पंजाब की महाठग ये महिला, बैंक में नौकरी दिलाने का झांसा दे ठगे एक करोड़; पुलिस इंस्पेक्टर तक को नहीं छोड़ा

पटियाला की गोगी कौर (30) और उसके पति अमनदीप सिंह पर आरोप है कि उन्होंने बैंक में नौकरी लगवाने का झांसा दे भादसों रोड स्थित जस्सोवाल गांव व आसपास के आठ लोगों को 98 लाख रुपए का चूना लगाया है।

Pankaj DwivediSun, 25 Jul 2021 02:59 PM (IST)
आरोपित गोगी कौर नौकरी लगने पर बधाई देने का नाटक करवा भरोसा जीत लेती थी। (फाइल फाेटाे)

जागरण संवाददाता, पटियाला। बैंक में नौकरी दिलाने का झांसा देकर लोगों से करीब 1 करोड़ रुपये ठगने वाली महिला और उसके पति पर पंजाब पुलिस ने केस दर्ज किया है। महिला ने पति के साथ मिलकर पिछले कुछ वर्षों में भादसों रोड स्थित जस्सोवाल गांव व आसपास के गांव के आठ लोगों को 98 लाख रुपए का चूना लगाया है।आरोप है कि उसने साल 2017 में 98 लाख रुपये लेने के बाद नौकरी नहीं दिलवाई। लोगों के पैसे वापस मांगने पर उसने चेक भरकर लौटाए थे, जो बाउंस हो गए। साल 2019 को पटियाला पुलिस के पास पहुंची शिकायत की करीब डेढ़ साल तक लंबी जांच चली। अर्बन एस्टेट पुलिस थाना ने ठगी के शिकार हरविंदरजदीत सिंह निवासी गांव जस्सोवाल की शिकायत पर आरोपित महिला गोगी कौर (30) और उसके पति अमनदीप सिंह निवासी विद्या नगर, करहेड़ी नजदीक पंजाबी यूनिवर्सिटी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। फिलहाल, आरोपित फरार हैं।

किसी ने जमीन बेची तो किसी ने आढ़ती से लेकर दिए पैसे

हरविंदरजीत सिंह ने बताया कि उनका जानकार व्यक्ति गोगी कौर के पास ड्राइवरी करता था। उसके जरिए साल 2017 को उसकी उससे मुलाकात हुई थी। कई महीने तक चली बातचीत के बाद भरोसा हो गया तो हरविंदरजीत सिंह ने अपनी भतीजियों, अन्य रिश्तेदारों व दोस्तों ने नौकरी के लिए पैसे देने की हामी भर दी। गोगी ने प्रति व्यक्ति करीब 8 लाख रुपए मांगे थे और इन लोगों को तब स्टेट बैंक आफ पटियाला में नौकरी लगाने का झांसा दिया था। भरोसा होने पर किसी ने अपनी जमीन बेच दी तो किसी ने आढ़ती के पास पैसे लेकर आरोपित महिला को दे दिए। महिला ने सभी पैसा कैश में लिया था। साल 2017 में पैसे दिए लेकिन एक साल तक नौकरी नहीं मिली तो पैसा वापस मांगने पर करीब 75 लाख रुपए के चेक दिए। यह चेक बाउंस होने पर पुलिस को शिकायत कर दी थी।

भरोसा जताने के लिए दिखाती थी फर्जी अप्वाइंटमेंट लेटर

आरोपित महिला ने ठगी करने के लिए पहले तो सभी लोगों को अपने भरोसे में लेने की कोशिश की लेकिन कुछ लोगों ने एतराज जता दिया। इसके बाद उसने अपने ड्राइवरों के जरिए लोगों द्वारा उसके पैर छूने व नौकरी लगने पर बधाई देने का नाटक करवा प्रभाव बनाया। इसके बाद लोगों को फर्जी अप्वाइंटमेंट लेटर तक दिखाए, तब जाकर लोगों ने पैसा दिया था।

पुलिस अधिकारी तक को लगाया चूना

महिला के खिलाफ राजपुरा पुलिस थाना में साल 2018 में पांच लाख रुपये से अधिक ठगी का मामला दर्ज हुआ था। इसके अलावा खन्ना, लुधियाना, में भी केस दर्ज है। गोगी कौर ने फिरोजपुर के एक इंस्पेक्टर रैंक के पुलिस अधिकारी के पंजाबी यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले बच्चों को नौकरी का झांसा देकर ठग लिया था। ठगी के शिकार हरविंदरजीत सिंह ने कहा कि इन सभी का रिकार्ड उन्होंने जुटाने के बाद पुलिस को सौंपे हैं।

कई जिलों में ठगी के बाद गांव में एंट्री बंद

हरविंदरजीत सिंह ने कहा कि जब उन्हें ठगी होने का पता चला तो वह आरोपित महिला की तलाश में उसके घर पहुंचे। यहां पर उसके पति ने बताया कि साल 2018 में इन लोगों का तलाक हो चुका है। आरोपित गोगी कौर घग्गा के नजदीक गांव खेड़ी नगाईंयां की रहने वाली है, जहां की पंचायत ने कहा कि महिला की ठगी की आदत के कारण गांव में उसकी एंट्री बंद कर दी है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.