PU Senate Poll: पीयू सीनेट चुनाव काे लेकर असमंजस, कोविड-19 के चलते चुनाव होंगे या नहीं, अभी तय नहीं

PU Senate Poll पिछले सप्ताह मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सीनेट चुनाव कराए जाने को लेकर उप राष्ट्रपति को पत्र लिखा है लेकिन अभी किसी तरह की कोई स्पष्टता नहीं है कि पीयू सीनेट चुनाव होंगे या फिर नहीं।

Vipin KumarTue, 17 Nov 2020 02:20 PM (IST)
पीयू सीनेट चुनाव चुनाव को लेकर असमंजस बरकरार है। (फाइल फोटो)

लुधियाना, [राधिका कपूर]। पंजाब यूनिवर्सिटी(पीयू) सीनेट चुनाव को लेकर अभी तक असमंजस बरकरार है। चुनाव होंगे या नहीं, इसके बारे कुछ भी स्थिति स्पष्ट नहीं है। चार साल बाद होने वाले पीयू सीनेट चुनाव पहले बीस सितंबर को होने थे पर कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इन चुनावों को दो महीने यानी बीस नवंबर तक स्थगित कर दिया गया था।

कुछ दिन पहले एमएचआरडी की गाइडलाइंस जारी हुई थी जिसमें सीनेट चुनाव के लिए कहा गया था कि जब तक स्थिति पूरी सामान्य नहीं होती, तब तक चुनाव की तिथि जारी नहीं की जा सकती। बता दें पिछले सप्ताह मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सीनेट चुनाव कराए जाने को लेकर उप राष्ट्रपति को पत्र लिखा है लेकिन अभी किसी तरह की कोई स्पष्टता नहीं है कि पीयू सीनेट चुनाव होंगे या फिर नहीं? सीनेट चुनाव के लिए खड़े विभिन्न कांस्टिट्यूएंसी से खड़े उम्मीदवार अपनी राय देते बता रहे हैं:-

स्थिति ठीक होने पर ही हो चुनाव: डा. मुकेश

पिछले चौबीस सालों से सीनेट चुनाव में विजेता रहने वाले और इस साल ग्रेजुएट कांस्टिट्यूएंसी के उम्मीदवार डा. मुकेश अरोड़ा ने कहा कि जब तक स्थिति ठीक नहीं हो जाती, तब तक चुनाव नहीं होने चाहिए। नई शिक्षा नीति के तहत यूनिवर्सिटीज में बोर्ड आफ गवर्नेंस होना चाहिए। इसी के चलते चुनाव नहीं होने चाहिए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री, शिक्षामंत्री पीयू सीनेट चुनाव कराए जाने की बात कर रहे हैं, उन्हें तो मेडिकल सुविधाएं एकदम से मिल जाती है पर सामान्य जनता पर इसका असर देखने को मिलता है।

चुनाव न होना तकनीकी तरीके से होगा गलत: डा. गुरमीत

स्टाफ आफ टेक्निकल एंड प्रोफेशनल कालेजिज के उम्मीदवार एवं मालवा सेंट्रल कालेज आफ एजूकेशन के एसिटेंट प्रोफेसर डा. गुरमीत ने कहा कि अगर सीनेट चुनाव नहीं हुए तो यह तकनीकी तौर पर गलत होगा। हम लोकतंत्र प्रतिनिधि का चुनाव कर सकते हैं। अगर अन्य राज्यों में चुनाव हो सकते हैं तो पीयू सीनेट चुनाव भी आयोजित किए जा सकते हैं।

समय के साथ बदलाव जरूरी: डा. नीतू

प्रिंसिपल कांस्टिट्यूएंसी की उम्मीदवार एवं गुरू नानक कालेज आफ एजूकेशन गोपालपुर की प्रिंसिपल डा. नीतू हांडा पीयू सीनेट चुनाव कराए जाने के पक्ष में है। उन्होंने कहा कि गवर्निंग बाडी बनेगी तो बेहतर होगा। वैसे भी समय के साथ हर चीज में बदलाव होना बेहद जरूरी है। अगर चुनाव होते हैं तो शिक्षा क्षेत्र में भी सुधार देखने को मिलेगा। अगर शिक्षा में सुधार हुआ तो ज्यादा बेहतरी देखने को मिलेगी।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.