आइसोलेशन वार्ड में कार्यरत स्टाफ नर्सों को छह माह से नहीं मिला वेतन

आइसोलेशन वार्ड में कार्यरत स्टाफ नर्सों को छह माह से नहीं मिला वेतन
Publish Date:Thu, 24 Sep 2020 03:35 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, लुधियाना : सिविल अस्पताल के कोविड आइसोलेशन सेंटर में अलग-अलग वार्ड व सैंपलिंग के लिए नियुक्त की गई स्टाफ नर्सों को छह महीने से वेतन नहीं मिला है। वेतन न मिलने की वजह से नर्सों की आर्थिक स्थिति बेहद खराब हो गई है। नर्सों ने सिविल सर्जन डॉ. राजेश बग्गा के समक्ष अपनी समस्या रखी।

स्टाफ नर्स सुखविंदर कौर, जगपाल कौर, सर्बजीत कौर, सुखविदरजीत कौर, लवलीन कौर, परमजीत कौर, रजनी, सरोज बाला, मनजिदर कौर ने बताया कि अस्पताल में कार्यरत 12 स्टाफ नर्सो को अप्रैल से लेकर अब तक वेतन नहीं दिया गया, जबकि वह आइसोलेशन वार्ड में फ्रंटलाइन पर डयूटी कर रहीं हैं। वेतन न मिलने को लेकर कई बार अस्पताल के सीनियर मेडिकल अफसरों को सूचित किया है, लेकिन इसके बाद भी वेतन नहीं दिया गया है। स्टाफ नर्सों ने चेतावनी दी कि एक सप्ताह के भीतर वेतन नहीं दिया गया, तो वह संघर्ष का रास्ता अपनाएंगी। राहत : शहर में सिर्फ एक कोरोना पॉजिटिव

जागरण संवाददाता, खन्ना : खन्ना सिविल अस्पताल में किए गए टेस्टों में बुधवार को 12 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। हालांकि इनमें से खन्ना शहर का मात्र एक ही मामला है। 10 मामले लुधियाना शहर के और ओक अन्य जिले का है। एसएमओ डॉ. राजिंदर गुलाटी ने बताया कि बुधवार को खन्ना सिविल अस्पताल स्टाफ की तरफ से 394 लोगों के सैंपल लिए गए हैं। इनमें से 246 आरटीपीसीआर और 148 रेपिड टेस्टिग किट से लिए गए। गुरमीत कुलार को मिला 'कोरोना योद्धा' का सम्मान जागरण संवाददाता, लुधियाना : फेडरेशन ऑफ इंडस्ट्रियल एवं कमर्शियल ऑर्गेनाइजेशन (फीको) के प्रधान व शिरोमणि अकाली दल विधानसभा आत्म नगर के प्रभारी गुरमीत सिंह कुलार को रामगढि़या अकाल जत्थेबंदी की ओर से कोरोना योद्धा का अवॉर्ड देकर सम्मानित किया गया है।

संस्था के प्रधान जसविंदर सिंह सग्गू की अध्यक्षता में उन्हें यह अवॉर्ड दिया गया। इस अवसर पर वरिष्ठ उपप्रधान नरेन्द्र सिंह दहेला, उपप्रधान जसवीर सिंह मनकू, महासचिव सुखविंदर सिंह लौटे, मीडिया प्रभारी सुखविदर सिंह उपस्थित थे। सग्गू ने कहा कि कुलार ने कोविड-19 के समय में 6000 जरूरतमंद परिवारों को राशन और रोजाना 3000 से अधिक व्यक्तियों के लिए लंगर सेवा की व्यवस्था की। वह लगातार मशीन से शहर को सैनिटाइज करवा रहे हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.