top menutop menutop menu

लुधियाना में प्रॉपर्टी डीलर की हत्या कर खुद अस्पताल में भर्ती हुआ नौकर, कार्यालय में शव बरामद

लुधियाना, जेएनएन। शहर के मल्हार रोड पर प्रॉपर्टी डीलर के कार्यालय में नौकर ने मालिक की हत्या कर दी और खुद अस्पताल में भर्ती हो गया। पूरे दिन प्रॉपर्टी डीलर के परिजन उसे फोन करते रहे मगर किसी ने फोन नहीं उठाया। जब शनिवार को देर शाम स्वजनों ने आकर कार्यालय का शटर खोला तो प्रॉपर्टी डीलर शमशेर अटवाल का शव अंदर पड़ा हुआ था।

मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भिजवा दिया। वही दूसरी तरफ नौकर को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस को संदेह है कि नौकर ने ही अटवाल की हत्या कर वहां से पैसे लूटे हैं। मामले के अनुसार भाई रणधीर सिंह नगर ब्लॉक आइ में रहने वाले 60 वर्षीय शमशेर अटवाल मल्हार रोड पर नेशनल प्रॉपर्टी के नाम से कार्यालय चलाते थे।

वह सुबह तकरीबन दस बजे वह घर से कार्यालय आए थे। उनकी पत्नी बाद दोपहर से उनके नंबर पर फोन कर रही थीं। मगर वह फोन नहीं उठा रहे थे, इसके बाद उनकी पत्‍‌नी ने नंबर बदलकर फोन किया तो उनके नौकर मुनीष ने फोन उठाया और कहा कि वह दीपक अस्पताल में है। जब अटवाल की पत्‍‌नी अपने रिश्तेदारों को लेकर कार्यालय पहुंचीं तो देखा कि कार्यालय के एक शीशे के एक दरवाजे को भी ताला लगा था। वह अस्पताल पहुंचे तो नौकरी चाबी देने में ही आनाकानी करने लगा और कहा कि वह चाबी पुलिस को ही देगा।

बाद में उससे चाबी लेकर शटर खोला गया तो अंदर शमशेर अटवाल का शव पड़ा था। उनके शरीर पर तेजधार हथियार के जख्म हैं। पांच दिन पहले रखा था नौकर शीशे पर भी लगा मिला रक्त शमशेर अटवाल ने दो दुकानों में कार्यालय बनाया हुआ है।

यहां पर रांची मोहल्ला के मुनीश को पांच दिन पहले ही नौकरी पर रखा था। एक दुकान में वेटिंग रूम और दूसरे में सीटिंग की जगह है। उनका शव वेटिंग एरिया में ही पड़ा मिला है और वहां कार्यालय में कई जगहों पर खून के धब्बे मिले हैं। जिससे पुलिस को शक है कि उसकी हत्या के बाद हत्यारे ने खुद कार्यालय की तलाशी भी ली है।

पेट और छाती पर हैं घाव

पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल में रखवा दिया है। उसका पूरा शरीर खून से सना हुआ मिला है। प्राथमिक जांच में पता चला है कि उनके पेट और छाती पर गहरे घाव के निशान हैं।

पुलिस से बोला नौकर, मुझे मारने लगा था मालिक

नौकर ने प्राथमिक पूछताछ में पुलिस को बताया कि उसे लगा था कि उसका मालिक शमशेर उसे मारना चाहता है और इसी लिए ही उसने वहां पड़े चाकू और बेसबैट से उस पर कई वार किए, जिससे शमशेर की मौत हो गई। नौकर मुनीश ने बताया कि वह काफी समय तो कार्यालय में ही बैठा रहा और उसके बाद शमशेर की गाड़ी लेकर 11 बजे के आसपास जाकर अस्पताल में दाखिल हो गया। एसीपी जतिंदर सिंह चोपड़ा ने कहा कि पुलिस ने आरोपित मुनीष को हिरातस में लिया है। उसके हाथों पर भी चोट के निशान हैं। अभी उससे पूछताछ की जा रही है और जल्द ही पूरे मामले से पर्दा उठ जाएगा।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.