गांधी नगर मार्केट में टूटी सड़कों व सीवरेज जाम से परेशानी, कूड़े की भी लिफ्टिंग नहीं

हौजरी परिधानों में डिजाइनों को लेकर विश्व विख्यात गांधी नगर मार्केट स्वच्छता को लेकर सिफर है। मार्केट के व्यापारी सड़क सीवरेज और सफाई व्यवस्था को लेकर परेशान हैं। व्यापारियों का कहना है कि सरकार को करोड़ों का टैक्स देने के बावजूद बाजार की हालत दयनीय है। यहां की व्यवस्था इतनी खराब है कि देश के कोने-कोने से आने वाले व्यापारी को व्यवस्था को लेकर स्थानीय दुकानदारों को कोसते है।

JagranSun, 01 Aug 2021 07:44 AM (IST)
गांधी नगर मार्केट में टूटी सड़कों व सीवरेज जाम से परेशानी, कूड़े की भी लिफ्टिंग नहीं

डीएल डॉन, कुलदीप काला, लुधियाना : हौजरी परिधानों में डिजाइनों को लेकर विश्व विख्यात गांधी नगर मार्केट स्वच्छता को लेकर सिफर है। मार्केट के व्यापारी सड़क सीवरेज और सफाई व्यवस्था को लेकर परेशान हैं। व्यापारियों का कहना है कि सरकार को करोड़ों का टैक्स देने के बावजूद बाजार की हालत दयनीय है। यहां की व्यवस्था इतनी खराब है कि देश के कोने-कोने से आने वाले व्यापारी को व्यवस्था को लेकर स्थानीय दुकानदारों को कोसते है। व्यापारियों ने लुधियाना नगर निगम से मांग की है कि मार्केट में सीवरेज प्रणाली सड़क की व्यवस्था और सफाई के लिए सख्त कदम उठाए ताकि आधुनिक वस्त्र बनाने-बेचने वाले इस मार्केट को लोग स्वच्छता के नजरिए से देख पाए।

मार्केट में सड़क-सीवरेज सिस्टम बहुत पुराना है। इससे व्यापारियों को परेशानी हो रही है। बाजार की सभी गलियों में सीवरेज की पाइपलाइन पतली है, जिससे पानी का बहाव रुकता है। सड़क टूटी हुई है। सफाई की व्यवस्था पुख्ता नहीं है। प्लाटों में कूड़े का अंबार लगा रहता है। इससे परेशानी बनी हुई है।

- पुष्प कमल नारंग, आलोक होजरी मार्केट की सड़कें जर्जर है। सीवरेज जाम होने से सड़क पर पानी जमा होता है और गंदा पानी देखने से दूरराज से आए ग्राहक बिफर जाते हैं। ग्राहकों का कहना होता है कि इस मार्केट से इतना बड़ा कारोबार होता है और सरकार मार्केट पर जरा भी ध्यान नहीं दे रही है। मार्केट की सड़क सीवरेज और पार्किंग व्यवस्था पुख्ता की जाए।

- चंद्रकिरण गंभीर, श्री राम ट्रेडर्स मार्केट में देश-विदेश से व्यापारी आते हैं। यहां गंदगी और टूटी सड़कें देखकर वे ग्लानि महसूस करते हैं। बाहर से आए व्यापारी मार्केट की कुव्यवस्था पर तरह-तरह की बातें सुना कर चले जाते हैं। व्यापारियों की मांग है कि मार्केट की व्यवस्था निगम ठीक करें ताकि आने वाले ग्राहक इस मार्केट को अच्छे नजरिए से देखें।

- रवि कुमार, समर शर्ट हौजरी परिधानों के लिए जगजाहिर गांधी नगर मार्केट अपनी दयनीय हालत पर आंसू बहा रही है। टूटी सड़कें, सीवरेज जाम, खराब स्ट्रीट लाइट इसकी पहचान बन चुकी है। इतना ही नहीं, पार्किंग की व्यवस्था से लोग परेशान हैं। यहां के व्यापारी इन सब खामियों को दूर करने के लिए नगर निगम से गुहार लगाते हैं, लेकिन सुनवाई नहीं होती है।

- कपिल अरोड़ा, कपिल गारमेंट्स मार्केट में सड़कें टूटी होने, सीवरेज जाम रहने के कारण गलियों में कचरा फैलने से यहां बदबू का आलम रहता है। जहां-तहां गाड़ियां खड़ी होने से व्यापारी परेशान है। व्यापारियों ने नगर निगम के उच्चाधिकारियों से मांग की है कि वह मार्केट की सुध लें ताकि यहां की व्यवस्था में सुधार हो सके।

- हरसिमरत सिंह, नूनू कलेक्शन देश के कोने-कोने से व्यापारी गांधी नगर मार्केट में परिधानों को खरीदने के लिए पहुंचते हैं, लेकिन यहां की को व्यवस्था को लेकर व्यापारी दुकानदारों से चर्चा करने लगते हैं कि क्या है यहां की व्यवस्था। निगम यहां जल्द सुधार करे ताकि बाहर से आने वाले ग्राहक इस मार्केट को स्वच्छता के नजरिए से देख सके।

- तरलोचन सिंह, सिमरन कलेक्शन मार्केट में सड़कें टूटी हुई हैं, सीवरेज जाम रहता है और यहां का कूड़ा मार्केट के ही एक बड़े खाली प्लाट में डाल दिया जाता है, जिस की बदबू से मार्केट के लोग परेशान हैं। इसकी शिकायत नगर निगम से करने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हुई और खाली प्लाट में कचरा फेंकने का काम निरंतर जारी है।

- डा. तेजेंद्र कुमार, हेल्थ केयर क्लीनिक मार्केट की सफाई करने के बाद सफाई कर्मी कूड़े की लिफ्टिंग नहीं करवाते। इसे कई बार जला देते हैं, जिससे मार्केट में धुआं ही धुआं हो जाता है। प्रदूषण होने से दुकानदार मुश्किल में पड़ जाते हैं। कूड़े की लिफ्टिंग के लिए ठोस कदम उठाए जाएं।

- सतीश कुमार, दुकानदार मार्केट के व्यापार का जिस तरह से विस्तार हुआ, यहां वैसी व्यवस्था नहीं हुई। मार्केट में सड़क-सीवरेज-सफाई की व्यवस्था दयनीय है। दुकानदार रोजाना सड़क सीवरेज और सफाई के लिए शिकायत करते रहते हैं लेकिन नगर निगम सुनवाई नहीं करती है। निगम इस मार्केट में सभी व्यवस्था पुख्ता करे।

- रमेश कुमार, कट पीस सेंटर गांधी नगर मार्केट को स्वच्छ बनाने के लिए नगर निगम को मार्केट का सर्वे करवा कर एक प्लान तैयार करना चाहिए कि आखिर यहां पर किन-किन मूलभूत सुविधाओं की जरूरत है। यहां के दुकानदार मूलभूत सुविधा तो दूर गंदगी से भी पीछा नहीं छोड़ा पा रहे हैं। खाली प्लाट में कूड़े कचरे की सड़न और बदबू से दुकानदार के साथ कुछ रिहायशी इलाकों के लोग भी परेशान हैं। लोगों ने नगर निगम से मांग किया कि यहां की व्यवस्था के लिए सुधार में ठोस कदम उठाए।

- डा. बीडी ओबराय, रूप क्लीनिक

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.