शिअद पर भड़ेक राजेवाल, कहा- किसान संघर्ष पर अंगुली उठाने वालों को देंगे करारा जवाब

संयुक्त किसान मोर्चे का नेतृत्व कर रहे किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल मंगलवार को माछीवाड़ा पहुंचे। इस दौरान राजेवाल शिरोमणि अकाली दल पर भड़के और कहा कि किसान संघर्ष पर अंगुली उठाने वालों को करारा जवाब दिया जाएगा।

JagranWed, 22 Sep 2021 07:14 AM (IST)
शिअद पर भड़ेक राजेवाल, कहा- किसान संघर्ष पर अंगुली उठाने वालों को देंगे करारा जवाब

संसू, श्री माछीवाड़ा साहिब : संयुक्त किसान मोर्चे का नेतृत्व कर रहे किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल मंगलवार को माछीवाड़ा पहुंचे। इस दौरान राजेवाल शिरोमणि अकाली दल पर भड़के और कहा कि किसान संघर्ष पर अंगुली उठाने वालों को करारा जवाब दिया जाएगा। राजेवाल ने कहा कि शिअद नेताओं ने किसान मोर्चे को बदनाम करने के लिए बेतुकी बयानबाजी करते हुए आरोप लगाया कि संघर्ष में काफी कुछ गलत हो रहा है। उन्होंने कहा कि शिअद को मानना होगा कि उनके शासनकाल में हुआ बेअदबी की घटनाओं के चलते लोग उनसे नाराज हैं।

राजेवाल ने कहा कि लोग पूछते हैं कि अकाली दल का डेरा सच्चा सौदा मुखी राम रहीम के साथ क्या संबंध रहे हैं। उन्होंने कहा कि हरसिमरत कौर बादल ने केंद्रीय मंत्री का पद सिर्फ दिखावे के लिए छोड़ा, जबकि सच्चाई यह है कि जब यह कानून के पास करने को लेकर केंद्रीय कैबिनेट मीटिग हुई तो उसमें शिरोमणि अकाली दल ने विरोध ही नहीं किया।

इस मौके माछीवाडा के किसान नेता जत्थेदार मनमोहण सिंह खेडा, अमरीक सिंह धारीवाल, सुखविदर सिंह भट्टियां, चित्रकार जगदीश सिंह बराड़, तेजिदर सिंह कून्नर, गुरनाम सिंह नागरा, जगन्नाथ, मोहण सिंह लक्खोवाल, बलवीर सिंह मान, हरविदर सिंह शेरियां, मनराज सिंह लुबाणगढ़, करमजीत सिंह अढ्यिाना, हरदीप सिंह भट्टियां, मनजीत सिंह इराक आदि मौजूद रहे। दिल्ली में अकाली दल का रोष प्रदर्शन भाजपा की मिलीभगत से हुआ

बलबीर राजेवाल ने कहा कि हैरानी की बात है कि जब किसान दिल्ली में प्रदर्शन करने जाते हैं तो उनको राजधानी के दो किलोमीटर बाहर ही गिरफ्तार कर लिया जाता है, परंतु जब शिरोमणि अकाली दल रोष प्रदर्शन करने गया तो उनके नेता खुलेआम दिल्ली के अंदर पहुंच गए। इससे स्पष्ट हो गया कि यह रोष प्रदर्शन अकाली दल और केंद्र की भाजपा सरकार की मिलीभगत से ही हुआ है। राजेवाल ने कहा कि शिअद नेता वहां किसान समर्थन में गए थे, लेकिन वे सुखबीर सिंह बादल के ही नारे लगाते नजर आए।

मुख्यमंत्री चन्नी आम किसान की तरह धरने में आएं, मंच सांझा नहीं करने देंगे

पंजाब के नए मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी द्वारा किसान संघर्ष में शामिल होने पर प्रतिक्रिया करते बलबीर सिंह राजेवाल ने कहा कि जिस तरह आम किसान धरने में शामिल होते हैं, वे उसी तरह आ सकते हैं। संयुक्त किसान मोर्चे द्वारा किसी भी राजनीतिक पार्टी के नेता को मंच सांझा करने की इजाजत नहीं दी जायेगी। 27 सितंबर को भारत बंद के बुलावे पर उन्होंने लोगों से अपील करते कहा कि किसानी संघर्ष के लिए साथ देते हुए अपनी दुकानें बंद रखें।

कहा- 300 अरब की रेलवे 13 अरब में बेचने की तैयारी में केंद्र

राजेवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी कारपोरेट घरानों को खुश करने में लगे हैं। देश का रेलवे विभाग 300 अरब का है, जिसको केवल 13 अरब में मुकेश अंबानी को बेचने की तैयारी की जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार अब तक कई रेलवे स्टेशन बेच चुकी है। अमृतसर का हवाई अड्डा भी बेच दिया गया है, जिस पर अदानी का बोर्ड जल्द लग जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.