Google Map पर पटियाला के YPS Chowk का नाम बदलकर रखा बेरोजगारां लई डांगां वाला चौक, साइबर सेल ने कराया ठीक

पटियाला में पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के निवास स्थान मोतीमहल से कुछ ही दूरी पर स्थित वाईपीएस चौक का गूगल मैप पर नाम बदलकर किसी शरारती तत्व ने बेरोजगारां लई डांगां वाला चौक रख दिया। मामला साइबर सेल के संज्ञान में आया तो इसे ठीक करवाया गया।

Kamlesh BhattSat, 31 Jul 2021 12:27 PM (IST)
वाईपीएस चौक की लोकेशन । सांकेतिक फोटो

जागरण संवाददाता, पटियाला। सीएम आवास के नजदीक स्थित पटियाला के प्रमुख वाईपीएस चौक को अगर अब आप गूगल मैप्स में सर्च करेंगे तो आपको नहीं मिलेगा, क्योंकि किसी अज्ञात व्यक्ति ने गूगल मैप्स में इस चौक नाम बदलकर 'बेरोजगारां लई डांगां वाला चौक' (बेरोजगारों के लिए लाठियों वाला चौक) रख दिया। शहर में इसकी खूब चर्चा रही, जिसके बाद साइबर सेल ने मामले के बारे में पता चलते ही चौक का नाम सही करवा दिया, लेकिन नाम बदलने वाले आरोपित का फिलहाल पता नहीं चल पाया है। साइबर सेल इसका पता लगानेे में जुटी है। 

यह चौक पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के निजी आवास मोतीमहल से महज 300 मीटर की दूरी पर है।  हर सरकारी और गैर सरकारी संगठन की तरफ से अपनी मांगों को लेकर इस चौक पर प्रदर्शन किया जाता है। इसके कारण एक दर्जन से ज्यादा बार इस चौक में रोजगार की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे ईटीटी-टीईटी पास बेरोजगार अध्यापक यूनियन, बेरोजगार साझा मोर्चा, ईटीटी 2364 बेरोजगारों अध्यापक यूनियन के सदस्याें पर लाठीचार्ज हो चुका है। इसके अलावा इस चौक से सीएम आवास की तरफ जाने वाले रास्ते को भी पुलिस की तरफ से बैरिकेडिंग करके पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। आशंका जताई जा रही है कि किसी बेरोजगार युवक ने इसका नाम बदला होगा। 

रोजगार देने में नाकाम साबित हो रही सरकार: यूनियन सदस्य

इस संबंध में बेरोजगार साझा मोर्चा के प्रांतीय प्रधान सुखविंदर सिंह और ईटीटी टीईटी पास अध्यापक यूनियन के प्रांतीय प्रधान दीपक कंबोज का कहना है कि सरकार बेरोजगारों को रोजगार देने में पूरी तरह से नाकाम साबित हो रही है। अपनी मांगें पूरी करने के लिए आंदोलन करने पर प्रदर्शनकारियों पर आए दिन लाठीचार्ज होता है। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति सरकार विरुद्ध विभिन्न तरीकों से अपना रोष व्यक्त कर रहा है और इस चौक का नाम भी रोजगार की मांग कर रहे लाठीचार्ज के शिकार किसी बेरोजगार ने ही बदला होगा। उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने अपना घर-घर नौकरी वाला वादा पूरा नहीं किया तो चुनाव के समय बेरोजगार कांग्रेस पार्टी के नेताओं को गांवों में वोट तक नहीं मांगने देंगे।

आरोपित को ट्रेस करने के प्रयास जारी : साइबर सेल इंचार्ज

साइबर सेल इंचार्ज प्रितपाल सिंह का कहना है कि फिलहाल चौक का नाम ठीक करवा दिया गया है, लेकिन शरारत करने वाले आरोपित की फिलहाल पहचान नहीं हो सकी। पुलिस द्वारा आरोपित की पहचान संबंधी प्रयास जारी हैं। जल्द ही आरोपित को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.