Strike In Ludhiana: डीएवी कालेज जगराओं में PCCTU सदस्य हड़ताल पर बैठे, जानें क्या है मांगें

Strike In Ludhiana मंगलवार को एलआरएम डीएवी कालेज जगराओं में पीसीसीटीयू के सदस्य अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर बैठ गए। उन्हाेंने पंजाब सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। यूनियन का कहना है कि पंजाब सरकार द्वारा अध्यापकों की नियुक्ति का क्राइटेरिया अभी तक समझ नहीं आया है।

Vipin KumarTue, 28 Sep 2021 03:41 PM (IST)
जगराओं में पंजाब चंडीगढ़ कालेज टीचर यूनियन के सदस्य हड़ताल करते हुए। (जागरण)

जागरण संवाददाता, जगराओं (लुधियाना)। Strike In Ludhiana: पंजाब चंडीगढ़ कालेज टीचर यूनियन अपनी मांगों को लेकर अध्यापक दिवस से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर है। मंगलवार को एलआरएम डीएवी कालेज जगराओं में पीसीसीटीयू के सदस्य अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर बैठ गए। उन्हाेंने पंजाब सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। यूनियन के सदस्य प्रो. वरुण गोयल ने बताया कि सरकार ने अभी तक कालेज के अध्यापकों का 7वें पे-कमिशन लागू नहीं किया है। अब यूजीसी से सभी कालेजों से डी-लिंक कर पंजाब सरकार कालेजों को अपने अधीन करने जा रही है। इसके बाद पंजाब सरकार अपनी मर्जी से अध्यापकों की नियुक्ति व वेतन तय करेगी। जबकि अभी तक सभी कालेज यूजीसी अधीन आते है।

यह भी पढ़ें-Punjab Politics: कैप्टन अमरिंदर के खिलाफ कांग्रेसियाें के बदल गए तेवर, पढ़ें लुधियाना की और राेचक खबरें

 

कई कालेजाें के पद रिक्त

यूनियन का कहना है कि पंजाब सरकार द्वारा अध्यापकों की नियुक्ति का क्राइटेरिया अभी तक समझ नहीं आया है। इसके अलावा सरकार कालेजों को जारी करने वाली ग्रांट जोकि 95 प्रतिशत करनी होती है और केवल 75 प्रतिशत ग्रांट जारी कर रही है। इसके अलावा राज्य के अधिकतर कालेजों में अध्यापकों की संख्या नहीं के बराबर है, जिसकी वजह से सरकार कोई नई नियुक्तियां नहीं कर रही है। इन्हीं मांगों के रोषस्वरूप पंजाब चंडीगढ़ कालेज टीचर यूनियन की 5 सितंबर अध्यापक दिवस पर अनिश्चितकालीन रोजाना एक घंटे की हड़ताल जारी है।

यह भी पढ़ें-Punjab Politics: दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल 30 सितंबर काे आएंगे लुधियाना, कर सकते हैं बड़ा ऐलान

 

ये रहे माैजूद

इस मौके पर प्रो. वरुण गोयल, डा.परविंदर बाजवा, प्रो. अजय, प्रो. रमनदीप सिंह, प्रो. मीनाक्षी, प्रो मंनदीप, प्रो. मलकीत सिंह, प्रो. बिंदु ,प्रो. करण, प्रो. कुनाल, प्रो. रोहित, प्रो. परमिंदर मिट्ठा, प्रो माेंगा व प्रो. हरप्रीत सहित अन्य सदस्य मौजूद थे।

यह भी पढ़ें-Punjab Ministers Portfolios: कोटली के उद्योग मंत्री बनने से लुधियाना, खन्ना और मंडी गोबिंदगढ़ की इंडस्ट्री की उम्मीदें बढ़ीं

 

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.