लुधियाना में बेटी के लिए गिफ्ट पैक करवा रहे दंपत्ति से मारपीट, पांच अज्ञात समेत नौ लोगों पर मामला दर्ज

लुधियाना में डिपार्टमेंट स्टोर से गिफ्ट पैक करवा रहे एक व्यक्ति के ऊपर कुछ लोगों ने पुरानी रंजिश के तहत हमला कर दिया। पुलिस ने मारपीट करने वाले पांच अज्ञात समेत कुल 9 लोगों पर केस दर्ज किया है।

Vinay KumarPublish:Tue, 16 Nov 2021 04:05 PM (IST) Updated:Tue, 16 Nov 2021 04:05 PM (IST)
लुधियाना में बेटी के लिए गिफ्ट पैक करवा रहे दंपत्ति से मारपीट, पांच अज्ञात समेत नौ लोगों पर मामला दर्ज
लुधियाना में बेटी के लिए गिफ्ट पैक करवा रहे दंपत्ति से मारपीट, पांच अज्ञात समेत नौ लोगों पर मामला दर्ज

जागरण संवाददाता, लुधियाना। लुधियाना में डिपार्टमेंट स्टोर से बेटी के लिए गिफ्ट पैक करवा रहे एक व्यक्ति के ऊपर कुछ लोगों ने पुरानी रंजिश के तहत हमला कर दिया। इस हमले में छुड़वाने गई उसकी पत्नी के साथ भी हमलावरों ने मारपीट की। जिसकी शिकायत पर थाना मेहरबान की पुलिस ने 9 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। आरोपितों के नाम जस्सा सिंह, रणबीर सिंह, निशू, मनजीत कौर व पांच अज्ञात लोग हैं। इंदिरा कॉलोनी निवासी सुखजिंदर सिंह ने बताया कि 3 नवंबर को वह अपनी बेटी के लिए राहों रोड स्थित डिपार्टमेंट स्टोर से गिफ्ट पैक करवा रहा था।

इस दौरान आरोपितों ने गाली गलौज कर उससे मारपीट शुरू कर दी। जब उसकी पत्नी ने बीच-बचाव किया तो हमलावरों ने उसके साथ भी मारपीट की। आरोपित उसकी सोने की रिंग भी ले गए। उसने पुलिस को बताया कि उसका उसके भाई के साथ प्रॉपर्टी झगड़ा था। उसके भाई को आरोपित जस्सा सिंह भड़काता था। लेकिन कुछ समय पहले उसका उसके भाई के साथ फैसला हो गया। जिसके चलते जस्सा सिंह उससे रंजिश रखने लगा था और उस पर हमला किया। पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

पाबंदीशुदा मंगूर मछली रखने के आरोप में मामला दर्ज

लुधियाना के गांव हिमायूपूरा में भारत सरकार द्वारा पाबंदीशुदा थाई मंगूर मछली रखने वाले एक व्यक्ति के खिलाफ थाना सदर की पुलिस ने मामला दर्ज किया है। आरोपित का नाम रणजीत गढ़ बसंत एवेन्यू निवासी राकेश कुमार है। पुलिस ने उसकी तलाश शुरू कर दी है। यह मामला पुलिस ने दलबीर सिंह सहायक डायरेक्टर मछली पालन के बयानों पर दर्ज किया है। शिकायतकर्ता के अनुसार उन्हें जानकारी मिली थी कि मछली ठेकेदार राकेश कुमार ने भारत सरकार द्वारा पाबंदीशुदा थाई मंगूर मछली गांव हिमायूपूरा में रखी हुई है। जिसने ऐसा करके सरकारी आदेशों की उल्लंघन की है। बात सही पाई गई तो आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया। पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।