Snatching in Patiala: ​​​​​शाही शहर में लुटेरे बेखाैफ, थाने से 100 मीटर दूरी पर पुलिस मुलाजिम की मां से स्नैचिंग

Snatching in Patiala ​​​​​थाने से 100 मीटर दूरी पर एक पुलिस मुलाजिम की मां के कानों की बालियां स्कूटी सवार ने झपट ली। परमिंदर कौर ने बताया कि उनका बेटा एसएसपी ऑफिस पटियाला में सिपाही तैनात है। जिसे तुरंत फोन कर दिया और घटना के बारे में जानकारी दी।

Vipin KumarTue, 10 Aug 2021 04:35 PM (IST)
थाने से 100 मीटर दूरी पर पुलिस मुलाजिम की मां से स्नेचिंग। (सांकेतिक तस्वीर)

जागरण संवाददाता पटियाला। Snatching in Patiala: थाने से 100 मीटर दूरी पर एक पुलिस मुलाजिम की मां के कानों की बालियां स्कूटी सवार ने झपट ली। यह घटना 4 अगस्त शाम 7:30 बजे की है, जिसके बाद स्नेचिंग की शिकार महिला परमिंदर कौर निवासी भाखड़ा एंक्लेव मालोमाजरा तुरंत पुलिस थाने पहुंची और शिकायत दर्ज करवा दी। थाना पसियाना पुलिस ने मामले की जांच के बाद 9 अगस्त को आरोपित के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। फिलहाल पुलिस को आरोपित की स्कूटी का नंबर मिल गया है लेकिन आरोपित की पहचान अभी नहीं हो पाई है।

परमिंदर कौर ने बताया कि वह काम से मार्केट जा रही थी। इस दौरान हरबंस नर्सिंग होम हाजीमाजरा मार्केट के पास स्कूटी सवार उनके पीछे आया और कानों से 2 ग्राम वजन की बालियां छीन ली। उन्होंने स्कूटी सवार आरोपित युवक को आवाज भी लगाई कि उसकी गाड़ी का नंबर नोट कर लिया है, वह जल्द पकड़ा जाएगा। इस वजह से बलिया वापस कर दे यह सुनने के बाद भी आरोपित मौके से फरार हो गया। परमिंदर कौर ने बताया कि उनका बेटा एसएसपी ऑफिस पटियाला में सिपाही तैनात है। जिसे तुरंत फोन कर दिया और घटना के बारे में जानकारी दी। पुलिस ने घटनास्थल के नजदीक लगे एक सीसीटीवी कैमरे से फुटेज हासिल कर ली है। जिसके जरिए दो संदिग्ध को हिरासत में भी लिया गया है। 

लोगों से पूछताछ चल रही है।स्कूटी पर लगा रखा था फॉर्च्यूनर का नंबर पसियाना पुलिस द्वारा केस में दर्ज किए गए एक्टिवा नंबर की चेकिंग शुरू की गई तो पता चला कि स्कूटी पर लगाया गया नंबर फार्च्यूनर गाड़ी के नाम पर ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट में दर्ज है। यह फार्च्यूनर गाड़ी एडवोकेट मूसा खान के नाम पर रजिस्टर्ड है। एडवोकेट मूसा खान ने कहा कि गाड़ी का नंबर उतरवाने के बाद उन्होंने एक्टिवा पर लगवाना था लेकिन अभी लगाया नहीं है। यह एक राजनीतिक साजिश चल रही है जिसकी वह तहकीकात करवा रहे हैं। स्नैचिंग के फर्जी मामले में उनका नाम लिखने की कोशिश की जा रही है ताकि बदनाम किया जा सके। वो एसएसपी से मिलने के बाद इस मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग करेंगे।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.