नेकी का अस्पताल में जरूरतमंद लोगों का होगा इलाज

आर्थिक तंगी के कारण जरूरतमंद लोग बेहतर व अच्छे इलाज से महरूम नहीं रहेंगे। एक नूर सेवा केंद्र की ओर से संगत के सहयोग से गुरुद्वारा आलमगीर साहिब के पास बनाए नेकी का अस्पताल में ऐसे लोगों को सस्ता और बेहतर इलाज मिलेगा। जो जरूरतमंद यह खर्च उठाने में भी सक्षम नहीं होंगे उनका इलाज फ्री किया जाएगा। अस्पताल 15 अगस्त से शुरू हो जाएगा।

JagranThu, 05 Aug 2021 04:46 AM (IST)
'नेकी का अस्पताल' में जरूरतमंद लोगों का होगा इलाज

आश मेहता, लुधियाना : आर्थिक तंगी के कारण जरूरतमंद लोग बेहतर व अच्छे इलाज से महरूम नहीं रहेंगे। एक नूर सेवा केंद्र की ओर से संगत के सहयोग से गुरुद्वारा आलमगीर साहिब के पास बनाए 'नेकी का अस्पताल' में ऐसे लोगों को सस्ता और बेहतर इलाज मिलेगा। जो जरूरतमंद यह खर्च उठाने में भी सक्षम नहीं होंगे उनका इलाज फ्री किया जाएगा। अस्पताल 15 अगस्त से शुरू हो जाएगा। इस अस्पताल में 50 बेड की व्यवस्था की गई है। पहले चरण में अस्पताल में मेडिसन, गायनी, डेंटल व पीडियाट्रिक ओपीडी के साथ डायलिसिस, माडयूलर ओटी व आइसीयू की सुविधाएं होंगी। खास बात यह है कि अस्पताल का संचालन संगत करेगी।

अस्पताल को बनाने का काम 13 जनवरी 2018 को शुरू किया गया था। तीन साल में अस्पताल बनकर तैयार हो चुका है। गौरतलब है कि एक नूर सेवा केंद्र ने शहर में नेकी की दुकान, नेकी का दवाखाना खोले हैं जहां सालों से जरूरतमंद लोगों की मदद की जा रही है।

---

सीएमसी अस्पताल के डाक्टर देंगे सेवाएं

एक नूर सेवा केंद्र संस्था के सचिव बरजिदर सिंह का कहना है कि सीएमसी अस्पताल के डाक्टर यहां ओपीडी और इमरजेंसी में अपनी सेवाएं देंगे। सीएमसी की फैकल्टी सोमवार से शनिवार तक मरीजों को देखेगी। रविवार को अस्पताल में मेडिकल कैंप लगाया जाएगा, जिसमें सीएमसी के सभी स्पेशलिस्ट आएंगे और मरीजों की फ्री जांच करेंगे। संस्था की तरफ से डाक्टरों को वेतन दिया जाएगा। सर्जरी के लिए चिकित्सक आन काल रखे जाएंगे।

---

सीजीएसएस रेट पर होगा इलाज :

नेकी का अस्पताल में सेंट्रल गवर्नमेंट हेल्थ स्कीम (सीजीएचएस) रेट पर ट्रीटमेंट होगा। इसके तहत निजी अस्पतालों से करीब चार गुना कम रेट होते हैं। अगर निजी अस्पताल में लैप्रोस्कोपिक सर्जरी पर 35 से 50 हजार रुपये में होती है तो यहां मात्र 10 से 12 हजार में हो जाएगी। ब्लड टेस्ट भी बेहद कम रेट पर होंगे। डायलिसिस 500 रुपये में किया जाएगा। दवाइयां भी सस्ते दाम में मिलेंगी। ओपीडी फीस भी दस से बीस रुपये के बीच होगी।

---

संगत की मदद से संगत के लिए बनाया गया है अस्पताल :

बरजिदर सिंह कहते हैं कि 'नेकी का अस्पताल' संगत का है। संगत ने इसे बनाया है। किसी ने 600 गज जगह जमीन दान में दी और किसी ने तीन मंजिला अस्पताल को अपने पैसों से बनवाया। ढाई साल में इसके निर्माण पर करीब 70 लाख रुपये खर्च हो चुके हैं। अब इसमें मेडिकल उपकरण स्थापित किए जा रहे हैं। डायलिसिस की दस मशीनें लगाई जा रही हैं। एक मशीन छह लाख रूपये की होती है। पांच वेंटीलेटर, एक्सरे मशीनें लगाई जाएंगी। इसके अलावा ब्लड टेस्ट के लिए लैब भी होगी। संगत के सहयोग से डायलिसिस, वेंटिलेटर और दूसरी मशीनें खरीदी जानी हैं। संगत की मदद से धीरे-धीरे सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.