लुधियाना में दिल दहलाने वाला हत्याकांड, पत्नी, बेटा, बहू व पोते की हत्या कर भागा प्रॉपर्टी डीलर

शहर के हंबड़ा राेड पर प्रापर्टी डीलर सहित चार लाेगाें की बेरहमी से हत्या।

औद्याेगिक नगरी के हंबड़ा रोड स्थित मयूर विहार इलाके में 70 वर्षीय व्यक्ति पत्नी अपने प्राॉपर्टी डीलर बेटे बहू व पोते की तेजधार हथियारों से निर्मम हत्या कर फरार हो गया। भागने की हड़बड़ी में उसकी कार एक दीवार से टकरा गई और उसमें आग लग गई।

Publish Date:Tue, 24 Nov 2020 11:25 AM (IST) Author: Vipin Kumar

लुधियाना, जेएनएन। हंबड़ा रोड स्थित मयूर विहार इलाके में 64 वर्षीय व्यक्ति पत्नी, अपने प्रापर्टी डीलर बेटे, बहू व पोते की तेजधार हथियारों से निर्मम हत्या कर फरार हो गया। भागने की हड़बड़ी में उसकी कार एक दीवार से टकरा गई और उसमें आग लग गई। आरोपित उसे छोड़ कर पैदल ही फरार हो गया। बाद में उसकी कोठी से ही एक सुसाइड नोट बरामद हुआ। जिसके उसने चारों की हत्या कबूल करते हुए खुद भी आत्महत्या करने का जिक्र किया। जिसके लिए उसने अपने समधि व उसके बेटे को जिम्मेदार ठहराया। मगर अब तक उसके आत्महत्या करने जैसी बात सामने नहीं आई है। पुलिस उसकी तलाश में छापामारी कर रही है।

मयूर विहार में एक ही परिवार चार लोगों की हत्या का पता चलते ही इलाके में दहशत का माहौल बन गया। पुलिस कमिश्नर राकेश अग्रवाल, अन्य पुलिस अधिकारियों फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट, डाग स्कवायड व फोरेंसिक टीम के साथ मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल शुरू कर दी। चारों मृतकों के शव उनकी कोठी के अलग अलग कमरों में लहुलहान हालत में पड़े मिले। चारों शवों को कब्जे में लेकर सिविल अस्पताल में रखवा दिया गया है। मृतकों की पहचान प्रापर्टी डीलर आशीष सुंदा (34), उसकी पत्नी गरिमा सुंदा (30), मां सुनीता सुंदा (60) तथा बेटे सुचेत उर्फ बबला (13) के रूप में हुई। उन सब की हत्या करने वाला राजीव सुंदा है। पुलिस ने उसके खिलाफ हत्या का केस दर्ज करके छानबीन शुरू कर दी है।

फरार होते वक्त एक्टिवा सवार को मारी टक्कर

मृतक गरिमा सुंदा के पिता हैबोवाल निवासी अशोक गुलाटी व भाई गौरव को इस हत्याकांड की मंगलवार सुबह ही सूचना मिल गई थी। वो दोनों 6.20 बजे उनकी कोठी के बाहर पहुंच गए। बेल बजाने पर राजीव सुंदा ने गेट खोला। दोनों काे बाहर देखते ही उसने कहा कि पहले वो कार को बाहर निकाल ले, उसके बाद उनके साथ बात करेगा। उसकी बात को सुन वो दोनों गेट से एक तरफ हो गए। मगर कार को स्टार्ट करते ही राजीव ने उसे बाहर सड़क की और भगा लिया। दोनों के आवाजें देने पर भी वो नहीं रुका। हंबड़ां राेड पर चढ़ते ही उसने एक एक्टिवा सवार को टक्कर मारी। जिसके कारण स्कूटर से गिर कर उस व्यक्ति का सिर फट गया। वहीं पर राजीव सुंदा की स्विफ्ट कार का अगला टायर भी पंक्चर हो गया। मगर वो कार को भगाता ही ले गया। करीब तीन किलोमीटर आगे कनाल रोड बाइपास के पास बेकाबू हुई उसकी कार दीवार से जा टकराई। जिससे उसमें आग लग गई। वो कार से उतर कर पैदल ही फरार हो गया।

मृतकों की गर्दन व  सिर पर तेजधार हथियारों के गहरे घाव

दूसरी और कोठी के बाहर खड़े अशोक गुलाटी व गौरव गुलाटी ने जैसे ही अंदर जाकर देखा। अंदर का दृश्य देख कर उनके होश उड़ गए। बेडरूम में बेड पर गरिमा और सुचेत का रक्तिरंजित शव पड़ा था। दूसरे बेडरूम में सुनीता सुंदा का शव पड़ा था। जबकि लाबी के पास आशीष सुंदा का शव पड़ा था। सभी की गर्दन व  सिर पर तेजधार हथियारों के गहरे घाव थे। उनकी टांगों पर भी घाव थे। पूरे घर में खून ही खून बिखरा पड़ा था। यह सब देखते ही दोनों उलटे पांव बाहर की और भागे और शोर मचा कर लोगों को जमा किया और पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने घर के अंदर से खून से सना एक चाकू व कुल्हाड़ी बरामद की। एसीपी वेस्ट गुरप्रीत सिंह ने कहा कि फिलहाल पुलिस की और से राजीव सुंदा के खिलाफ चार हत्याएं करने के आरोप में केस दर्ज किया गया है। मामले की जांच के दौरान यदि सू-साइड नोट में कोई सच्चाई नजर आएगी तो उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.