top menutop menutop menu

कर्मचारियों व पेंशनर्स सांझा फ्रंट ने फूंका पंजाब सरकार का पुतला, बोले- सरकार हर फ्रंट पर फेल

जगराओं (लुधियाना), जेेएनएन। पंजाब रोडवेज कर्मचारी और पेंशनर्स सांझा फ्रंट ने बुधवार को डिपो के गेट पर सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का पुतला फूंका। प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते अवतार सिंह गगड़ा महासचिव पेंशनर्स यूनियन पंजाब ने कहा कि कैप्टन सरकार को तीन वर्ष से अधिक का समय हो चुका है पर उसने सत्ता में आने से पहले किए वादे पूरे नहीं किए हैं। सरकार ने घर-घर नौकरी देने, कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने, वेतन कमीशन की रिपोर्ट जारी करने, पुरानी पेंशन बहाल करने, डीए की किश्तों का बकाया जारी करने, खाली पदों को भरने आदि का वादा किया था जो कि अब तक अधूरे हैं।

उलटे सरकार ने कोरोना महामारी और लॉकडाउन की आड़ में कई पदों को खत्म कर थर्मल प्लांट बंद कर दिया है। अब कर्मचारियों का मोबाइल भत्ता कम कर दिया है लेकिन विधायकों को मोबाइल भत्ता 15 हजार रुपये महीना दिया जा  रहा है। इससे पहले सरकार ने कर्मचारियों से 200 रुपये मासिक डेवलपमेंट, भत्ते के नाम पर काटना शुरू किया है। सरकार की इन गलत नीतियों के खिलाफ कर्मचारियों में भारी रोष है। सरकार फ्रंट पर फेल हो चुकी सूबे में नकली शराब पीने से हुई मौतों कारण सरकार की निंदा की। उन्होंने कहा कि 6 अगस्त से क्लेरिकल स्टाफ पंजाब की कलमछोड़ हड़ताल का भरपूर समर्थन किया जाएगा।

इस मौके पर मोर्चा के स्वर्ण सिंह हठूर, पृथपाल सिंह पंडोरी, डिपो के प्रधान जगसीर सिंह नौरी, धर्मेंद्र सिंह बसियां, कुलदीप सिंह खैहरा, हरमीत सिंह, रसाल सिंह, परमजीत सिंह, बलजीत सिंह बिल्लू, जगदीश सिंह, कर्मंजीत सिंह पंडोरी, अनूप कुमार, अमृतपाल सिंह, अरुणदीप सिंह ने भी सरकारी नीतियों का विरोध किया।

 

 

 

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.