार सिंह, हिमांशु, अकाशदीप, जगजीत सिंह, अंजिल, बरजिंदर सिंह ने कहा कि पढ़ो पंजाब पढ़ाओ पंजाब प्रोग्राम के तहत पोस्ट टेस्ट प्रोजेक्ट का शिक्षण प्रक्रिया के साथ कोई सरोकार न होकर गैर अकादमिक, गैर वैज्ञानिक और बाल मानसिकता पर बोझ है। सरकार ने जो विद्यार्थियों को किताबें लगाई हैं, वह पढ़ाई नहीं जा रही। अगर बच्चों को किताबें पढ़ाई नहीं जानी तो लगाई क्यों हैं। अध्यापकों ने कहा कि वह पढ़ो पंजाब पढ़ाओं पंजाब का पूर्ण रूप से बायकॉट करते हैं।

उधर दोपहर को सरकारी प्राइमरी स्कूल औंतवाल व सरकारी प्राइमरी स्कूल भिंडरां में भी पढ़ो पंजाब पढ़ाओ पंजाब की टीम को बैरंग लौटा दिया गया। इसके बाद शाम पांच बजे से छह बजे तक मांगट वन, मांगट टू, मांगट थ्री के तीन ब्लॉकों के 150 स्कूलों के शिक्षकों ने एकत्रित होकर केसरगंज मंडी चौक में पढ़ो पंजाब पढ़ाओ पंजाब प्रोजेक्ट के विरोध में शिक्षा सचिव कृष्ण कुमार का पुतला फूंका। अध्यापकों ने कहा कि तीनों ब्लाकों में पड़ते प्राइमरी स्कूलों में पोस्ट टेस्ट को होने नहीं दिया गया। पढ़ो पंजाब पढ़ाओ पंजाब प्रोजेक्ट बंद होना चाहिए।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.