top menutop menutop menu

कम सफर कर रहे लोग, घाटे में पब्लिक ट्रांसपोर्ट

डीएल डॉन, ल़ुधियाना : अनलॉक वन में भी लोग कोरोना वायरस के खतरे को लेकर सतर्क हैं। यही कारण है कि लोग सफर करने से परहेज कर रहे हैं। वहीं, लोग बाहर निकल रहे हैं, जिन्हें जरूरी काम है। इस कारण बसों में कम यात्री होने पर पब्लिक ट्रांसपोर्ट को काफी नुकसान हो रहा है। छह दिन से एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर कम ही यात्री ही पहुंच रहे हैं। लोग प्लेन का सफर करने से घबरा रहे हैं। रेलवे व बसों में यात्रा के लिए बनाए नियम

ट्रेन के लिए रेलवे के पास यात्रियों का ब्योरा पूरा नहीं हो पाने से लोग सफर नहीं कर पा रहे हैं। वहीं, बसों में भी यात्री कम हैं। ट्रेन में सीट के बराबर में पैसेंजर को सफर करवाया जा रहा है, तो बस में सीट के मुताबिक एक लाइन में एक पैसेंजर बिठाया जा रहा है। एक तो कोरोना का भय होने के कारण लोग बसों में यात्रा से बच रहे हैं। वहीं, बसों में नियमों के अनुसार सीट के हिसाब से आधे यात्री लेकर जाना भी पंजाब रोडवेज को घाटे में ले जा रहा है। यही कारण है कि निजी बस संचालक बसों को नहीं चला रहे हैं।

बस और ट्रेन यात्रियों का सफर ------

दिनांक ----- बस ------- ट्रेन

1 जून 1134 307

2 जून 1229 360

3 जून 1240 1280

4 जून 1480 1310

5 जून 1397 1293

6 जून 1262 1244 लुधियाना से हफ्ते में चार फ्लाइटें जारी

दिल्ली जाने वालों की संख्या गिरी एयरपोर्ट डायरेक्टर शुभेंदू कृष्ण शरण के मुताबिक 25 मई से लुधियाना से सप्ताह में चार दिन फ्लाइट जारी है। किसी भी दिन फ्लाइट को रद नहीं करना पड़ा। लॉकडाउन के बाद कुछ दिन तो यात्रियों की संख्या पांच से 10 रही। अब स्थिति बेहतर होने लगी है। दिल्ली से लुधियाना आने वालों की संख्या अधिक है, जबकि लुधियाना से दिल्ली जाने वालों की संख्या मात्र 15 से 20 यात्री रोजाना है। 72 सीटर जहाज में 50 लोगों को यात्रा की इजाजत है। शनिवार को 47 यात्री दिल्ली से आए और 12 लुधियाना से दिल्ली के लिए रवाना हुए। इस समय दिल्ली से पंजाब आने वालों की संख्या अधिक है।

दिल्ली से आए और गए विमान यात्री

तिथि ----- आए --- गए

25 मई --- 11 --- 5

26 मई --- 10 ---- 4

28 मई --- 12 --- 10

30 मई ---- 26 --- 16

1 जून ---- 32 ---- 5

2 जून --- 30 --- 22

4 जून --- 35 ---- 18

6 जून --- 47 ---- 12

यात्रियों की मेडिकल जांच की जा रही

बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पर यात्रियों की मेडिकल जांच जरूरी है। मेडिकल टीम प्रत्येक यात्री का कोरोना से संबंधित लक्षणों की जांच कर रही है। रेल सफर के बारे में फिरोजपुर रेल मंडल के ट्रैफिक इंस्पेक्टर आरके शर्मा का कहना है कि अभी ट्रेनें कम चल रही हैं। ऐसे में जो यात्री सफर करना चाहते हैं, उनसे टिकट लेने के वक्त सफर का मकसद पूछा जा रहा है। बस स्टैंड के पदाधिकारी दलीप सिंह ने कहा कि यात्रा करने वाले यात्रियों की मेडिकल जांच व पूछताछ की जा रही है। होम क्वारंटाइन का मिल रहा है संदेश

बस, ट्रेन और प्लेन की सफर करने वालों को होम क्वरंटाइन का संदेश मिल रहा है। यात्री टिकट खरीदने जाते हैं, उसी समय से कोरोना वायरस से बचाव का सिलसिला शुरू हो जाता है। लोग सफर के लिए कहीं भी जाएं, रेलवे स्टेशन बस स्टैंड व एयरपोर्ट से ही यात्रियों की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। यहां पहुंचने और टिकट खरीदते वक्त आधार कार्ड, मोबाइल फोन आदि का ब्योरा देना जरूरी है। मुंह में मास्क, दस्ताने और दो गज की दूरी के नियमों का पालन अनिवार्य है। यात्री जिस स्टेशन पर पहुंचता है उसे वहां संदेश दिया जाता है कि आप अपने घर जाकर अपने को क्वारंटाइन करेंगे, ताकि आप और आपका पूरा परिवार स्वस्थ्य रहे।

------- ---------------

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.