Punjab: कांग्रेस अध्यक्ष सिद्धू का किसानाें ने किया विराेध, डेढ घंटा रैली में देरी से पहुंचे; फरीदकाेट में लगे गाे बैक के नारे

सिद्धू ने सुखबीर बादल और हाल ही में घोषित 18 सूत्रीय प्रोग्राम पर हमला किया। वहीं बादलों की बसाें से परमिट पर प्रति किलोमीटर ₹1 कम लिए जाने के मामले पर उन्होंने पूर्व बादल सरकार पर प्रहार किए पर अपनी सरकार पर ही उंगली उठा बैठे।

Vipin KumarThu, 05 Aug 2021 01:37 PM (IST)
माेगा की मेयर सिद्धू के पैर छूती हुई। (जागरण)

जासं, माेगा/फरीदकोट। पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजाेत सिंह सिद्धू काे वीरवार काे माेगा में किसानाें के विराेध का सामना करना पड़ा। किसानों के तीखे विरोध के कारण सिद्धू करीब डेढ़ घंटा देरी से मोगा के प्राइम फार्म में आयोजित रैली में पहुंच सके। इस दाैरान माेगा की मेयर निकिता भल्ला ने सिद्धू के पैर छूकर आर्शावाद लिया। 27 मिनट के संबोधन में  सिद्धू ने सुखबीर बादल और हाल ही में घोषित 18 सूत्रीय प्रोग्राम पर हमला किया। वहीं बादलों की बसाें से परमिट पर प्रति किलोमीटर ₹1 कम लिए जाने के मामले पर उन्होंने पूर्व बादल सरकार पर प्रहार किए पर अपनी सरकार पर ही उंगली उठा बैठे। इसके अलावा फरीदकोट में सिद्धू का विरोध करने पहुंचे बेरोजगाराें ने गो बैक के नारे लगाए। पुलिस ने जब उन्हें रास्ते में रोका ताे धरना लगाकर बैठ गए।

कांग्रेस प्रधान नवजाेत सिंह सिद्दू ने ताज पैलेस में पहुंचते ही क्रिकेटर के अंदाज में लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। पूरा पैलेस वर्करों से खचाखच भरा है। यहां दो हजार से ज्यादा जिले के वर्कर पैलेस में मौजूद है। मंच पर कार्यकारी प्रदेश प्रधान पवन गोयल भी मौजूद है। सिद्धू ने पुराने दावे दोहराते हुए कहा निजी कंपनियों के साथ बिजली समझौता को रद करके पंजाब में आने वाली कांग्रेस सरकार इन कंपनियों से 65,000 करोड़ रुपये की वसूली करेगी। सिद्धू ने अपना और पिता का नाम लेते हुए वचन दिया कि वे पंजाब में आने वाले विधानसभा चुनाव में सरकार बनाकर माफिया मुक्त सरकार देंगे। हालांकि इस दौरान वह दाे साल पहले मोगा को 100 करोड़ देने का वादा भूल बैठे।

नवजोत सिंह सिद्धू ने भ्रष्टाचार और माफिया राज पर जमकर प्रहार किए लेकिन मंच पर भी हाल ही में वन विभाग की जमीन पर अवैध रूप से चल रहे कृषि के मामले में विवादों में घिरे बाघापुराना से कांग्रेस विधायक दर्शन सिंह बराड़ साथ बैठे रहे। पूरे भाषण में माफियाओं पर हमला करते हुए उन्होंने दर्शन सिंह बराड़ के मामले का कोई जिक्र नहीं किया।

उधर, बाबा फरीद टिल्ला से नतमस्तक होकर मालवा में सक्रिय होने की हसरत कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्दू की वीरवार को नहीं पूरी हो पा रही है। अब वह बाबा फरीद टिल्ला की जगह 12वीं सदी के महान सूफी संत बाबा शेख फरीद की चरणछोह स्थल माई गोदड़ी साहिब नतमस्तक होंगे। सिद्दू के फरीदकोट शहर व बाबा फरीद टिल्ला नहीं जा पाने का कारण फरीदकोट शहर में निकलने वाली ऐतिहासिक झंडा शोभायात्रा है।

 यह भी पढ़ें-दिल्ली में संसद के बाहर टकराव, कड़वाहट लुधियाना में; अकाली दल ने यूथ कांग्रेस दफ्तर का किया घेराव

 

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.